Connect with us

पानीपत

Farmer Protest: कई रूट में बसों के थमें पहिए, जानिए हरियाणा के कई जिलों का हाल

Published

on

Advertisement

Farmer Protest: कई रूट में बसों के थमें पहिए, जानिए हरियाणा के कई जिलों का हाल

कृषि कानूनों के विरोध में किसानों के दिल्ली कूच के चलते हरियाणा के कई जिलों में प्रशासन ने सुरक्षा व्‍यवस्‍था कड़ी कर दी है। कई हाईवे पर यातायात बंद कर दिया गया। एक तरफ पंजाब के किसान आ रहे तो दूसरी ओर हरियाणा से भी किसान दिल्‍ली कूच कर रहे हैं। अंबाला, कुरुक्षेत्र, जींद, करनाल में कई जगह रुट को डायवर्ट किया गया है। अंबाला में तो दिल्ली-अमृतसर हाईवे से वाहनों का शहर में आवागमन बंद कर दिया था।

Advertisement

जींद में पंजाब के किसान सीमा पर डटे

पंजाब के किसान सीमा पर डटे हुए है, लेकिन पुलिस द्वारा की गई नाकेबंदी को वह क्रास नहीं कर पाए है। दिल्ली-पटियाला मार्ग पर बैरिकैड्स लगाने से दोनों तरफ भारी संख्या में ट्रक फंस गए हैं और मार्ग के दोनों तरफ लंबी-लंबी लाइन लगी हुई है। ट्रक चालकों का आरोप है कि जब पुलिस ने मार्ग को बंद किया हुआ है तो उनको पीछे से रोक देना चाहिए था, लेकिन पुलिस ने उनको आगे आने दिया। अब यहां पर उनको खाने तक का सामान नहीं मिल रहा है। वहीं प्रशासन ने किसानों को रोकने के लिए बैरिकैड्स के साथ मिट्टी भी सड़क पर डाल दी है, ताकि किसान बैरिकैड्स को तोड़ न सके। वहीं पंजाब के किसान बैरिकैड्स के दूसरी तरफ खड़े होकर नारेबाजी कर रहे हैं।

Advertisement

Farmer protest in Karnal

करनाल में किसान आंदोलन को लेकर पुलिस मुस्‍तैद।

Advertisement

पानीपत में धारा 144 लागू, सीमाएं सील

पानीपत में अंतर राज्य व अंतर जिला की सीमाओं को सील कर 10 नाके लगाकर 300 पुलिसकर्मियों का पहरा लगा दिया गया। एडीसी ने बैठक करके धारा 144 लागू कर दी है। शांति व्यवस्था रखने के लिए 20 ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं। आग्नेय शस्त्र, तलवार, गंडासी, लाठी, बरछी, कुल्हाड़ी, जेली, चाकू और अन्य हथियार लेकर चलने और पांच या पांच से अधिक लोगों के एक साथ चलने पर पाबंद लगा दी गई है। ये आदेश 27 नवंबर तक जारी रहेंगे।

अतिरिक्‍त कर्मचारियों की ड्यूटी

पावर हाउस भी पुलिस के पहरे में रहेंगे। ठेके के 22 अतिरिक्त कर्मचारियों की ड्यूटी तक कर दी गई है। दिल्ली बार्डर तक ही बसें चलेंगी। पानी की सप्लाई बाधित न हो इसके लिए जनस्वास्थ्य विभाग ने भी कर्मचारियों को अलर्ट कर ड्यूटी तय कर दी है। प्रदेश और पंजाब में किसान नेताओं की गिरफ्तारी होने के बाद पानीपत के किसान नेता भूमिगत हो गए हैं। पुलिसकर्मी इन नेताओं के घरों के बाहर घूम रहे हैं। कई नेताओं को पुलिस अधिकारी काल कर कह रहे हैं कि चाप पीने के लिए उनके कार्यालय आ जाएं।

दो नाकों पर 100-100 पुलिसकर्मी,  आठ नाकों पर 10-10 पुलिसकर्मी तैनात

डीएसपी मुख्यालय सतीश कुमार वत्स ने बताया कि जिले के सभी थाना व चौकी प्रभारियों को अलर्ट कर दिया गया है कि वे हड़ताल के दौरान कोई संदिग्ध लोगों पर नजर रखें। अगर कोई गड़बड़ी करता है तो उसे काबू किया जाए। करनाल, जींद, सोनीपत और उत्तर प्रदेश की ओर से किसान दिल्ली की तरफ न जा सके। इसके लेकर टोल प्लाजा और समालखा में हल्दाना बॉर्डर के पास 100-100 पुलिसकर्मियों को तैनात कर दिया गया है। वाहनों की चेकिंग कर नजर रखी जा रही है। इसके अलावा असंध रोड पर नारा गांव, असंध नाका चौकी, पानीपत-रोहतक हाईवे पर शाहपुर, सनौली रोड पर यमुना पुल, हाईवे पर करहंस व चुलकाना रोड के पास नाके लगाए गए हैं। यहां पर 10-10 पुलिसकर्मी 24 घंटे अलर्ट रहेंगे।

कुंडली बार्डर तक चलेंगी बसें, आंदोलन उग्र हुआ तो बसें बंद रहेंगी

पानीपत बस स्टैंड प्रबंधक राजेश कादियान ने बताया कि बुधवार सुबह पानीपत से दिल्ली 15 बसें गई थी।10 गाडी बार्डर तक थी। शाम चार बजे बजे बाद बसें दिल्ली नहीं गई। चार बसें दिल्ली बार्डर तक ही गई। इसी तरह से अमृतसर, पटियाला, ब्यास और कटरा की चार बसें अंबाला तक ही भेजी गई थी। वीरवार को कुंडली तक बसें जाएंगे। अगर किसान दिल्ली कूच करेंगे तो दिल्ली बार्डर तक ही बसें चलेंगे। आंदोलन के हिसाब से जहां तक रास्ता खाली है। वहां तक ही गाड़ी भेजी जाएंगी। रोडवेज के पांच से सात ही कर्मचारी हड़ताल पर रहेंगे।

पंजाब और दिल्ली जाने वाली 50 बसों के थमे पहिये, अगले आदेश तक सेवा रद

रोडवेज बसों की सेवाएं अगले आदेश तक के लिए रद कर दी गई। आंदोलनकारी किसानों के हाईवे पर पहुंचने की सूचना पर 11 बजे दिन में अचानक रोडवेज प्रबंधन ने पंजाब और दिल्ली के साथ हिमाचल मार्ग पर चलने वाली बस सेवाओं को अगले आदेश तक के लिए बंद करने का आदेश दिया। प्रबंधन का आदेश मिलने के बाद बस अड्डा संचालन करने वाले अधिकारियों ने पंजाब के पटियाला, लुधियाना, जालंधर और चंडीगढ़ की तरफ जाने वाली बसों को परिसर में खड़ा करा दिया। इसके बाद दोपहर करीब 12 बजे दिल्ली मार्ग पर चलने वाली बसों को रोकने का आदेश दिया। इन मार्गो पर बसों का संचालन अगले आदेश तक नहीं करने को कहा है। छावनी बस अड्डे के एसएस शमशेर ने बताया कि पंजाब के जिलों और दिल्ली मार्ग पर कुल 50 बसों का संचलन अगले आदेश तक के लिए बंद कर दिया गया है। जीएम रोडवेज मुनीष सहगल ने बताया कि पंजाब और दिल्ली रोड पर फिलहाल बस सेवाएं बंद रहेगी।

Advertisement