Connect with us

City

सिविल अस्पताल में संवेदनहीनता और घोर लापरवाही

Published

on

Advertisement

लेबर वार्ड में महिला ने दिया बच्चे को जन्म, कूड़ेदान में गिरा, खानपुर ले जाते वक्त माैत, आराेप- स्टाफ नर्स देखकर हंसती रही

सिविल अस्पताल में स्टाफ नर्साें की लापरवाही का मामला सामने आया है। इससे एक नवजात की जान चली गई। अग्रवाल मंडी निवासी गर्भवती ज्योति काे गुरुवार सुबह सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

आराेप है कि लेबर वार्ड में स्टाफ नर्स वार्ड में ही दूसरी तरफ बैठी रही, डिलीवरी कराने में मदद नहीं की। महिला ने टेबल पर बैठे-बैठे बच्चे को जन्म दे दिया। बच्चा नीचे रखे कूड़ेदान में जा गिरा, इससे बच्चे को सिर में चोट आई और नर्सों ने उसे एसएनसीयू वार्ड में दाखिल कराया। शाम को खानपुर मेडिकल कॉलेज ले जाते समय रास्ते में ही बच्चे की माैत हाे गई।

Advertisement

साढ़े 6 महीने की गर्भवती थी: ज्योति ने बताया कि उसके पति ई-रिक्शा चलाते हैं। वो साढ़े 6 महीने की गर्भवती थी। गुरुवार सुबह 11 बजे पति उन्हें सिविल अस्पताल लेकर पहुंचे। वो प्रसूति वार्ड में ढाई बजे तक दर्द से कहरा रही थी। आराेप है कि कुछ ही दूरी पर कुर्सी पर बैठी एक स्टाफ नर्स हंस रही थी। ज्योति टेबल पर बैठी थी। अचानक उसका गर्भपात हो गया और नवजात बेड के पास रखे कूड़ेदान में जा गिरा।

Advertisement

महिला को जबरदस्ती छुट्टी दी

महिला के पति साेनू ने बताया कि पत्नी काे देर शाम को ही जबरदस्ती अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। जबकि वो घर जाने की स्थिति में नहीं थी। उसका बीपी काफी कम हो गया था। शुक्रवार सुबह सोनू विधायक प्रमोद विज के पास गया। उन्होंने यहां डिप्टी सिविल सर्जन को फोन किया। दोबारा महिला को इलाज के लिए दाखिल कराया। दंपती का आरोप है कि स्टाफ नर्सों की लापरवाही से उनके बच्चे की मौत हुई है।

Advertisement

शिकायत नहीं मिली: पीएमओ

पीएमओ डाॅ. संजीव ग्राेवर ने बताया कि उन्हें इस मामले की शिकायत नहीं मिली है। वो इस बारे में वहां की इंचार्ज से बात कर केस के बारे में पूछेंगे। कमेटी बनाकर मामले की जांच की जाएगी, जाे भी दोषी होगा कार्रवाई करेंगे।

Advertisement