Connect with us

पानीपत

तेजाब पीड़िता को 25 हजार रुपये का चेक सौंपा, उठते ही सहम जाती है

Published

on

Advertisement

तेजाब पीड़िता को 25 हजार रुपये का चेक सौंपा, उठते ही सहम जाती है

देसराज कालोनी में बाइक सवार दो बदमाशों ने चार दिन पहले 35 वर्षीय महिला पर तेजाब फेंक दिया था। महिला का चेहरा, गर्दन व हाथ झुलस गए थे। रिलीफ एंड रिहेबिलिटेशन आफ वुमन एंड चिल्ड्रन एसिड अटैक के उसे अंतिम राहत के तौर पर 25 हजार रुपये का चेक दिया गया है। उधर, महिला जैसे ही उठती है, सहम जाती है। कहती है, ठीक होने पर भी कहीं उस पर कोई तेजाब न फेंक दे। अभी तक आरोपित पकड़े नहीं जा सके हैं।

Advertisement

Four US students suffer acid attack in France

जिला महिला सरंक्षण अधिकारी रजनी गुप्ता ने बताया कि महिला एवं बाल विकास विभाग की डायरेक्टर रेनू फूलिया ने 27 अक्टूबर को पीड़िता की रिपोर्ट तैयार करने के आदेश दिए थे। 28 अक्टूबर को उसके घर पहुंचकर आर्थिक स्थिति, बच्चों के विषय में रिपोर्ट तैयार की थी। परिवार से पूछा भी गया था कि किसी प्रकार धमकी या दबाव का सामना तो नहीं कर रहे हैं। शुक्रवार को पीजीआइ रोहतक पहुंचकर उससे मिली, और सरकार की स्कीम के तहत उसे चेक सौंप दिया। सिविल सर्जन, पानीपत डा. संतलाल वर्मा से बात हुई थी तो उन्होंने महिला को करीब नौ फीसद झुलसा बताया है।

Advertisement

फिलहाल उसकी हालत में कुछ सुधार है। डायरेक्टर रेनू फूलिया ने फोन पर दैनिक जागरण को बताया कि पीड़िता का इलाज जिस भी अस्पताल में संभव है, निश्शुल्क कराया जाएगा। आरोपितों की गिरफ्तारी को लेकर पुलिस अधिकारियों से निरंतर बात हो रही है। मेडिकल रिपोर्ट नहीं स्पष्ट सिविल अस्पताल द्वारा जारी पीड़िता की मेडिकल रिपोर्ट को अस्पष्ट बताया जा रहा है। महिला कितने फीसद झुलसी और तेजाब कितना ज्वलनशील था, इसका उल्लेख नहीं था। यह थी घटना राजीव कालोनी वासी महिला देसराज कालोनी स्थित कंबल फैक्ट्री में काम करती थी। मंगलवार की शाम 6:30 बजे वह ड्यूटी से घर लौट रही थी। सड़क किनारे खड़े बाइक सवार दो बदमाश उस पर तेजाब फेंक कर फरार हो गए थे।तेजाब फेंकने वाले कौन थे, पुलिस अभी पता नहीं लगा सकी है। रामरति की हालत में भी सुधार : रजनी गुप्ता ने बताया कि शुक्रवार को पीजीआइ रोहतक में रामरति का हालचाल भी पूछा गया। उसकी हालत में अच्छा सुधार है। सभी को ठीक से पहचानते हुए बात कर रही है। उसने यह भी बताया कि करीब 20 माह से उसे बंधक बनाकर रखा जा रहा था।

 

Advertisement

 

SOURCE : JAGRAN

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *