Connect with us

Panipat

क्राइम शो देख रची पति की हत्‍या की खौफनाक साजिश, वारदात कर शव के पास प्रेमी भतीजे के साथ सोयी पत्‍नी

Published

on

Advertisement

क्राइम शो देख रची पति की हत्‍या की खौफनाक साजिश, वारदात कर शव के पास प्रेमी भतीजे के साथ सोयी पत्‍नी

पानीपत में पति की हत्‍या की खौफनाक साजिश क्राइम शो देखकर बनाई। अपने प्रेमी भतीजे के साथ मिलकर उसने इस वारदात को अंजाम दिया। हैरानी की बात ये सामने आई कि हत्‍या के बाद शव के पास ही दोनों सोये भी। मामले का पर्दाफाश होने के बाद आरोपित पत्‍नी को जेल और प्रेमी सचिन को रिमांड पर लिया गया।

पुलिस की गिरफ्त आरोपित पत्‍नी और उसका प्रेमी।

Advertisement

धूप सिंह नगर के अनिल की हत्या की आरोपित पत्नी संगीता और प्रेमी भतीजे सचिन ने पुलिस पूछताछ में गुनाह कुबूल कर लिया है। संगीता ने बताया कि उसने प्रेमी भतीजे सचिन के साथ मिलकर दो दिन पहले ही पति की हत्या की साजिश रची। सोमवार शाम को सचिन बाजार से बीयर की बोतल और नशे की गोलियां लेकर आया और संगीता को देकर घर चला गया। रात नौ बजे संगीता ने खाना खिलाने के बाद सास इशावती-सुसर ब्रह्मपाल, बेटे साहिब और समित को चाय में नशे की गोलियां मिलाकर पिला दी। इसके बाद पति अनिल ड्यूटी से आया तो बुखार था।

संगीता ने बीयर गिलास में डालकर नशे की गोलियां मिला दी और दवा बताकर पिला दी। सारे स्वजन बेसुध हो गए तो उसने इंस्टाग्राम पर  मैसेज कर सचिन को घर बुला लिया। सचिन ने चुन्नी से गला घोंटा और संगीता ने मुंह पर तकिया लगाकर सांस घोंट दिया। हत्या के बाद दोनों साथ में सोये भी। अलसुबह सचिन घर लौट गया। दोनों आरोपितों को थाना चांदनी बाग पुलिस ने अदालत में पेश किया, जहां से संगीता को जेल भेज दिया। जबकि सचिन को दिन दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया।

Advertisement

 

पशुबाड़े के गेट से घुस, ग्लब्ज पहनकर वारदात को अंजाम दिया

Advertisement

डीएसपी मुख्यालय सतीश कुमार वत्स ने बताया कि टीवी का क्राइम शो देखकर दोनों ने हत्या की वारदात को अंजाम देने से लेकर बचाव के तरीके अपनाए। लेकिन छोटी सी चूक से पकड़े गए। आठ महीने से संगीता का सचिन से प्रेम प्रसंग था। अनिल ने दोनों को आपत्तिजनक हालात में देख लिया था। उसने संगीता की पिटाई कर दी और सचिन  को भी धमकाया था कि उसके घर न आया करे। अवैध प्रेम प्रसंग में रोड बनने पर अनिल की हत्या कर दी।

घर में घुसने के लिए दो ही रास्ते थे। एक मेन गेट और दूसरा पशुबाड़े का गेट। दोनों ही गेट से बाहरी व्यक्ति के अंदर आने के संकेत नहीं मिली। इसी से शक परिवार वालों पर गया। संगीता से पूछताछ की सारी सच्चाई सामने आ गई। संगीता ने बताया कि उसने पशुबाड़े का गेट खोला। उसी से सचिन घर के अंदर आया। सचिन ने ग्लब्ज पहनकर अनिल को गला घोंट दिया और उसने मुंह दबा दिया। अनिल के शव पर रजाई भी डाल दी। ताकि सुबह सास व ससुर को लगे की वे सो रहा है।

 

गुमराह करने के लिए अनिल ने मीडिया से बात की, संगीता ने सिम तोड़ दिया

पुलिस को गुमराह करने के लिए अनिल पुलिस से बातचीत करता रहा। मीडिया कर्मियों से भी बात की। स्वजनों के साथ मिलकर शौक भी जताया। संगीता ने सिम तोड़ दिया। मोबाइल फोन व टूटा सिम भूसे में डाल दिया। डीएसपी वत्स ने बताया कि संगीता की निशानदेही पर उसका मोबाइल फोन व सिम बरामद कर लिया है। रिमांड के दौरान मजदूरी करने वाले सचिन से मोबाइल फोन, ग्लब्ज, वह बीयर व नींद की गोली कहां से लेकर आया था। इसका पता लगाया जाएगा।

 

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *