Connect with us

City

करनाल की शातिर लुटेरी दुल्हन, जेवरात लेकर हो जाती थी फरार

Published

on

Advertisement

करनाल की शातिर लुटेरी दुल्हन, जेवरात लेकर हो जाती थी फरार, ऐसे देती थी वारदात को अंजाम

करनाल में अजीबोगरीब मामला सामना आया है। जहां दुल्हन भी फर्जी तो बिचौलिए से लेकर रिश्तेदार तक फर्जी निकले। वहीं इस तरह शादी की आड़ में लोगों को ठगी का शिकार बना लिया जाता। फर्जी दुल्हन शादी के अगले ही दिन मौका देख नकदी व जेवरात पर हाथ साफ कर फरार हो जाती तो फर्जी बिचौलिए व रिश्तेदार बनने वाले आरोपित शादी करने वाले लोगों को झूठे केस में फंसाने की धमकी देकर मोटी रकम वसूलते थे।

दुल्हन बनने वाली महिला सहित चार आरोपितों को गिरफ्तार

Advertisement

ऐसे ही एक गिरोह का सीआइए टू ने भंडाफोड़ किया है, जिसमें दुल्हन बनने वाली महिला सहित चार आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। यह गिरोह हरियाणा व पंजाब में ऐसी कईं वारदातों को अंजाम दे चुका था, जिनके बारे में पुलिस जानकारी जुटा रही है। एएसआई मनोज कुमार की अध्यक्षता में टीम द्वारा गिरोह के चार सदस्यों रिम्पी उर्फ प्रीति पत्नी राजीव कुमार वासी कुकेड बाजार जागराओं जिला मोगा, पंजाब हाल लुधियाना, परमजीत कौर उर्फ पम्मी पत्नी शिव कुमार वासी गुरू गोबिंद सिंह नगद शिमला पुरी लुधियाना, पंजाब, हैरी सिंह वासी मान पैलेस बसंत बिहार लुधियान, पंजाब व सोहन सिंह वासी अमेर कालोनी ताजपुर रोड लुधियाना पंजाब को वीरवार को करनाल से ही गिरफ्तार किया गया है।

Advertisement

सीआईए टू इंचार्ज निरीक्षक मोहनलाल के मुताबिक आरोपितों से प्रारंभिक पूछताछ की गई तो पता चला कि संतोष राणा वासी गांव कालरम हाल बरसत रोड घरौंडा, शमशेर सिंह उर्फ शेरा वासी पानीपत व अजित वासी जटीपुर पानीपत अलग-अलग जगह पर लोगों की शादी करवाने का काम करवाते हैं। उन्होंने घरौंडा व पानीपत में मैरिज ब्यूरो खोल रखे हैं। पंजाब के रहने वाले चारों आरोपित इन मैरिज ब्यूरो चलाने वालों के संपर्क में रहते थे। मैरिज ब्यूरो में ऐसे व्यक्ति भी आते थे, जिनकी किसी वजह से शादी नही हो पाती थी और शादी के लिए इन मैरिज ब्यूरो के चक्कर काटते थे।

ठगी के खेल में मैरिज ब्यूरो भी शामिल

Advertisement

ठगी का सारा खेल यहीं से शुरू होता था। मैरिज ब्यूरो चलाने वाले ऐसे लोगों को विश्वास में लेते थे और सामने वाले की हैसियत के हिसाब से उससे रुपये की मांग कर शादी करवाने की बात करते थे । उन्हें लडकी (रिम्पी उर्फ प्रीति) की फोटो वगैरहा दिखाकर उनको शादी के लिए राजी कर लेते थे। जिसके बाद आरोपित हैरी सिंह, सोहन सिंह व परमजीत कौर लडकी के रिश्तेदार व बिचौलिये बनकर लड़के वालों केे घर जाते थे, ताकि किसी को किसी तरह की गड़बडी या अंदेशा न हो।

आरोपित मिलकर महिला रिम्पी उर्फ प्रीति के साथ उक्त व्यक्ति की शादी करवा देते थे। शादी करवाने के लिये मैरिज ब्यूरो चलाने वाले आरोपित इन आरोपितों से कमीशन लेते थे। आरोपी रिम्पी चार से पांच दिन या जैसा मौका लगता था अपनी कथित ससुराल में रहती थी और जैसे ही उसे भागने का मौका लगता था तो वह शादी के सारे जेवरात व नगदी लेकर घर से फरार हो जाती थी। इसके अलावा भी आरोपित लडके वालों को रिश्ता तोडने की धमकी देकर या अन्य किसी वजह के लिये झूठ बोलकर शादी से पहले व शादी के बाद उनसे रुपये ऐंठते थे। आरोपितों द्वारा हरियाणा व पंजाब में ऐसी कई वारदातों को अंजाम दिया जा चुका है। इनमें जिला करनाल की भी एक वारदात शामिल है। इस मामले में आरोपित अजीत को अगस्त माह में पहले ही करनाल पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया जा चुका है। महिला आरोपित संतोष राणा को ऐसे ही एक मामले में पंजाब पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया जा चुका है।

Advertisement