Connect with us

Medical update

कोरोना से बचने के लिए कपड़ा, तौलिया, चादर को धोने और सुखाने में अधिक तापमान का इस्तेमाल करना बेहतर होगा

Published

on

कोरोनावायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग यानी दूसरों से दूरी बनाकर रखने की सलाह दी जा रही है। ऐसे में एक बड़ा सवाल आता है कि रोजमर्रा के काम को कैसे निपटाएं? जैसे कपड़े की धुलाई कैसे करें? कपड़े की धुलाई में भी कई बातों को ध्यान में रखकर आप कोरोनावायरस को फैलने से रोक सकते हैं। ये कुछ तरीके ऐसे हो सकते हैं…

कपड़े में स्टील और प्लास्टिक की कई चीजें लगी होती हैं, इसलिए खतरा
कपड़े पर नया कोरोनावायरस कितने समय तक जिंदा रहता है, इस बारे में अधिक जानकारी उपलब्ध नहीं है। लेकिन आपके कपड़े में प्लास्टिक या स्टील की कई चीजें लगी हुई होती हैं। कई विशेषज्ञ बताते हैं कि वायरस प्लास्टिक और स्टील पर तीन दिनों तक जीवित रह सकता है। आपके कपड़े के बटन और जिप प्लास्टिक या स्टील के हो सकते हैं। हालांकि इनसे संक्रमण फैलने का खतरा कम होता है। अधिकतर संक्रमण खांसने या छींकने, संक्रमित लोगों से हाथ मिलाने और बिना हाथ को अच्छी तरह साफ किए चेहरे को छूने से फैलते हैं।

घर आने पर कपड़े बदलिए और जूते-चप्पल उतारिए, आपके आसपास कोई खांसे-छीकें तो कपड़े बदलिए
अमेरिका के जॉन जे कॉलेज में पैथोलॉजी के प्रोफेसर और बायोकेमिकल रिसर्चर एंजेलिक कोर्थल्स का कहना है कि साधारण तौर पर जब आप बाहर से घर आते हैं, तो सावधानी के तौर पर आपको जूते उतार देने चाहिए और अपने कपड़े बदल लेने चाहिए। यह खासतौर से तब जरूरी है, जब आपने सार्वजनिक परिवहन के साधन का इस्तेमाल किया हो या आप बाहर काम करते हों। कोई यदि आपके ऊपर छींकता या खांसता है, तब आपको कपड़े भी बदलने चाहिए। यदि आप अपने काम के दौरान कई लोगों से मिलते हैं तो घर आते ही आपको कपड़े बदलना चाहिए और अपने हाथ धोना चाहिए। यदि आपने अपने कपड़े से संक्रमित चीजों को छूआ है, किसी सार्वजनिक स्थल पर बैठे हैं या किसी खंभे पर टिक कर खड़े हुए हैं, तो पूरी संभावना है कि आप अपने साथ कोरोनावायरस को भी घर ले आएं। लेकिन यदि आप अधिकतर समय घर पर ही बिताते हैं, तो कपड़े और संक्रमण को लेकर अधिक चिंता करने की जरूरत नहीं।

कपड़े धोने के बाद पानी निकालने के लिए उसे झाड़ें नहीं, इससे वायरस फैलने का खतरा 
अमेरिका के सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन के मुताबिक कपड़ा, तौलिया, बिछावन के कपड़ों को धोने और सुखाने में जितने अधिक तापमान का इस्तेमाल किया जाए, उतना अच्छा है। ऐसे कपड़े जो गर्म धूप या अधिक तापमान में खराब हो जाते हैं, उनका इस्तेमाल इस वक्त नहीं करना चाहिए। कपड़े धोने के बाद हाथ को साबुन पानी से अच्छी तरह साफ करना या हैंड सैनिटाइजर का इस्तेमाल करना भी अच्छा विचार है। कपड़े धोने के बाद उससे पानी निकालने के लिए उसे झाड़ें नहीं, इससे वायरस फैल सकता है।

यदि आप ज्यादा लोगों के संपर्क में आते हैं तो कपड़े की सफाई पर ज्यादा ध्यान दें
यदि आप स्वास्थ्यकर्मी हैं और सीधे तौर पर मरीज की देखभाल से जुड़े हुए हैं, तो आपको कपड़े की सफाई पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए। इसके साथ ही यदि आप ज्यादा लोगों के संपर्क में आते हैं, तो भी आपको कपड़े की सफाई को लेकर ज्यादा सावधान रहना चाहिए।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *