Connect with us

पानीपत

जीटी रोड पर बदमाशों ने स्कूटी को धक्का दे लूटा पर्स, गिरने से ब्यूटीशियन का पैर टूटा, 12 साल की भांजी भी चाेटिल

Published

on

जीटी रोड पर बदमाशों ने स्कूटी को धक्का दे लूटा पर्स, गिरने से ब्यूटीशियन का पैर टूटा, 12 साल की भांजी भी चाेटिल

पुलिस की सुस्ती के कारण शहर में बेखौफ घूम रहे बदमाशों का दुस्साहस बढ़ रहा है। पिछले 4 दिन में रविवार को लूट की तीसरी वारदात शहर के सबसे व्ययस्तम जीटी रोड पर हुई। स्कूटी पर 12 साल की भांजी व सहेली के साथ जा रही ब्यूटीशियन का बाइक सवार बदमाशों ने पर्स लूट लिया। फिर स्कूटी को धक्का देकर सिटी थाने की तरफ भाग गए। गिरने से ब्यूटीशियन का पैर टूट गया और भांजी को भी चोट आई।

 

हैरत की बात यह है कि शहर के बीचोंबीच वारदात करके बदमाश बाइक लेकर भागने में भी कामयाब हो गया और पुलिस सोती रह गई। हालांकि दबाव बना तो पुलिस ने आरोपियों को हिरासत में ले लिया। अभी गिरफ्तारी नहीं दिखाई। पर्स में 14 हजार रुपए, दो मोबाइल, 3 एटीएम कार्ड के अलावा अन्य सामान रखा हुआ था। महिला की शिकायत पर सिटी थाना पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया है।

घरौंडा के बालाजी कॉलोनी की मीना पत्नी सतीश ने बताया कि उसने अपने घर में ब्यूटी पार्लर खोल रखा है। रविवार को वह 12 वर्षीय भांजी प्रिया के साथ पानीपत आई थी। शाम करीब 6:15 बजे वह बबैल रोड स्थित आर्य नगर निवासी सहेली सुनीता पत्नी सुरेश और भांजी के साथ स्कूटी से बस स्टैंड की तरफ जा रही थी। रास्ते में रेलवे रोड मोड़ एचडीएफसी बैंक के पास पीछे से बाइक पर दो बदमाश आए और पर्स छीनकर भाग गए।

र्स में 14 हजार रुपए, दो मोबाइल, 3 एटीएम कार्ड के अलावा अन्य सामान रखा हुआ थ

भांजी ने गले में लटकाया था पर्स, जबरन छीनकर ले गए

मीना ने बताया कि भांजी प्रिया ने गले में उसका पर्स लटका रखा था। प्रिया ने पर्स को उसके और अपने बीच में सीट पर रखा था। बदमाश संजय चौक से पीछा करते हुए आए और अचानक पर्स पर झपट्‌टा मारा। प्रिया का हाथ पकड़ा तो वे पर्स नहीं छीन पाए। बदमाशों ने दोबारा पर्स पकड़कर झटका मारा तो बद्दी टूट गई। इसके बाद बदमाश धक्का देकर भाग गए। गिरने के बाद मीना लहूलुहान हो गई और कुछ समझ नहीं पाई। बाद में पता चला कि बदमाश उसका पर्स छीनकर ले गए। बाद में लोगों ने ऑटो से उसको निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां उसके पैर में फैक्चर निकला और टांके भी आई। प्रिया को भी चोट लगी। मीना ने बताया कि सीआईए वालों ने आरोपियों को पकड़ लिया है।

हर तीसरे दिन एक वारदात, अब गश्त बढ़ाएंगे डीएसपी

9 माह में लूट-डकैती व स्नेचिंग की 100 से ज्यादा वारदात

शहरवासी सबसे ज्यादा लूट-डकैती और स्नेचिंग की वारदातों से परेशान हैं। इस साल अब तक 100 से ज्यादा वारदात हो चुकी हैं। अधिकतर वारदातों में पकड़े गए बदमाश वे ही होते हैं, जाे ऐसी वारदात करने के बाद जेल गए और जमानत मिलने पर फिर से वारदात करने लगे। पुलिस का सिस्टम पूरी तरह से फेल रहता है कि पुलिस ऐसे अपराधी पर जमानत मिलने के बाद निगरानी नहीं कर पाती। जब वे कई वारदात कर लेते हैं तब पकड़ में आते हैं। बरामदगी कुछ खास नहीं हो पाती है।

लूट की पिछली 3 वारदातें

1. 7 अक्टूबर को कचरौली गांव में बैंक मित्र शाखा में घुसे बाइक सवार दो बदमाशों ने गन पॉइंट पर कचरौली के सतीश कुमार के भांजे सुनील से 80 हजार रुपए लूटे। बदमाशों के फुटेज आए, पर 5 दिन में वे पकड़े नहीं गए।
2. 11 अक्टूबर की शाम 7:45 बजे सेक्टर 2. पार्ट-2 में बाइक सवार बदमाश ने तहसील कैंप के न्यू रमेश नगर निवासी रविंद्र सिंह का मोबाइल छीना। अब तक बदमाश को पुलिस पकड़ नहीं पाई है।
3. 4 अक्टूबर को राजनगर मोड़ के पास राजनगर निवासी ठेकेदार सागर की बाइक में डंडा अड़ा कर बदमाशों 1.20 लाख रुपए लूटे।

डीएसपी हेड क्वार्टर सतीश कुमार वत्स से सीधी बातचीत

सवाल- शहर के बीचोंबीच जीटी रोड पर बदमाश वारदात करके भाग गए। पुलिस कहां हैं? वारदात करके भागे बदमाश क्यों नहीं पकड़े जाते?
जबाव- शहर में पुलिस पूरी तरह से चौकस है। सूचना मिलते ही नाकाबंदी करते हैं। लेकिन बदमाश शातिर हो गए हैं, वे गलियों और कच्चे रास्तों से भाग जाते हैं। फिर भी हम उन्हें पकड़ते हैं।
सवाल- लोग आरोप लगाते हैं कि वारदात इसलिए बढ़ रही हैं कि शहर में गश्त नहीं होती।
जबाव- ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। कई बार मैं खुद चेक करता हूं। गश्त लगातार होती है। अभी हम गश्त बढ़ा रहे हैं।

 

Source : Bhaskar

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *