Connect with us

City

पानीपत टोल पर अब ज्यादा जेब ढीली करनी पड़ेगी।

Published

on

हरियाणा के पानीपत जिले में बने टोल प्लाजा बंद होने की उम्मीद है, लेकिन बंद होने की बात तो भूल जाओ, इनसे गुजरने के लिए अब ज्यादा जेब ढीली करनी पड़ेगी।

दरअसल, NH-44 स्थित टोल प्लाजा पर टैक्स बढ़ा दिया गया है। इसमें छोटे वाहनों का 5 व बड़े वाहनों का 15 रुपए किराया बढ़ाया गया है। मंथली पास बनवाने वाले वाहन चालकों को थोड़ी राहत मिलेगी, क्योंकि इनके लिए टैक्स में इजाफा नहीं किया।

पानीपत टोल प्लाजा से रोजाना लगभग 40 हजार वाहन गुजरते हैं। इन वाहनों में कार और गुड्स कैरियर वाहनों की तादाद सबसे अधिक है। पानीपत टोल प्लाजा से औसतन हर घंटे में एक हजार से अधिक कारें और 350 से अधिक बस और अन्य कमर्शियल वाहन क्रॉस होते हैं।

केंद्रीय मंत्री ने की थी बंद करने की घोषणा

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने 60 किलोमीटर से कम दूरी के बीच टोल नाका नहीं होने की बात कही थी, लेकिन टोल बंद नहीं किए गए। बल्कि सरकार पानीपत में एक और टोल लगाने की तैयारी कर रही है। मतलब यह कि अब पानीपत के पास 60 किलोमीटर के दायरे में 5 टोल प्लाजा हैं।

एक टोल पानीपत में तो दूसरा घरौंडा (करनाल) के पास है। इन दोनों टोल प्लाजा के बीच की दूरी 17 किलोमीटर है। सोनीपत जाते समय मुरथल टोल व डाहर का टोल आता है। अब तक यह पता नहीं कि इनमें से कौन-सा टोल बंद होगा, लेकिन सनौली की तरफ 5वां टोल तेज गति से तैयार किया जा रहा है।

टोल टैक्स खत्म न होने के संदर्भ में करनाल लोकसभा सांसद संजय भाटिया का कहना है कि फ्लाईओवर बनाने की ऐवज में टोल टैक्स लगा है। कंपनियां अपने एग्रीमेंट दिखा रही हैं। सबसे पहले संजय भाटिया ने संसद में यह मुद्दा उठाया था कि पानीपत में फ्लाईओवर का रास्ता प्रयोग नहीं करने वालों को भी टोल देना पड़ रहा है।

दिल्ली जाने वालों के लिए तो BBMB के पास रास्ता दिया गया, लेकिन जो लोग फ्लाईओवर के नीचे से जा रहे हैं] उन्हें सेक्टर-29 से होकर जाना पड़ रहा है। 3 किलोमीटर की परेशानी अलग से शहरवासियों को झेलनी पड़ रही है।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.