Connect with us

Health

कल पानीपत में कोरोना का फूटा बम, 93 केस और 1 मौत, जानिए कैसे बना संक्रमण का बड़ा जाल

Published

on

कल पानीपत में कोरोना का फूटा बम, 93 केस और 1 मौत, जानिए कैसे बना संक्रमण का बड़ा जाल

 

पीतमपुरा निवासी समालखा निवासी 28 वर्षीय जाचा की पीजीआई रोहतक में अत्यधिक रक्तस्राव के कारण मौत हो गई। मौत के बाद उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके साथ ही पानीपत में कोविद-19 से मरने वालों की संख्या अब बढ़कर 15 हो गई है। दूसरी ओर एक ही दिन में 93 नए मरीज मिले हैं। जिले में एक ही दिन में मिले पॉजिटिव की यह सबसे ज्यादा संख्या है। 35 स्वस्थ होने पर छुट्टी भी दे दी गई है।

Live Panipat Coronavirus Update: पानीपत में फूटा कोरोना बम, एक की मौत, 93 संक्रमित

एचडीएफसी बैंक कर्मी पॉजिटिव, शाखा बंद

एचडीएफसी बैंक की मतलौडा शाखा में कार्यरत गांव बाला निवासी एक कर्मचारी को कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। बैंक कर्मी कई दिनों से खांसी बुखार से पीड़ित था। गांव के सरकारी अस्पताल में दो दिन पहले उनके स्वाब का नमूना लिया गया था। सभी साथियों से सैंपल लेने के बाद शाखा बंद कर दी जाती है। इसके अलावा एक फार्मा कंपनी में एमआर में कार्यरत युवक और उसकी पत्नी कोरोना पॉजिटिव मिले। मतलौडा की एक महिला शिक्षिका संक्रमित है।

सिविल सर्जन डॉ संतलाल वर्मा ने समालखा के सनौली रोड, पीतमपुरा स्थित एक निजी अस्पताल में 28 जुलाई को सीजेरियन ऑपरेशन कर बच्ची को जन्म दिया। खून बहना बंद नहीं होने पर 29 जुलाई को पीजीआई रोहतक रेफर कर दिया गया था। 30 जुलाई को वहां उसके स्वाब के नमूने लिए गए। उसी दिन उसकी एक और सर्जरी भी हुई। शुक्रवार को खून बहने के कारण मौत हो गई। उसकी बच्ची सिविल अस्पताल में भर्ती है और उसके स्वाब का नमूना भेजा जाएगा।

मृतक कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए पीजीआई परिसर में दफनाया गया है। जरूरत पड़ी तो मृतक के पति और दो अन्य बच्चों के सैंपल भी लिए जाएंगे। सिविल अस्पताल की महिला डॉक्टर से पॉजिटिव रिपोर्ट मिलने के बाद उसके पति, बच्चे समेत परिवार के तीन सदस्यों के सैंपल एकत्र किए गए हैं। पीडियाट्रिक ओपीडी में रैपिड एंटीजन किट से तीन स्टाफ की जांच की गई तो सभी ने निगेटिव बताया।

सिविल सर्जन के अनुसार जिले में कोविद-19 के कुल 18564 नमूने लिए गए हैं। इनमें से 16944 रिपोर्ट नकारात्मक मिली हैं। शुक्रवार को भी 422 रिपोर्ट निगेटिव पाई गई हैं। अब तक जिले में कुल 1156 मामलों में से 701 स्वस्थ हो चुके हैं। ऐक्टिस के मामले अभी 440 हैं।

ज्यादातर मामले यहां आए

मॉडल टाउन में एक परिवार से 40 वर्षीय पुरुष, उसकी मां, पत्नी सहित चार सदस्य संक्रमित हैं। इनके अलावा सात नए पॉजिटिव केस भी मिले हैं। पांच संक्रमित हैं, जिनमें अंसल में एक दंपति और उनके दो बच्चे शामिल हैं । न्यू आरके पुरम में यह कपल पॉजिटिव है । एनएचबीसी सेक्टर 11-12 में चार, बिशनाराम कॉलोनी में तीन, वाधवाराम कॉलोनी में दंपती सहित छह, परमहंस कॉलोनी में एक महिला, उसके बेटे और बहू समेत पांच महिलाएं संक्रमित हैं। सुखदेवनगर में दंपती समेत तीन, मतलौडा में तीन और सेक्टर-25 में पांच लोग संक्रमित हैं।

यहां मिला हर मामला

संजय कॉलोनी, सेक्टर 13-17, गंगाराम कॉलोनी, हरिकेशशाह चौक, कुटानी रोड, बापौली, कुटानी, आठ मरला, न्यू ऑफिसर कॉलोनी, कांशीगिरी मंदिर के पास, शास्त्री नगर, समालखा वार्ड-चार, शिव नगर, आसन कलां, अटावला गांव, हरिबाग कॉलोनी, गौशाला मंडी, बुनकर कॉलोनी, बीपीएल एक्सपोर्ट, रमेश नगर, नारा गांव, राजा खेड़ी, प्योरवाल कॉलोनी आदि। इनके अलावा कुछ जगहों पर दो पॉजिटिव मिले हैं।

एंटीजन किट जांच में 10 पॉजिटिव केस का पता चला

रैपिड एंटीजन किट से लिए गए नमूनों में 10 पॉजिटिव की रिपोर्ट आई । इनमें सेक्टर-25 मलिक अंकलव में दो परिवारों के चार सदस्य, मॉडल टाउन में दो परिवारों के चार सदस्य और राजाखेड़ी का एक निवासी शामिल है।

फैक्ट्री कर्मी संक्रमित हो गया

बापौली की एक फैक्ट्री में काम करने वाला 30 वर्षीय मजदूर संक्रमित है। इससे पहले फैक्ट्री मालिक भी पॉजिटिव आ चुका है। स्वास्थ्य विभाग ने गली को सील कर वहां जांच शुरू कर दी है।