Connect with us

City

Lakhimpur Kheri Violence: उत्‍तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों की मौत पर हरियाणा में भड़के किसान संगठन

Published

on

Advertisement

Lakhimpur Kheri Violence: उत्‍तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में किसानों की मौत पर हरियाणा में भड़के किसान संगठन, लघु सचिवालय घेरा

Lakhimpur Kheri Violence: उत्तरप्रदेश के लखीमपुर खीरी में रविवार को कार की चपेट में आने से किसानों की मौत से हरियाणा में किसान संगठनों में रोष है। करनाल, पानीपत, कैथल, जींद, यमुनानगर सहित कई जिलों के किसानों में भी रोष फैल गया है। करनाल में सुबह ही सैंकड़ों की संख्या में किसान जिला सचिवालय पहुंचे और घेराव कर धरना शुरू किया। यमुनानगर में किसान प्रदर्शन कर रहे हैं।

जींद में जिला सचिवालय के बाहर प्रदर्शन करते आंदोलनकारी।

Advertisement

जींद में रोड जाम

जींद में किसानों ने प्रदर्शन करते हुए हांसी और बरवाला रोड जाम कर दिया है। इसके बाद कुछ किसान नारेबाजी करते हुए लघु सचिवालय पहुंच गए। वहीं, पर धरने पर बैठ गए। इसके बाद पुलिस अधिकारी उन्‍हें समझाने के लिए पहुंचे।

Advertisement

किसान नेता जगदीप सिंह ओलख के नेतृत्व में किसान पहले अनाजमंडी में एकत्रित हुए, जिसके बाद नारेबाजी करते हुए जिला सचिवालय पहुंचे, जहां धरना शुरू कर दिया। हालांकि किसानों ने धरना शांतिपूर्ण रखने का दावा किया है, लेकिन जिला प्रशासन ने हर प्रकार के हालात से निपटने के लिए पुख्ता प्रबंध किए हैं। डीएसपी जगदीप दून के नेतृत्व में भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है तो वहीं दो कंपनी रिर्जव तौर पर भी रखी गई है। अर्धसैनिक बल के जवान भी तैनात किए गए हैं। उधर किसान नेताओं ने जमकर नारेबाजी करते हुए उत्तरप्रदेश में हुए मामले में संबंधित सांसद व उनके आरोपित बेटे के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें।

किसान नेता जगदीप सिंह ने कहा, किसानों की हत्‍या की गई है

Advertisement

उन्होंने कहा कि किसानों पर जानबूझ कर गाड़ी चढ़ा कर हत्या की गई है। इन पर हत्या के आरोपित में मामला दर्ज कर तत्काल गिरफ्तारी की जाए। किसान नेताओं ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल की वायरल हो रही वीडियो पर भी कड़ा रोष जताया और उनके इस्तीफे की मांग की। किसान नेताओं ने कहा कि गुरनाम सिंह चढूनी व अन्य किसान नेताओं के आह्वान पर धरना दोपहर एक बजे तक जारी रखा जाएगा, जिसके बाद नए आदेशानुसार ही अगला कदम उठाया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार किसानों को दबाने व तीन कृषि कानूनों के विराेध में चल रहे आंदोलन को खत्म करने के लिए सरकार हर हथकंडे अपना रही है, लेकिन ऐसे में किसानों कमजोर पड़ने वाले नहीं है।

jagran

कैथल में भी प्रदर्शन शुरू

लखीमपुर की घटना के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा संगठन के सदस्यों ने लघु सचिवालय के मुख्य गेट पर धरना शुरू कर दिया। किसानों का कहना है कल किसानों के साथ जो घटना घटी है वह अति निंदनीय घटना है इससे किसानों में विरोध है। अध्यक्षता भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष होशियार गिल कर रहे हैं।

Advertisement