Connect with us

पानीपत

डेंगू के साथ वायरल बुखार ने जकड़ा, रोज छह हजार से ज्यादा की ओपीडी

Published

on

डेंगू के साथ वायरल बुखार ने जकड़ा, रोज छह हजार से ज्यादा की ओपीडी

 

 

कोविड-19 महामारी का संकट तो पहले ही झेल रहे हैं। अब डेंगू व मलेरिया के साथ-साथ वायरल बुखार, सर्दी, खांसी व जुकाम ने जकड़ना शुरू कर दिया है। बदलते मौसम ने लोगों की और भी मुसीबतें बढ़ा दी हैं। सरकारी अस्पताल से मिले आंकड़ों के अनुसार राेजाना 320 व निजी अस्पतालों में 6000 से ज्यादा ओपीडी बुखार, सर्दी, खांसी व जुकाम की ही आ रही हैं। शहर में लगभग हर दूसरे व्यक्ति को इस तरह की परेशानी हो रही है।

कोविड-19 में व्यस्त स्वास्थ्य विभाग की टीमेें

स्वास्थ्य विभाग की टीमें इस समय कोविड-19 में ही लगी हैं। अधिकारियों का कहना है कि आशा वर्कर, एएनएम व मलेरिया विभाग के जुड़े कर्मचारी कोविड-19 में ही लगे हैं। वायरल बुखार, सर्दी, खांसी व जुकाम से लोगों को बचाने की ओर विभाग का फिलहाल कोई ध्यान नहीं है।

आमजन सतर्क होकर खुद बचे बीमारियों से

सीएमओ डॉ. संत लाल का कहना है कि लोगों को खुद भी सतर्क हाेना पड़ेगा। बीमारियों से परिवार व खुद को बचाने के लिए सावधानियां बरतनी होंगी। कूलर का पानी, गमलों का पानी व अन्य जगहों में पानी न ठहरने दें।

ढाबा मालिक, कारिंदों के कोरोना सैंपल लिए

स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने मॉडल टाउन एरिया में स्थित ढाबों के मालिकों व कारीगरों की कोराेना जांच भी की। विभागीय अधिकारियों ने कहा कि ढाबों व होटलों में दिनभर लोग आते जाते हैं। खाने पीने की चीजें भी लेकर जाते हैं। यहां पर सबसे ज्यादा संक्रमण फैलने का भय रहता है। इसी को ध्यान में रखते हुए कोरोना की जांच की है।

डेंगू से निपटने के लिए होने वाले ये 4 काम हैं बंद

1 मलेरिया विभाग की टीमों घर-घर जाकर लारवा जांच धीमा है। 2 मच्छर नष्ट करने वाली दवाइयाें का छिड़काव करना हाेता है, जोकि नहीं हो रहा है। 3 बुखार केस में ब्लड स्लाइड बनाते हैं, यह काम भी धीमा है। 4 लोगों को विभिन्न माध्यमों से जागरूक किया जाता है, जोकि बंद है।

ये सावधानियां बरतने पर बीमारियों से बचा जा सकता है

घर में कई प्रकार की सावधानियां व खानपान का ध्यान रखा जाए तो बीमारियों से बचा जा सकता है। सुनील मेमोरियल अस्पताल के डॉ. संजय सेन, एमबीबीएस एमडी का कहना है कि वायरल बीमारियों से खुद को बचाकर रखना बहुत जरूरी है।

शहद, नींबू और इलायची का मिश्रण : घर में ही आधा चम्मच शहद में एक चुटकी इलायची और कुछ नीबू के रस की बूंदें डालिए। इस सिरप का दिन में 2 बार सेवन करने से खांसी-जुकाम से राहत मिलेगी।

गर्म पानी: जितना हो सके गर्म पानी पीएं। इससे आपके गले में जमा कफ खुलेगा और आप सुधार महसूस करेंगे।

हल्दी वाला दूध: हल्दी वाला दूध जुकाम में काफी फायदेमंद होता है, क्योंकि हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट्स होते हैं। ये कीटाणुओं से हमारी रक्षा करते हैं। रात को सोने से पहले इसे पीने से तेजी से आराम पहुंचेगा।

मसाले वाली चाय: चाय में अदरक, तुलसी, काली मिर्च मिला कर सेवन करने से खांसी, जुकाम हल्के बुखार में काफी राहत मिलेगी।

अलसी के बीज: अलसी के बीजों को मोटा होने तक उबालें और उसमें नीबू का रस और शहद भी मिलाएं। इसका सेवन करने से जुकाम व खांसी से आराम मिलेगा।