Connect with us

पानीपत

शहर अंधेरे में, नई लाइटों की जांच के लिए मुंबई जाएंगे पार्षद

Published

on

Advertisement

शहर अंधेरे में, नई लाइटों की जांच के लिए मुंबई जाएंगे पार्षद

 

शहर में स्ट्रीट लाइट लगाए जाने का टेंडर जारी हो चुका है। उम्मीद थी कि दिवाली से पहले लाइटें लग जाएंगी। ऐसा हुआ नहीं। कंपनी ने सैंपल ही नहीं भेजा। अब पार्षद दुष्यंत भट्ट और रवींद्र भाटिया क्रांप्टन कंपनी के कार्यालय मुंबई में जाकर लाइटें चेक करेंगे। इनके साथ जेई गौरव कुमार भी होंगे। लैब में जांच के बाद ये तीनों सहमति देंगे तो लाइटें आएंगी। तीन सदस्यीय कमेटी की अध्यक्षता दुष्यंत भट्ट कर रहे हैं। कंपनी के खर्च पर प्लेन से मुंबई रवाना होंगे।

Advertisement

कमेटी के चेयरमैन दुष्यंत भट्ट ने बताया कि पांच नवंबर को कमेटी मुंबई जाएगी। छह नवंबर को वापस लौटेगी। इस दौरान स्ट्रीट लाइट की गुणवत्ता की जांच कर रिपोर्ट निगम को दी जाएगी। उसके बाद इन स्ट्रीट लाइटों को लगाने का काम शुरू होगा।

मेयर चुनावों में ईवीएम गड़बड़ी का मामला कोर्ट पहुंचा, अगले माह होगी सुनवाई  - question on evm in panipat mc case reached in court

Advertisement

पौने दो करोड़ का टेंडर

शहर में स्ट्रीट लाइट लगाने के लिए पौने दो करोड़ का टेंडर लगा है। 9200 लाइटें लगाई जानी हैं। इस बार शर्त है कि कंपनी को बेस कलर अलग देना होगा, ताकि नई व पुरानी लगी लाइटों में पहचान हो सके। गारंटी के साथ लाइटी लगेंगी। लाइटों की कीमत अलग-अलग हैं।

Advertisement

 

भट्ट ने उठाया था घोटाले का मुद्दा

दुष्यंत भट्ट ने ही कुछ महीने पहले स्ट्रीट लाइट घोटाला उठाया था। कबाड़ का सामान लगाकर करोड़ों रुपये की लाइटों का बिल बना दिया गया। यहां तक की पानी की लाइन वाले पाइप तक को स्ट्रीट लाइट के लिए लगा दिया गया। भट्ट का कहना है कि करीब तीन करोड़ का घोटाला हुआ था। उन्होंने जांच करके सौंप दी थी। अब कार्रवाई अफसरों को करनी है।

 

 

Source : Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *