Connect with us

City

सेक्टरों के 87 रिहायशी प्लॉटों की मेगा बोली 24 नवंबर को, 2 मरला से लेकर 1 कनाल तक प्लॉट बेचे जाएंगे

Published

on

Advertisement

सेक्टरों के 87 रिहायशी प्लॉटों की मेगा बोली 24 नवंबर को, 2 मरला से लेकर 1 कनाल तक प्लॉट बेचे जाएंगे

एचएसवीपी सेक्टर-13 में सबसे अधिक 44, सेक्टर-18 में 12 व सेक्टर-12 में 9 प्लॉटों की कराएगा बोली

Advertisement

हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण (एचएसवीपी) के 7 रिहायशी सेक्टरों में 87 प्लॉटों की मेगा बोली 24 नवंबर को होने जा रही है। जिसमें 2 मरला (65.77 वर्ग गज) से लेकर 1 कनाल (605 वर्ग गज) के प्लॉट हैं। सबसे अधिक प्लॉट सेक्टर-13 में हैं। जहां पर 44 प्लॉटों की बोली होगी।

इसके बाद सेक्टर-18 में 12 और सेक्टर-12 में 9 प्लॉट बोली में शामिल किए गए हैं। पानीपत के एचएसवीपी की ओर से 1050.88 करोड़ रुपए के प्लॉट के खाली होने की रिपोर्ट भेजी गई थी। जिसे मार्च 2022 तक बेचने का लक्ष्य है। अब तक करीब 300 करोड़ रुपए के प्लॉट बेचे जा चुके हैं। इसलिए, धड़ाधड़ प्लॉटों की बोली कराई जा रही है। इसी कड़ी में 24 नवंबर को रिहायशी प्लॉटों की बोली होने जा रही है। पानीपत का सेक्टर 18, 6, 7, 8, 40 व 13-17 पूरी तरह आबाद नहीं हो पाया। इनमें लगभग 450 प्लॉट खाली पड़े हैं।

Advertisement

इन सेक्टर्स में इतने प्लॉटों की हाेगी बाेली

सेक्टर-13 में सबसे अधिक 44 प्लॉट, सेक्टर-18 में 12 और सेक्टर-12 में 9 प्लॉटों की होगी बोली। इसी तरह से सेक्टर-25 पार्ट-2 में 9, सेक्टर-17 में 7, सेक्टर-24 में 4 और सेक्टर-11 में 2 प्लॉटों की होगी ई-बोली।

Advertisement

एचएसवीपी को नजदीक से जानने वाले एडवोकेट अमित राठी क्या कहते हैं इस बोली को लेकर

  • 1. रेवेन्यू बढ़ाने पर जोर : नए सेक्टर कट नहीं रहे हैं। पुराने सेक्टर में से अधिकांश निगम को ट्रांसफर हो चुके हैं। इंडस्ट्रियल एचएसआईआईडीसी में जा चुके हैं। प्रयास किया जा रहा है कि प्लॉट बेच रेवेन्यू इकट्‌ठा किया जाए।
  • 2. एचएसवीपी का मोटिव पूरा नहीं हुआ : आम लोगों को ड्राॅ से सेक्टरों में घर बनाने के लिए प्लॉट देने के लिए एचएसवीपी बनाया गया। वह मोटिव पूरा नहीं हुआ।

 

Advertisement