Connect with us

पानीपत

दूसरे दिन भी वैक्सीनेशन के लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर पाया पानीपत, 130 हुए वैक्सीनेट

Published

on

Advertisement

दूसरे दिन भी वैक्सीनेशन के लक्ष्य को प्राप्त नहीं कर पाया पानीपत, 130 हुए वैक्सीनेट

पानीपत में कोरोना वैक्सीनेशन के दूसरे दिन भी लक्ष्य प्राप्त नहीं हो सका। सोमवार को कुल 130 हैल्थ वर्कर्स ने वैक्सीन लगवाई। जबकि शनिवार को 140 हैल्थ वर्कर्स को वैक्सीनेट किया गया था। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि हैल्थ वर्कर्स के छुट्‌टी पर होने और व्यस्त होने के कारण लक्ष्य पूरा नहीं हो पा रहा है। अब मंगलवार से समालखा अस्पताल में जिले का तीसरा वैक्सीनेशन सेंटर शुरू किया जाएगा।

पहले चरण में पानीपत के 6660 हैल्थ वर्कर्स को टीका लग रहा है। पानीपत को वैक्सीन के इतने ही डोज मिले हैं। जिनके लिए कोरोना वैक्सीनेशन के 5 सेंटर बनाए गए थे। हैल्थ वर्कर्स के रूचि न दिखाने के कारण स्वास्थ्य विभाग ने वैक्सीनेशन सेंटर की संख्या 5 से घटाकर 2 कर दी थी। दोनों ही सेंटर पर रोजाना 100 वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया। इसके बाद भी पानीपत में लक्ष्य प्राप्त नहीं हो पा रहा है।

Advertisement

सिविल अस्पताल में हैल्थ वर्कर को वैक्सीन लगातीं नर्स। - Dainik Bhaskar

वैक्सीनेशन के पहले दिन कुल 140 हैल्थ वर्कर्स को वैक्सीनेट किया गया। स्वास्थ्य विभाग ने सोमवार को लक्ष्य से अधिक वैक्सीन लगाने का दावा किया, लेकिन पूरा नहीं हो पाया। सोमवार को सिविल अस्पताल के वैक्सीनेशन सेंटर पर 70 और इसराना स्थित NC कॉलेज के वैक्सीनेशन सेंटर पर 60 हैल्थ वर्कर्स को वैक्सीन लगाई गई।

Advertisement

मंगलवार से समालखा में वैक्सीनेशन सेंटर
स्वास्थ्य विभाग ने जिले में तीसरा वैक्सीनेशन सेंटर शुरू करने का निर्णय लिया है। मंगलवार से समालखा अस्पताल में वैक्सीनेशन सेंटर शुरू किया जाएगा। ताकि वैक्सीन लगवाने के लिए समालखा के हैल्थ वर्कर्स को पानीपत ना आना पड़े। तीसरा वैक्सीनेशन सेंटर शुरू होने से स्वास्थ्य विभाग को लक्ष्य के करीब पहुंचने की उम्मीद है।

सीधे मुख्यालय से रखी जा रही वैक्सीन पर नजर
CMO डॉ. संतलाल वर्मा ने बताया कि वैक्सीन पर सीधे मुख्यालय से नजर रखी जा रही है। रेफ्रीजरेटर को एप जोड़ा गया है। जो स्टोर की गई वायल और डोज की संख्या के साथ तापमान की जानकारी उपलब्ध कराता है। विभाग की ओर से भी रोजाना लगने वाली और बचने वाली वैक्सीन से मुख्यालय को अवगत कराया जा रहा है। किसी कारण निर्धारित दिन में टीका न लगवा पाने वाले हैल्थ वर्कर्स बाद में टीकाकरण करा रहे हैं।

Advertisement

 

Advertisement