Connect with us

पानीपत

पानीपत बना ‘अंधेर नगरी’, शहर की 80% स्ट्रीट लाइट ख़राब

Published

on

Advertisement

पानीपत बना ‘अंधेर नगरी’, शहर की 80% स्ट्रीट लाइट ख़राब

 

शहर में खराब स्ट्रीट लाइटाें की मरम्मत में लगी एजेंसी का ठेका 6 फरवरी काे खत्म हाे जाएगा। इससे पहले एजेंसी का समय अागे बढ़वाने के लिए नगर निगम अधिकारी व जनप्रतिनिधि प्रयास में लग गए हैं। यह टीम 5 माह से शहर स्ट्रीट लाइटाें की मरम्मत कर रही है। धुंध जारी है। इसके बाद भी मुख्य मार्गाें पर ज्यादातर स्ट्रीट लाइट खराब ही हैं, जबकि निगम मरम्मत करने वाली टीम में शामिल 2 जेई व 46 कर्मचारियाें पर प्रतिमाह 8.50 लाख रुपए खर्च कर रहा है। बावजूद इसके शहरी क्षेत्र के पड़ने वाले सनाैली राेड, असंध राेड, बरसत राेड, गाेहाना राेड, जाटल राेड, सेक्टर-25/29 बाईपास समेत अन्य मुख्य मार्गाें के ज्यादातर हिस्साें में अंधेरा पसरा हुआ है।

Advertisement

धुंध में हादसाें से बचना है ताे खुद ही संभलकर चलें

Advertisement

पूरे शहर की बात करें ताे 15.059 लाइटाें में से 80 प्रतिशत खराब ही पड़ी हैं। ऐसे में लाेगाें काे खुद ही संभलकर चलना हाेगा। सड़काें पर बेसहारा गाेवंश भी घूमते हैं। इनके कारण गाड़ियां भी टकराने का डर बना रहता है, क्याेंकि ये अंधेरे में नजर नहीं आते।

फिटिंग उपलब्ध कराने वाली एजेंसी पर लगाने की जिम्मेदारी

Advertisement

सड़काें व चाैक चाैराहाें पर लगने वाली 1.77 करोड़ रुपए में खरीदी गई 9950 स्ट्रीट लाइटें अभी तक निगम के गोदाम में ही रखी हुई है। अब इनके लिए फिटिंग सामान उपलब्ध कराने वाली एजेंसी ही सड़काें पर लगाएगी और मरम्मत भी करेगी। इसके लिए निगम ने अलग से 1.66 कराेड़ रुपए का टेंडर निकाला है।

इस नंबर पर शिकायत कर सकते हैं

खराब स्ट्रीट लाइटाें की शिकायत शहरवासी निगम के लैंडलाइन नंबर 0180-2642500 पर या रजिस्टर में दर्ज कर सकते हैं। अभी जाटल राेड पर मरम्मत कार्य चल रहा है। इसके बाद असंध राेड पर मरम्मत शुरू हाेगी। काम काे देखते हुए ही मरम्मत का समय अागे बढ़वाने का फैसला लिया गया। प्रिंस, जेई, मरम्मत करने वाली टीम के प्रमुख।

खराब स्ट्रीट लाइटाें की शिकायत शहरवासी निगम के लैंडलाइन नंबर 0180-2642500 पर या रजिस्टर में दर्ज कर सकते हैं। अभी जाटल राेड पर मरम्मत कार्य चल रहा है। इसके बाद असंध राेड पर मरम्मत शुरू हाेगी। काम काे देखते हुए ही मरम्मत का समय आगे बढ़वाने का फैसला लिया गया। प्रिंस, जेई, मरम्मत करने वाली टीम के प्रमुख।

नई लाइट लगाने या मरम्मत में निगम की टीम लगी ताे ठेके की राशि में से उसी हिसाब से कटाैती हाेगी। अभी निगम की जाे टीम मरम्मत में लगी है, उसी काे नई लाइट लगाने में प्रयाेग किया जा सकता है। अगर ठेकेदार अपना कर्मचारी लगाता है ताे ही उसे पूरी राशि दी जाएगी। -वीरेंद्र मलिक, कार्यकारी एक्सईएन, नगर निगम, पानीपत।

Source : Bhaskar

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *