Connect with us

पानीपत

वार्ड 9 में ड्रेन पर अतिक्रमण, स्ट्रीट लाइटें भी बंद

Published

on

Advertisement

वार्ड 9 में ड्रेन पर अतिक्रमण, स्ट्रीट लाइटें भी बंद

 

शहर के वार्डो में सफाई और रोशनी की समस्या चरम पर है। ड्रेन, नाले और नालियों पर कब्जा है। इससे इनकी सफाई प्रभावित हो रही है। एक साल से बिजली का टेंडर नहीं लगाने से सड़कों व गलियों में अंधेरा छाया रहता है। स्ट्रीट लाइटें महीनों से बंद पड़ी हैं। वार्ड-9 के लोग भी इन समस्याओं से जूझ रहे हैं।

Advertisement

वार्ड की आबादी तीन हजार के करीब है। यहां पांच सफाई कर्मी हैं। बाजार और घनी आबादी का भाग होने से गंदगी से लोगों को परेशानी होती है। कर्मचारी से अधिकारी तक शिकायत करने के बाद भी कोई ध्यान नहीं देता है।

वार्ड 9 में ड्रेन पर अतिक्रमण, स्ट्रीट लाइटें भी बंद

अतिक्रमण की भेंट चढ़ी ड्रेन

Advertisement

कस्बे की आधी आबादी का गंदा पानी वार्ड 9 की इस ड्रेन से गुजरता है। मातापुली मोड़ से लेकर ब्लूजे रोड तक ड्रेन पर अतिक्रमण और कब्जे हैं। कई जगह घरों के सामने आरसीसी ढलाई कर ड्रेन को ढक दिया गया है। इससे इसकी जेसीबी से सफाई नहीं हो पाती है। गहराई होने से कर्मचारियों को सफाई में दिक्कत होती है। पूर्व पार्षद राजू के अनुसार इसकी चौड़ाई नक्शे में 56 फीट है, जबकि मौके पर यह तीन से छह फीट है। बगल से गुजर रही सड़क को जोड़ने से भी 10 से 12 फीट ही चौड़ाई होती है।

ड्रेन में फेंकते कचरा

Advertisement

कस्बे की मुख्य ड्रेन को लोगों ने कूड़ा घर बना दिया है। सब्जी और फल की रेहड़ी से लेकर गोदाम, मकान व दुकान वाले पॉलिथिन में कूड़ा लेकर ड्रेन में फेंकते हैं। नपा कर्मचारियों को सफाई में मुश्किल होती है। उनका कचरा निकालने में ही समय बर्बाद हो जाता है। इससे रास्ते की सफाई प्रभावित होती है।

रास्ते पर मलबे का ढेर

गोल्डन पार्क और ड्रेन के बीच से गुजर रही सड़क को लोगों ने मलबा ग्राउंड बना दिया है। सड़क पर ईट के टुकड़े, पत्थर, गोबर के उपलों के ढेर लगे हैं। सड़क गंदगी से अटी पड़ी है। पार्क में सैर करने वाले सहित राहगीरों को आवाजाही में परेशानी हो रही है।

नाले भी नहीं बने

पार्षद जयपाल कुहाड़ कहते हैं कि एक साल से मरम्मत का टेंडर नहीं लगने से पूरे शहर की स्ट्रीट लाइटों को मरम्मत की दरकार है। नाले पर अतिक्रमण से सफाई में दिक्कत होती है। उन्होंने करीव 1.25 करोड़ के विकास कार्य करवाए हैं। पांच नई गली बनवाई हैं तो दो की मरम्मत करवाई है। नाले नहीं बने हैं, लेकिन नालियों की मरम्मत करवाई गई है। 60 लाख की लगात से आधुनिक कम्युनिटी सेंटर बनवाया है।

 

 

Source : Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *