Connect with us

पानीपत

अब महिला सफाईकर्मी काे लगेगा पहला टीका, उसके बाद सीएमओ लगवाएंगे

Published

on

Advertisement

अब महिला सफाईकर्मी काे लगेगा पहला टीका, उसके बाद सीएमओ लगवाएंगे

 

टीकाकरण की शुभ घड़ी आई

Advertisement

दो सेंटरों पर तीन कमरे बनाए गए हैं। सेंटर पर एक वैक्सीनेटर ऑफिसर होगा। इसके अलावा तीन अन्य स्टाफ वैक्सीन देने का काम करेंगे। एक कमरे में एंट्री होगी, जबकि दूसरे कमरे में वैक्सीन लगाई जाएगी। तीसरा कमरा बाहर जाने के लिए होगा। जिसे वैक्सीन दी जाएगी, उसे तीस मिनट रुकना होगा, ताकि पता चल सके कि वैक्सीन से कोई साइड इफेक्ट तो नहीं हुआ है।

जिले में शनिवार को दाे सेंटराें (सिविल अस्पताल और एनसी मेडिकल काॅलेज) पर 200 हेल्थ वर्कराें काे काेराेना वैक्सीन लगेगी। सुबह 10:30 बजे पीएम मोदी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए वैक्सीनेशन प्रोग्राम की शुरुआत करेंगे। इसके बाद जिले में वैक्सीन लगाने की शुरुआत हाेगी। शुक्रवार काे वैक्सीन कार्यक्रम की अंतिम तैयारियाें काे लेकर सिविल अस्पताल में माॅक ड्रिल भी की गई।

Advertisement

 

कोरोना वैक्सीन के साथ सीएमओ और नोडल अधिकारी। - Dainik Bhaskar

Advertisement

 

कर्मचारियाें काे बताया गया कि काैन कहां से आएगा, कैसे कागज चेक करेंगे। ताे वहीं शाम साढ़े 4 बजे वीसी के माध्यम से मीटिंग भी हुई। इसमें सरकार ने आदेश दिए हैं कि अब सभी जिलाें में पहले टीका महिला सफाईकर्मियाें काे लगेगा। यानी अब सीएमओ डाॅ. संतलाल वर्मा पहले नहीं दूसरे नंबर पर टीका लगवाएंगे। वहीं अस्पताल में वैक्सीन का पहला टीका एएनएम अनीता लगाएंगी। वहीं एनसी मेडिकल काॅलेज में पहली डोज काॅलेज के प्रिंसिपल डॉ. टीवी रमैया काे लगेगी। नौल्था सीएचसी को 500 डाेज सिविल अस्पताल से भेजे हैं।

बेटे ने जताई चिंता, सीएमओ बोले घबराने वाली कोई बात नहीं है

सीएमओ डाॅ. संतलाल वर्मा ने बताया कि उन्होंने करीब 6 माह पहले एच-1 एन-1 का टीका सिविल अस्पताल में लगवाया था। तब भी काेई बीमारी नहीं थी। इसके अलावा मुझे याद नहीं मुझे कब टीका लगा था। जिले में पहले टीका लगवाने के लिए उन्होंने अपना नाम दिया था। पुणे में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे बेटे का फाेन आया कि आप ही पहले क्याें टीका लगवा रहे हैं। मैंने कहा कि ये एक अच्छा माैका है। ये वैक्सीन सबकाे लगवानी चाहिए। पहले नंबर पर टीका लगवाना था। लेकिन नई गाइडलाइन के मुताबिक महिला सफाईकर्मी काे पहले टीका लगेगा उसके बाद वे खुद लगवाएंगे।

पहला टीका एएनएम अनीता लगाएंगी

एएनएम अनीता ने कहा कि 10 सालाें से टीकाकरण कर रही हूं। गर्भवती व बच्चाें का टीकाकरण करती रही हूं। पहली बार इतनी खुश हूं कि काेराेना वैक्सीन लगाने के लिए मेरी ड्यूटी लगी है। ये मेरी ड्यूटी का हिस्सा है। इसके लिए मेरी ट्रेनिंग भी करवाई गई है। मुझे कोई घबराहट नहीं है। कोरोना काल में हम टीकाकरण करते रहे हैं। काेराेना के समय में भी हम तीन-चार सौ लोगों के बीच रहते हैं, इसलिए हमें इसे लगवाना जरूरी है। परिवार में बच्चे सहित सभी को जब बताया, तो वह भी बहुत खुश हो गए।

इन लोगों को नहीं लगाया जाएगा टीका

वैक्सीन 18 साल से नीचे वालाें काे नहीं लगेगी।

अगर किसी को किसी दूसरी बीमारी की वैक्सीन भी लगनी है तो कोविड वैक्सीन और अन्य बीमारी की वैक्सीन में 14 दिन का अंतर होना चाहिए।

अगर किसी में कोरोना के लक्षण हैं तो उसे ठीक होने के 4 से 8 हफ्ते बाद वैक्सीन लगाई जाएगी।

वैक्सीन स्टाेर काे ऑनलाइन देख सकती है सरकार

वैक्सीन स्टाेर पर एक मीटर लगा है। ये अधिकारियाें के माेबाइल से भी कनेक्ट है। इससे पता लगता है कि कितनी वैक्सीन इसमें रखी है, कितने तापमान पर रखी हैं। इससे जिले के सभी 29 केंद्राें के 85 फ्रीजर कनेक्ट हैं। बाकायदा सभी का रूट भी गूगल पर ऐड किया गया है। जिस वाहन में वैक्सीन भेजी जाती हैं, उसमें जीपीएस लगा है। वहीं 1075 टोल फ्री नंबर पर जरूरत पड़ने पर मदद ली जा सकती है।

यह है नई गाइडलाइन

पहला टीका महिला सफाईकर्मी काे लगेगा।

वैक्सीन लगवाने वाले का आधार कार्ड लिंक नहीं है फाेटाे आईडी से लिंक करेंगे।

टीका लगने के बाद प्रमाण पत्र मिलेगा

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *