Connect with us

पानीपत

हरियाणा रोडवेज के बेड़े में शामिल होंगी आठ सौ और नई बसें, खरीद को मिली मंजूरी

Published

on

Advertisement

हरियाणा रोडवेज के बेड़े में शामिल होंगी आठ सौ और नई बसें, खरीद को मिली मंजूरी

 

हरियाणा रोडवेज के बेड़े में 800 और नई बसें शामिल की जाएंगी। इससे राज्‍य में बसों की कमी दूर होगी और लोगों को बेहतर परिवहन सेवा मिलेगी। राज्‍य के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा का कहना है कि हरियाणा परिवहन विभाग घाटे में होने के बावजूद लोगों की सुविधाओं व हिताें से समझौता नहीं करेगा। नई बसें हरियाणा रोडवेज के बेड़े में एक साल के भीतर शामिल की जाएंगी। इन बसों की खरीद की मंजूरी मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदान कर दी है। चार सौ बसें अगले साल के शुरू में और बाकी बसों की खरीद अगले साल के अंत तक खरीद ली जाएंगी।

Advertisement

Traffic jam: 33 Haryana Roadways buses turned back from UP border

नई बसों की खरीद के साथ ही रोडवेज का बेड़ा 4250 बसों का होगा

Advertisement

नई आठ सौ बसों की खरीद के साथ ही हरियाणा रोडवेज की बसों की संख्‍या बढ़कर 4250 हो जाएगी। प्रदेश सरकार ने सभी रोडवेज महाप्रबंधकों को ऐसी तमाम बसों की मरम्मत कराने के भी निर्देश दिए हैं, जो मामूली कमियों की वजह से डिपो में खड़ी हैं। किसी बस का टायर नहीं है तो किसी का रिम नहीं है। किसी बस के शीशे टूटे हुए हैं। ऐसी सभी बसों को ठीक करने के बाद उन्हें हरियाणा रोडवेज के बेड़े में शामिल किया जाएगा।

हरियाणा रोडवेज की बेड़े में नई बसें शामिल की जाएंगी। (फाइल फोटो)

Advertisement

डिपो में खड़ी खराब बसें भी ठीक कराकर बेड़े में शामिल करने के निर्देश

हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा का कहना है कि रोडवेज महमका एकमात्र ऐसा है, जो किसी भी तरह के आंदोलन से प्रभावित होता है। पहले कोरोना की वजह से बसों का संचालन बंद रहा। अब किसान आंदोलन की वजह से दिल्ली व पंजाब में बसों की आवाजाही नहीं हो रही है। दिल्ली के लिए सिर्फ बार्डर तक कुछ बसें जा रही हैं, लेकिन इनकी संख्या काफी कम है। इससे रोडवेज का लगातार नुकसान हो रहा है।

बता दें कि रोडवेज पहले ही करीब पांच सौ करोड़ रुपये के घाटे में है, लेकिन इस घाटे को पूरा करने के लिए परिवहन मंत्री और विभाग के प्रधान सचिव आइपीएस अधिकारी शत्रुजीत कपूर कार्य योजना तैयार कर रहे हैं।

मूलचंद शर्मा ने एक सवाल के जवाब में कहा कि न तो कोरोना रहेगा और न ही आंदोलन रहेगा।

 

उन्‍होंने कहा कि दोनों जल्द निपटने वाले हैं। इसलिए रोडवेज की बसों का सुचारू संचालन दोबारा से शुरू हो जाएगा। उन्होंने बताया कि रोडवेज महाप्रबंधकों से उनके बेड़े में शामिल चालू और खराब हालत की सभी बसों की रिपोर्ट तलब की गई है, ताकि अगली कार्य योजना बनाते समय इनका आकलन किया जा सके।

 

Source : Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *