Connect with us

भोजन

यहां 50 मिनट में 3 परांठे खा लिए, तो जिंदगी भर मिलेगा मुफ्त खाना

Published

on

यहां 50 मिनट में 3 परांठे खा लिए तो जिंदगी भर मिलेगा मुफ्त खाना
Advertisement

50 मिनट में महज तीन परांठे खाने हो और जीवनभर फ्री खाना मिले तो पूरी जिंदगी फ्री खाना मिले और एक लाख तक फ्री इंश्‍योरेंस मिले तो क्‍या हो। रोहतक में ऐसा ही एक ऑफर सभी के लिए तपस्‍या परांठा रेस्‍टारेंट पर सालों से दिया जा रहा है। आप सोच रहे होंगे 50 मिनट में तीन परांठे खाना कौनसी बड़ी बात है।

ढाई साल की बेटी तपस्या ने सबसे बड़ा परांठा बनाने का आइडिया दिया और इसमें महारथ मिल गई

Advertisement

तो बता दें कि ये कोई आम परांठे नहीं, बल्कि एक परांठा 24 इंच का होता है, यानि परांठे का डायमीटर दो फीट का होता है। वहीं एक परांठे का वजन करीब सवा किलो। स्‍वाद तो ऐसा कि पूछिए ही मत। यहां के परांठे देशभर में प्रचलित हैं तो करीब 50 तरह के परांठे यहां बनते हैं।

Tapasya Paratha Junction

Advertisement

मगर करीब 15 साल पहले शुरू हुआ ये अनोखा काम किस तरह से आगे बढ़़ा इसका भी एक अनोखा किस्‍सा है। रेस्‍टोरेंट मालिक रोहतक के आंबेडकर कालोनी निवासी 38 वर्षीय मोनू मुकेश बताते हैं कि उनकी ढाई साल की बेटी ने बड़ा परांठा बनाने का आइडिया दिया। अब यही आइडिया उनकी पहचान बन चुका है। दरअसल, मोनू सबसे बड़ा परांठा बनाते हैं। फिलहाल करीब 30 किग्रा वजन वाले तवे पर सवा किग्रा से अधिक वजन वाला परांठा तैयार किया जाता है।

delhi,food,Rohtak,restaurants,Aloo Gobhi Paratha,paratha recepie,paratha,

Advertisement

मोनू ने घटना का जिक्र करते हुए बताया कि साल 2006 में एक दिन उनकी पत्नी की तबियत खराब थी। मोनू किराए की जमीन पर रेस्टोरेंट संचालित करते थे। इसलिए उनकी पत्नी गीता ने फोन करके कहा कि रात में घर आते समय परांठे ले आना। जब परांठे खाने के लिए पत्नी गीता और मोनू अपनी ढाई वर्षीय बेटी तपस्या के साथ बैठे ही थे।

Tapasya Paratha Junction

उसी दौरान बेटी ने शरारत वाले अंदाज में कह दिया कि पापा यह परांठे तो बेहद छोटे हैं, इससे तो हम सभी का पेट नहीं भरेगा। इसके साथ ही दोनों हाथ फैलाते हुए कहा कि इतने बड़े परांठे बनाओ। मोनू को अपनी बेटी तपस्या की बात में दम लगा। इसी आइडिया पर उन्होंने काम शुरू कर दिया। फिर उन्होंने सबसे बड़ा परांठा बनाने में सफलता भी पाई।

delhi,food,Rohtak,restaurants,Aloo Gobhi Paratha,paratha recepie,paratha,

बाजार से खरीदकर लाए 30 किग्रा वजन वाला तवा

12वीं पास मोनू का शुरूआत से ही मन था कि खुद का कारोबार किया जाए। इसलिए रेस्टोरेंट संचालित करने की योजना तय की। इन्होंने बताया कि बड़ा परांठा बनाने के आइडिया पर शुरूआत में काम करने में मुश्किल हुई। हालांकि 20-25 दिन के कड़े अभ्यास के बाद बड़ा परांठा बनाने में सफलता मिल गई। इन्होंने बताया कि सबसे बड़ा परांठा बनाने के लिए तवे की तलाश शुरू की। बाजार में पहुंचे तो एक रेहड़ी वाला बड़े तवे पर टिक्की बना रहा था। वहीं से सफलता की उम्मीद दिखी। फिर बाजार पहुंचकर 30 किग्रा वजनी तवा खरीदकर लाए।

delhi,food,Rohtak,restaurants,Aloo Gobhi Paratha,paratha recepie,paratha,

सामान्य 10 परांठे हो सकते हैं तैयार

मोनू का मानना है कि तवे पर इतने बड़े परांठे को डालने सबसे बड़ी चुनौती था। शुरूआत में बड़ी दिक्कतें आईं। इन्होंने बताया कि परांठे का आकार दो फीट तक होता है। जबकि सवा किग्रा वजन वाला परांठा होता है। यहां तैयार होने वाले परांठे से सामान्य 10 परांठे तैयार हो सकते हैं। संबंधित परांठे को रेस्टोरेंट में बैठकर खाने वाले के लिए एक लाख रुपये का इनाम भी घोषित है। पिछले कई साल बाद भी अकेला कोई भी व्यक्ति एक परांठा नहीं खा सका है।

Tapasya Paratha Junction

चंढीगढ़ में फ्रेंचाइजी हुई बंद

मोनू कहते हैं कि करीब तीन साल पहले चंडीगढ़ में एक व्यक्ति ने फ्रेंचाइजी खोली। बीते साल कोविड काल में नुकसान के चलते वहां के व्यक्ति ने फ्रेंचाइजी बंद कर दी। अब फिर से आनलाइन के साथ ही फ्रेंचाइजी देने की तैयारी है। दिल्ली में कुछ स्थानों के अलावा हरियाणा के कुछ जिलों में भी बातचीत चल रही है।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *