Connect with us

समाचार

महाराष्ट्र के धुले में गला काटते हुए LIVE कर रहा था, मुंबई पुलिस को आयरलैंड से अलर्ट मिला

Published

on

Advertisement

महाराष्ट्र के धुले में गला काटते हुए LIVE कर रहा था, मुंबई पुलिस को आयरलैंड से अलर्ट मिला

 

महाराष्ट्र के धुले में 23 साल का ज्ञानेश्वर पाटिल आत्महत्या की कोशिश कर रहा था। उसने फेसबुक पर LIVE भी किया। सोशल मीडिया साइट के आयरलैंड स्थित हेड ऑफिस ने इसे देखा तो, मुंबई पुलिस की साइबर सेल को सूचना दे दी और ज्ञानेश्वर की जान बचा ली गई।

Advertisement

ज्ञानेश्वर फेसबुक पर LIVE जाकर बार-बार ब्लेड से गला काट रहा था। आयरलैंड से इसकी खबर मिलने पर साइबर सेल की DCP रश्मि करंदीकर ने धुले पुलिस को जानकारी दी। वहां से एक टीम मौके पर पहुंची और 1 घंटे में युवक को बचा लिया।

 

Advertisement

7695 किलोमीटर दूर से मुंबई पुलिस को आया अलर्ट
घटना रविवार रात 8 बजे मुंबई से 323 किलोमीटर दूर महाराष्ट्र के धुले की भोई सोसाइटी की है। ज्ञानेश्वर पाटिल घर में अकेला था। वह सोशल मीडिया पर LIVE होकर रोते हुए बोल रहा था- सब मुझे परेशान करते हैं, मैं सभी को परेशान करता हूं, इसलिए मैं अपनी लाइफ खत्म करना चाहता हूं। उसकी इस हरकत को 7,695 किलोमीटर दूर आयरलैंड के फेसबुक हेड ऑफिस में बैठे कुछ लोगों ने देखा और मुंबई पुलिस की साइबर सेल को अलर्ट कर दिया।

रात 8 बजे

Advertisement
  • साइबर सेल की DCP रश्मि करंदीकर ने बताया, ‘रविवार रात करीब 8 बजे हमें आयरलैंड के फेसबुक हेडक्वॉर्टर से कॉल आया कि आपके इलाके में एक व्यक्ति सुसाइड की कोशिश कर रहा है। उसके दोनों हाथों और गले से खून बह रहा है। फौरन मदद कीजिए। हमने तुरंत अपनी टीम को अलर्ट कर युवक के बारे में पता लगाने को कहा।’
  • 8.30 बजे रश्मि ने आगे बताया, ‘साइबर सेल की टीम को पता चला कि युवक धुले का रहने वाला है। समय कम होने की वजह से हमें पिन पॉइंट लोकेशन ट्रेस करनी थी। हमने नासिक रेंज के IG प्रताप दीघावकर और धुले के SP चिन्मय पंडित को सूचना दी। इस बीच साइबर सेल को लोकेशन मिल गई।
  • 9 बजे लोकेशन मिलते ही धुले पुलिस की टीम मौके पर पहुंची और ज्ञानेश्वर पाटिल को रेस्क्यू कर अस्पताल में भर्ती करवा दिया। अभी उसका इलाज चल रहा है। डॉक्टर्स ने कहा है कि हालत खतरे से बाहर है और कुछ दिन में घाव ठीक हो जाएंगे।
रेस्क्यू में शामिल DCP रश्मि करंदीकर।
रेस्क्यू में शामिल DCP रश्मि करंदीकर।

पिछले साल भी इसी तरह एक शख्स की जान बचाई थी
घटना अगस्त 2020 में लॉकडाउन के दौरान की है। आर्थिक तंगी से परेशान 27 साल के शेफ ने फेसबुक LIVE करते हुए सुसाइड करने की कोशिश की थी। उस दौरान भी आयरलैंड के फेसबुक हेडक्वॉर्टर ने मुंबई पुलिस को अलर्ट किया था। 4 घंटे के अंदर पुलिस ने शेफ को मीरा रोड के एक फ्लैट से रेस्क्यू कर लिया।

ऐसे मामलों की तुरंत रिपोर्ट करने की अपील
DCP ने बताया कि मुंबई पुलिस हमेशा अपील करती है ऐसे लोगों के बारे में कोई भी जानकारी मिले तो तुरंत नजदीकी पुलिस स्टेशन और साइबर पुलिस को बताएं। साथ ही परिवार और दोस्तों की भी जिम्मेदारी है कि उस शख्स से बात कर उसे सुसाइड करने से रोकें।

फेसबुक कैसे डिटेक्ट करता है?
2017 में फेसबुक ने आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस बेस्ड तकनीक शुरू की। इससे पता चलता है कि किसी यूजर के मन की स्थिति कैसी है। यह सामने वाले की हरकत को एनालिसिस करता है और यह पता लगाता है कि वह सुसाइड जैसी सोच रखता है या नहीं। यह खून या इससे मिलती चीजों को देख अलर्ट दिखाता है।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *