Connect with us

Cities

NRI संग शादी से पहले ये किस्सा जरूर पढ़ें, वरना कानूनी पचड़े में फंसेंगी, जिंदगी बर्बाद समझो

Published

on

फाइल फोटो

केस स्टडी-1: 2011 में शादी रचाकर पति भाग गया अमेरिका
यह मामला रूपो माजरा की रंजना (बदला हुआ नाम) का है। 2011 में उसकी शादी महेश से हुई थी। चूंकि महेश अमेरिका में था इसलिए शादी में रंजना के परिवार की ओर से लाखों रुपये का दहेज दिया गया। शादी के बाद उसने जल्द रंजना को साथ ले जाने का वायदा किया। पर खुद जाने के बाद अब तक विदेश से नहीं लौटा। नौ साल के बेटे के साथ अब रंजना कई साल से इंसाफ के लिए कोर्ट के चक्कर काट रही है।

फाइल फोटो

केस स्टडी-2: कनाडा भागकर फिर नहीं लौटा पति
यह मामला डिफेंस कॉलोनी की दमन का है। 2012 में उसकी शादी पड़ोसी जिले कुरुक्षेत्र के गांव के संदीप सिंह से हुई थी। संदीप कनाडा में था इसलिए दमन के परिवार ने शादी पर दहेज के साथ 50 लाख रुपये खर्च किए। नई स्कोरपियो गाड़ी भी उसे दहेज में दी गई थी। पर शादी में मिले दहेज से वह खुश नहीं था। फिर दहेज की डिमांड को लेकर उसने दमन को प्रताड़ित किया। दहेज उत्पीड़न का केस दर्ज होने के बावजूद संदीप चुपचाप कनाडा भाग गया। वारंट जारी होने के बावजूद वह वापस नहीं लौटा। 40 हजार रुपये प्रति महीने का खर्च तय होने के बावजूद दमन को फूटी कौड़ी नहीं मिल पाई।

फाइल फोटो

केस स्टडी-3: खुद को बताया था ऑस्ट्रेलिया पुलिस में अफसर हूं
यह मामला बराड़ा के गुरजीत सिंह का है। उसने खुद को ऑस्ट्रेलिया पुलिस में अफसर बताकर पड़ोसी गांव की अजीत कौर से 2017 में शादी रचाई। चूंकि गुरजीत ने खुद को ऑस्ट्रेलिया पुलिस में अफसर बताया था इसलिए अजीत के परिवार की ओर से शादी में कोई कसर नहीं छोड़ी गई। लाखों रुपये का सोना चांदी दहेज में दिया। शादी के बाद उसने अजीत को साथ ऑस्ट्रेलिया ले जाने की भी बात कही थी। पर चुपचाप अपनी दुल्हन को छोड़कर वह विदेश भाग गया। इसके बाद वह वापस ही नहीं लौटा।

फाइल फोटो

20 फीसदी दुल्हनों की जिंदगी हो रही बर्बाद
विदेशी दूल्हों की ठगी का शिकार हो रही दुल्हनों को इंसाफ दिलवाने के लिए लबाना प्रोग्रेसिव फ्रंट ने बीड़ा उठाया है। फ्रंट के अध्यक्ष सरदार मक्खन सिंह लबाना ने कहा कि अंबाला के साथ कुरुक्षेत्र, कैथल व करनाल में ऐसे मामले सबसे ज्यादा हैं। लड़का विदेश में है यह सोचकर लोग अपनी बेटियों की शादी उनसे कर रहे हैं। पर शादी से पहले कोई परिवार यह नहीं देखता कि लड़का विदेश में कच्चा है या पक्का। शादी के बाद लड़का ससुरालियों का सारा माल समेटकर विदेश भाग जाता है। ऐसे में 20 फीसदी युवतियों की जिंदगी बर्बाद हो रही है। फ्रंट के सभी पदाधिकारी अब शादी समारोह के साथ क्रिया के कार्यक्रमों में भी लोगों को विदेशी ठगों के खिलाफ जागरूक कर रहे हैं। मैं ऐसे 25 मामलों की पैरवी कर रहा हूं, जिनमें शादी रचाकर दूल्हे विदेश भाग गए। दुल्हनें इंसाफ के लिए अब कचहरी के चक्कर काटने को मजबूर हैं। भगौड़ा घोषित होने के बावजूद पुलिस विदेश से दूल्हों को नहीं ला पाती। इसी वजह से दुल्हन को लंबी लड़ाई लड़नी पड़ती है। कुछ मामलों में तो दुल्हनों को बची जिंदगी बचाने के लिए समझौता करना पड़ता है। सिर्फ लालच की वजह से युवक विदेश से यहां शादी करने आते हैं। ज्यादातर मामलों में युवक पहले से ही विदेश में रिलेशनशिप में होते हैं।
– दलजीत पुनिया, क्रिमिनल लॉयर