Connect with us

City

काम की खबर, बुखार है तो सिविल अस्पताल के फ्लू कार्नर पहुंचें, मिल रही ये सुविधा

Published

on

Advertisement

काम की खबर, बुखार है तो सिविल अस्पताल के फ्लू कार्नर पहुंचें, मिल रही ये सुविधा

कोरोना महामारी के चलते सिविल अस्पताल के रेडियोलाजी ब्लाक में खोला गया फ्लू कार्नर, बुखार के सीजन में अधिक कारगर साबित हुआ है। खासकर, मेडिसिन ओपीडी की भीड़ को भी कम करने का काम किया है। रोजाना 40-50 मरीज यहां जांच कराने के लिए पहुंच रहे हैं।

कोरोना जैसे लक्षण होने पर मरीज को स्वाब सैंपल कराने के लिए भेजा जा रहा है। ऐसे लोगों की संख्या भी रोजाना 10 से अधिक रहती है। दरअसल, डेंगू बुखार ने इस समय कहर बरपाया हुआ है। वायरल, टाइफाइड के भी रोजाना 130-150 मरीज अस्पताल में इलाज के लिए पहुंच रहे हैं। डेंगू वार्ड फुल है, अन्य वार्डों में भी मरीजों को रखा गया है। महानिदेशक स्वास्थ्य सेवाएं, हरियाणा के आदेश पर अस्पताल में खोला गया फ्लू कार्नर ने मेडिसिन ओपीडी की भीड़ को कम किया है।

Advertisement

पानीपत सिविल अस्पताल में प्रत्येक दिन परामर्श को पहुंच रहे हैं 40 से अधिक मरीज।

कार्नर में एक मेडिकल आफिसर (एमओ) और दो हेल्थ वर्कर्स की ड्यूटी लगाई गई है। नतीजा, बुखार-खांसी-जुकाम के मरीजों को परामर्श और-दवा यहां से भी मिलने लगी है। डिप्टी एमएस डा. अमित पोरिया ने जागरण को बताया कि फ्लू कार्नर में हर मरीज का रक्तचाप, आक्सीजन लेवल और तापमान चेक किया जाता है। वायरल, डेंगू, टाइफाइड के लक्षण होने पर मरीज को रक्त जांच की सलाह दी जाती है। कोरोना जैसे लक्षण दिखने पर स्वाब सैंपल की जांच की जाती है।

Advertisement

उमंग क्लीनिक भी भेजते हैं

डा. पोरिया के मुताबिक फ्लू कार्नर में पोस्ट कोविड बीमारियों से संबंधित मरीज भी पहुंचते हैं तो उसे तुरंत ओपीडी ब्लाक की प्रथम मंजिल स्थित उमंग क्लीनिक (कमरा नंबर-40) में भेजा जाएगा। वहां मरीज को परामर्श मिलता है।

Advertisement

यह भी दी जाती है सलाह

-सर्दी से बचाव के लिए गर्म कपड़े पहनें।

-दो-पहिया वाहन चलाते समय हेलमेट और विंडचिटर पहनें।

-कोल्डड्रिंक और आइसक्रीम सेवन से परहेज करें।

-धूम्रपान और शराब का सेवन त्याग दें।

-बुखार होने पर अनुभवी चिकित्सक से परामर्श लें।

-दमा-टीबी-हार्ट के रोगी अपना विशेष ध्यान रखें।

Advertisement