Connect with us

विशेष

अस्पताल के फ्रीजर में नहीं शव रखने की जगह? खुले में पड़े शवों का वीडियो वायरल

Published

on

Advertisement

अस्पताल के फ्रीजर में नहीं शव रखने की जगह? खुले में पड़े शवों का वीडियो वायरल

 

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के सबसे बड़े अस्पताल भीमराव अंबेडकर में कोरोना का खौफनाक मंजर देखने को मिल रहा है। इस अस्पताल का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है जिसमें अब तक की कोरोना की सबसे खतरनाक तस्वीर देखने को मिल रही है। वीडियो में धूप में स्ट्रचैर पर रखे शव साफ देखे जा सकते हैं। वीडियो के मुताबिक अस्पताल में शवों को रखने के लिए जगह नहीं है, फ्रीजर भर चुके हैं। जिसके कारण कई शवों को स्ट्रैचर पर धूप में रखा गया है और कुछ को तो जमीन पर ही रख दिया है।

Advertisement

इस वीडियो को देखने के बाद पता चल रहा है कि कोरोना वायरस ने हेल्थ केयर सिस्टम को तोड़ने का काम शुरू कर दिया है। लाशों को इस तरह रखा गया है जैसे वो शरीर नहीं मानों कोई सामान हो जिनको स्टॉक करके रखा जा रहा है। ऐसा कहा जा रहा है कि कोरोना मरीजों के शवों को अंतिम संस्कार के लिए भेजने और उनके परिवारों को देने में देर हो रही है जिसके कारण शव गृह भर गया है। शवों को रखने के लिए जगह ही नहीं बची है।

Advertisement

कोरोना ने अस्पतालों का बुरा हाल कर दिया है। अस्पतालों में जिन मरीजों की कोरोना से मौत हो रही है उन्हें शव गृहों में भेजा जा रहा है। अस्पतालों में हालत यह है कि आईसीयू और ऑक्सीजन वाले बेड भी भर चुके हैं। अस्पताल में कोई भी बेड खाली नहीं है। कोरोना के खिलाफ लड़ी जा रही इस लड़ाई में कुछ अस्पताल घुटने टेकने पर मजबूर हो गए हैं।

 

Advertisement

रायपुर की चीफ मेडिकल हेल्थ ऑफिसर मीरा बघेल कहती है, “कोई भी अंदाजा नहीं लगा सकता कि इतनी ज्यादा संख्या में मौतें होंगी। हमारे पास सामान्य स्थिति के हिसाब से पर्याप्त फ्रीजर हैं लेकिन अगर हम 10 से 20 के लिए तैयारी कर रहे हैं तो 50 से 60 लोगों की मौत हो रही है। एक साथ इतने अधिक फ्रीचर की व्यवस्था हम कैसे कर सकते हैं

 

 

Source : IBN 24

Advertisement