Connect with us

Cities

इस जज्बे को नमन! IAS होने के बावजूद कंधे पर राशन की बोरी लाद कर लोगो तक पहुंचाया सामान

Published

on

कोरोना वायरस (Corona Virus) की वजह से पूरी दुनिया प्रभावित हो रही हैं. हर कोई अपने अपने घरों में कैद होकर रह गया हैं. भारत में भी यही हाल हैं. इन दिनों यहाँ लॉकडाउन के चलते लोगो को कई तरह की समस्याओं से जूझना पड़ रहा हैं. खासकर लोगो को राशन पानी का जुगाड़ करने में बड़ी परेशानी हो रही हैं. शहरों में तो एक बार फिर भी किसी तरह जुगाड़ हो जाता हैं लेकिन गाँव या दूर दरास वाले इलाकों में सामान ही नहीं पहुँच पा रहा हैं. हालाँकि इन सभी परेशानियों के बीच कुछ अच्छी ख़बरें भी सुनने को मिल जाती हैं. कुछ नेक दिल लोग हर तरह से जरूरतमंद लोगो की सहयता को आगे आते रहते हैं.

अब केरल के पथनमथिट्टा जिले का ये मामला ही ले लीजिए. दरअसल यहाँ एक आइसोलेटेड फैमली को राशन की आवश्यकता थी ऐसे में जिला कलेक्टर पी.बी. नूंह (P.V. Nooh) खुद अपने कंधे पर राशन की बोरी रख उस परिवार तक पहुंचे. इस दौरान वे राशन के साथ साथ कुछ जरूरी सामान भी ले गए. इस तरह इस मुश्किल घड़ी में उस आइसोलेटेड परिवार की कुछ परेशानियां कम हो गई. पी.बी. नूंह जी जिला कलेक्टर होने के बावजूद स्वयं राशन की बोरी उठाकर गए थे, उनके इस काम की काफी तारीफ़ होनी चाहिए. देशभर में मेडिकल स्टाफ, पुलिस विभाग और अन्य विभाग के लोग हमारी सेवा और सुरक्षा के लिए दिन रात कड़ी मेहनत कर रहे हैं. ऐसे में ये सभी सम्मान के पात्र हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इस समय केरल में भी कोरोना वायरस की वजह से काफी खराब हालत हैं. यहाँ अभी तक 286 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इसके अतिरिक्त इस खतरनाक वायरस के कारण दो लोगो की जान भी जा चुकी हैं. लॉकडाउन के चलते लोगो को अलग अलग दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा हैं. इस दौरान श राब की दुकाने भी बंद हैं ऐसे में श राब के न शे के आदि लोगो की हालत भी खराब हैं. यहाँ केरल में तो श राब ना मिलने के कारण तीन लोगो ने आ त्महत्या तक कर ली थी. इसमें एक घटना कोच्चि की है तो दूसरी कन्नूर की बताई जा रही हैं.

भारत में कोरोना की स्थिति की बात करे तो अभी यहाँ कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 2547 तक जा पहुंची हैं. इनमें 162 लोग रिकवर हो चुके हैं जबकि 62 लोगो का निधन हो चूका हैं. वहीं दुनियाभर में कोरोना से मरने वालो का आकड़ा 58 हजार से अधिक जा पहुंचा हैं. वहीं विश्व में इस वायरस से 10 लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हो चुके हैं.

अभी तक इस वायरस का कोई भी इलाज या वैक्सीन उपलब्ध नहीं हैं. इसलिए इससे बचने का एक मात्र उपाय सोशल डिस्टेंस यानी दूरी बनाए रखना हैं. लोगो को जितना ज्यादा हो सके अपने घरों के अंदर ही रहना चाहिए. जब तक कोई इमरजेंसी ना हो घर के बाहर नहीं निकलना चाहिए. इसके साथ ही बार बार अपने हाथ भी धोते रहना चाहिए. आम फ़्लू के मुकाबले ये वायरस तीन गुना ज्यादा तेजी से दूसरों में फैलता हैं. यही वजह हैं कि इसे प्रति सावधानी रखना जरूरी हैं.

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *