Connect with us

City

हरियाणा ही नहीं, देशभर से लोग यहां माथा टेकने पहुंच रहे हैं।

Published

on

हजारों की संख्या में लोग पानीपत पहुंच चुके हैं

हिंद की चादर सिखों के नौवें गुरु तेग बहादुर का 401वां प्रकाश पर्व राज्यस्तरीय पर पानीपत में मनाया जा रहा है। हरियाणा ही नहीं, देशभर से लोग यहां माथा टेकने पहुंच रहे हैं। मुख्यमंत्री मनोहरलाल पहुंच चुके हैं। पानीपत से जी आया नूं, यानी आपका स्वागत है, का संदेश दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डा.अमित अग्रवाल ने शनिवार को कार्यक्रम स्थल पर पहुंचकर तैयारियों का जायजा लिया। सीआइडी चीफ एवं एडीजीपी आलोक मित्तल ने सुरक्षा व्यवस्था देखीं।

jagran

देशभर से लोग पानीपत पहुंच रहे हैं। सुबह से ही संगत का आना शुरू हो गया है। हजारों की संख्या में लोग पानीपत पहुंच चुके हैं। गर्मी को देखते हुए विशेषतौर पर ठंडी लस्सी का इंतजाम किया गया है। इसके अलावा गन्ने के जूस की भी व्यवस्था की गई है।

jagran

यहां सेक्टर 13-17 में 25 एकड़ बनाया गया भव्य पांडाल पिछले तीन दिन से पानीपत के लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र बना हुआ है। 60 एकड़ में पार्किंग बनाई गई है। आयोजन समिति के संयोजक हैं सांसद संजय भाटिया। भाटिया ने बताया कि श्री गुरु साहिब के 401वें प्रकाशोत्सव के आयोजन का गवाह बनना हम सब के लिए गर्व की बात है।

jagran

22 क्विंटल फूलों से 50 घंटे मेहनत कर 24 कारीगरों ने सजाया भव्य मंच

मंच सजाने के लिए 22 क्विंटल फूलों का इस्तेमाल किया है भव्य मंच सजाने के लिए। दिन-रात 50 घंटे की मेहनत के बाद 24 कारीगरों ने इसे तैयार किया है। यहीं पर गुरु ग्रंथ साहिब का प्रकाश होगा और सुबह से शाम तक शबद-कीर्तन होगा।

यहां काम कर रहे कारीगर भोला राम ने बताया कि वह उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर से विशेषतः फूलों की सजावट के लिए यहां पहुंचे हैं। उनके साथ 24 कारीगरों ने यहां काम किया है। चार क्विंटल गुलाब के फूल, आठ क्विंटल मार्गरेट के फूल, पांच क्विंटल पीले रंग के गेंदे के फूल और पांच क्विंटल नारंगी रंग के गेंदे के फूल का इस्तेमाल किया गया है। सजावट के लिए ढाई क्विंटल हरी मेथी का भी इस्तेमाल किया गया है। 50 किलो मैदे की लेई भी बनाई गई थी, जिसे लगाकर फूलों को चिपकाया गया।

Guru Tegh Bahadur Jayanti 2022: पानीपत में संगतों का आना शुरू।

संगत के लिए निशुल्क होगी मेडिकल जांच

पानीपत के निजी व सरकारी डाक्टरों ने घोषणा की है कि समागम में आने वाली साधसंगत का निशुल्क मेडिकल चेकअप करेंगे। आवश्यक हुआ तो समागम के बाद इलाज का खर्च उठाएंगे। कार्यक्रम कमेटी के सदस्य एवं हरियाणा पंजाबी साहित्य अकादमी के अध्यक्ष गुरविंद्र सिंह धमीजा ने बताया कि समागम में नूंह, गुरुग्राम व फरीदाबाद सहित प्रदेश के हर कोने से संगत आएगी। इसके लिए टोल पर वाहनों के लिए विशेष लेन की व्यवस्था की गई है। संत बलजीत सिंह दादूवाला ने श्री गुरु तेग बहादुर जी के 401वें प्रकाशोत्सव को भव्य बनाने में सहयोग देने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल की सराहना की।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.