Connect with us

पानीपत

फेसबुक पर लाइव आकर युवक ने दे दी जान, बोला-माता-पिता बहुत अच्‍छे, ससुराल वाले प्रताडि़त करते

Published

on

फेसबुक पर लाइव आकर युवक ने दे दी जान, बोला-माता-पिता बहुत अच्‍छे, ससुराल वाले प्रताडि़त करते

 

 

ससुरालियों द्वारा ढाई लाख रुपये हड़पने और दहेज के झूठे केस में फंसाने की धमकी देने से आहत बबैल गांव के युवक प्रविंद्र ने खेत में जहर खाकर जान दे दी। जहर निगलने से पहले प्रविंद्र 31 सेकेंड फेसबुक पर ऑनलाइन भी रहा और वीडियो बनाकर वाट्सएप पर ताऊ के बेटे रविंद्र को भी भेजा।

वीडियो में वे कह रहे हैं कि मेरे  माता-पिता बहुत ही अच्छे हैं। मेरी बेटियों को पापा तुम पालना। मैं आपसे यही गुजारिश करता हूं। मेरी मौत के जिम्मेदार कर्मबीर (ससुर), जितेंद्र उर्फ जीता (साला) और कोमल (पत्नी ) है।  मेरी पत्नी उनकी (ससुरालियों की ) बात मानती है। युवक तीन बहनों का इकलौता भाई था।

फेसबुक पर लाइव आकर युवक ने दे दी जान, बोला-माता-पिता बहुत अच्‍छे, ससुराल वाले प्रताडि़त करते

घटना मंगलवार की है। बबैल गांव के महाबीर ने पुलिस को शिकायत दी कि उसका 27 वर्षीय इकलौता बेटा प्रविंद्र खेती करता था। उसकी शादी बिहोली गांव के कर्मबीर की बेटी कोमल के साथ हुई थी। इससे उनकी दो बेटियां है। एक तीन साल की दूसरी सात महीने की है। उसके बेटे के साथ ससुर, साला जितेंद्र उर्फ जीता और पत्नी कोमल गाली-गलौज करते थे। वर्ष 2019 में ससुर व साले ने बेटे को धमकाया कि वे कोमल को घर ले जाएंगे। उन्हें रुपये चाहिए। इससे बेटा डर गया और धान की फसल के डेढ़ लाख और गेहूं की फसल के एक लाख रुपये आरोपितों को दे दिए। इसके बाद धमकी दी कि किसी को रुपये देने के बारे में बताया तो जान से मार देंगे। बेटे ने यह बात उसे, पत्नी, परिजन बलजीत व रविंद्र को बताई। करीब एक महीना पहले आरोपित कोमल  व सात महीने की पोती को बिहोली ले गए।

 

उन्होंने बात की तो आरोपित पोती को घर छोड़ गए। धमकी देकर गए कि प्रङ्क्षवद्र सहित पूरे परिवार को दहेज के झूठे केस में फंसवा देंगे। इसके बाद से बेटा परेशान रहने लगा। बेटे ने वीडियो बनाई और आरोपितों के डर से जहरीला पदार्थ खा लिया। बेटे को पानीपत के एक निजी अस्पताल में दाखिल कराया, जहां पर डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। प्रविंद्र की दो बड़ी व एक छोटी बहन है। बुधवार को पुलिस ने सामान्य अस्पताल में पोस्टमार्टम करवा कर शव को स्वजनों को सौंप दिया।

 

छीन गया घर का सहारा

पीडि़त महाबीर सामान्य अस्पताल में कह रहे थे कि बेटा प्रविंद्र ही खेती कर परिवार का पोषण कर रहा था। अब बेटा भी नहीं रहा है। घर का सहारा छीन गया है। घर में और कोई कमाने वाला नहीं रहा है।

 

महाबीर की शिकायत पर कर्मबीर, जितेंद्र और कोमल के खिलाफ धारा 306 (आत्म हत्या के लिए मजबूर) करने का मामला दर्ज किया है। जांच के बाद आरोपितों को काबू किया जाएगा।

 

कमलजीत, प्रभारी, सेक्टर 13-17