Connect with us

City

पानीपत में लोगों की सांसों पर जहरीली हवा पड़ रही भारी, एयर क्वालिटी इंडेक्स 313 पहुंचा

Published

on

Advertisement

पानीपत में लोगों की सांसों पर जहरीली हवा पड़ रही भारी, एयर क्वालिटी इंडेक्स 313 पहुंचा

पानीपत में वातावरण ने सुबह-सुबह सफेद चादर ओढ़ ली। यह ओस या कोहरा नहीं, बल्कि स्माग था। प्रदूषण के कारण ऐसी स्थिति रही। शाम को भी ऐसे ही स्माग छाया। वायु गुणवत्ता का स्तर 313 रात आठ बजे दर्ज किया गया। यह बेहद खतरनाक स्थिति में गिना जाता है। स्माग के चलते दृश्यता कम रही। वाहन चालकों को हेड लाइट जलाकर गाड़ी चलानी पड़ी। सांस के रोगियों की परेशानी स्माग के कारण बढ़ गई।

Pollution News: पानीपत में लोगों की सांसों पर जहरीली हवा पड़ रही भारी, एयर क्वालिटी इंडेक्स 313 पहुंचा

Advertisement

मौसम विभाग के अनुसार उत्तर पश्चिमी हवा चलने से रात्रि के तापमान में हल्की गिरावट रही। न्यूनतम तापमान 13 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इस समय मौसम की जो परिस्थितियां बनी हुई है, उससे संभव है कि तापमान में ओर गिरावट आए। फिलहाल सुबह व शाम को सर्दी महसूस हो रही है, दिन के मौसम में अब भी गर्माहट है। अब तापमान नीचे जाने की संभावना है। 24 घंटे सर्दी का एहसास होगा। लोगों ने गर्म कपड़े निकाल लिए हैं। सुबह व शाम के समय गर्म कपड़ों का इस्तेमाल शुरू हो गया है। बदलता मौसम कोई बीमारी ना दे सके, इसलिए चिकित्सक भी लोगों को सतर्क रहने की सलाह दे रहे हैं। अधिकतम तापमान का स्तर 29 डिग्री सेल्सियस चल रहा है।

एयर क्वालिटी इंडेक्स में सुधार नहीं

Advertisement

बुधवार को वायु गुणवत्ता का स्तर बेहद खराब स्थित 313 रहा। सामान्य स्थिति 50 अंक तक गिनी जाती है। पेड़ पौधों पर रेत जमा हुआ है। धूल के कण वातावरण में होने से सांस रोगियों की तकलीफ बढ़ गई। अस्पतालों में गले के रोगी, खांसी जुकाम से पीड़ित मरीज अधिक पहुंच रहेे हैं। \B\B

एनएफएल, रिफाइनरी ने किया पानी की छिड़काव शुरू, निगम सुस्त

Advertisement

स्माग, बढ़ते वायु प्रदूषण को देखते हुए एनएफएल और रिफानरी ने पेड पौधों सड़कों पर पानी की छिड़काव शुरु किया। जबकि प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के बार-बार निर्देश देने के बावजूद नगर निगम ने पानी की छिड़काव शुरु नहीं किया है। एनजीटी के आदेशों के अनुसार एनसीआर में ग्रेप लगा हुआ है। 200 अंक से ऊपर वायु प्रदूषण स्तर जाने पर पानी की छिड़काव किया जाना है। इस संदर्भ में प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आरओ कमलजीत ने बताया कि नगर निगम के दोबारा नोटिस भेजा गया है।

यमुना के लिए सैंपल

दिल्ली मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल द्वारा हरियाणा से अमोनिया युक्त पानी की शिकायत के बाद प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने यमुना के विभिन्न प्वाइंट से सेंपल लिए। यमुना में पानी नीला है। सोनीपत में यमुना के पानी के सैंपल लिए गए। सोनीपत में पानी की साफ मिला। प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी कमलजीत ने बताया कि दिल्ली सरकार गलत आरोप लगा रही है। यहां से पानी साफ जा रहा है। उच्च अधिकारियों को अवगत करवा दिया गया है।

Advertisement