Connect with us

राज्य

स्वजनों को शक, कार में शव किसी और का था, डीएनए जांच कराएंगे

Published

on

Advertisement

स्वजनों को शक, कार में शव किसी और का था, डीएनए जांच कराएंगे

जीटी रोड पर सोनीपत में बड़ी औद्योगिक क्षेत्र के पास कार में आग लगने की घटना को स्वजनों ने साजिश माना है। उनके अनुसार, कार में जो शव मिला है वो वासु जैन का नहीं है। डीएनए जांच के बाद ही उन्हें यकीन होगा कि ये शव वासु का था या नहीं। उन्होंने किला थाना पुलिस में गुमशुदगी का केस दर्ज कराया है। इसके साथ ही, खुद भी सीसीटीवी कैमरों की फुटेज तलाशनी और आसपास के लोगों से बातचीत शुरू कर दी है। इस बीच, कार में मिले शव को खानपुर मेडिकल कालेज रखवाया गया है। बुधवार को पोस्टमार्टम होगा और डीएनए जांच के लिए सैंपल भेजे जाएंगे।

Advertisement
स्वजनों को शक, कार में शव किसी और का था, डीएनए जांच कराएंगे

पानीपत के अंसल सिटी में रहने वाले कपड़ा व्यापारी 27 वर्षीय वासु जैन की बरसत रोड पर दुकान है। सोमवार को सुबह 9:40 बजे दुकान से निकल गया था। घर में गर्भवती पत्नी पूजा को फोन पर कहा कि गाड़ी की सर्विस कराने जा रहा है। इसके बाद से वासु का कुछ पता नहीं चला। शाम को स्वजनों को पता चला कि स्विफ्ट कार में आग लग गई है। उसी में वासु जैन की जलने से मौत हो गई। आठ महीने पहले हुई थी शादी

वासु की आठ महीने पहले 2 मार्च को पूजा से शादी हई थी। समालखा का घर बेचकर पानीपत अंसल में शिफ्ट किया था। चार महीने पहले पिता की मौत हो गई थी। पत्नी गर्भवती है। कुछ दिन में ही डिलीवरी होने वाली है। बहन का हुआ था बेटा, दिल्ली जाना था परिवार को

Advertisement

 

वासु की दो बहने हैं। एक बहन की दिल्ली में शादी हुई है। एक बहन पानीपत में है। मामा के बेटे नीरज ने बताया कि वासु परिवार का इकलौता बेटा है। बहन के घर बेटा हुआ है। मंगलवार को ही परिवार को दिल्ली जाना था। वासु खुद सारी खरीदारी कर रहा था। वासु नहीं था वो..स्वजनों को इसलिए शक

Advertisement

 

 

1- वासु का दिल्ली, सोनीपत की तरफ कोई काम नहीं था। वह वहां क्यों गया। जरूर कोई साजिश है, कार में मिला शव वासु का नहीं हो सकता।

2- आग की लपटों में घिरी कार दिख रही है, आग अंदर से लगी है, बोनट पर कोई आंच नहीं है। इसका मतलब अंदर से आग लगाई गई है।

3- शव कंडक्टर साइड में है। अगर वासु आग की चपेट में आया होता तो वह ड्राइवर सीट पर होता।

4- गाड़ी सर्विस रोड पर मिली है, ऐसा लगता है कि इसे पार्क किया गया था, यहां गाड़ी क्यों खड़ी की गई?

5- पास ही चाय बेचने वाले ने बताया कि गाड़ी एक से डेढ़ घंटे तक खड़ी थी। उन्होंने आग लगने पर कार को देखा और इसे बुझाने का प्रयास किया। किसी ने गाड़ी को आग लगाई

 

 

वासु जैन के बहनोई नीरज जैन का कहना है कि उन्हें शक है यह हादसा नहीं, साजिश है। किसी ने गाड़ी को आग लगाई है। ऐसा कभी नहीं होता कि सड़क किनारे खड़ी कार में आग लगे और चालक सुरक्षित बाहर न निकल सके। इससे पहले यह जानना भी जरूरी है कि कार में मिला शव वासु का है या किसी दूसरे का। पुलिस ने कहा, शव लेकर जाओ

सोनीपत पुलिस ने स्वजनों से कहा कि शव आपकी गाड़ी से मिला है, इसलिए आपको ही ले जाना होगा। संस्कार आपको कराना होगा। बहनोई नीरज जैन ने जागरण से बातचीत में कहा कि अभी परिवार के साथ इसी विषय पर बात कर रहे हैं। डीएनए जांच के बाद ही उन्हें पता चलेगा कि शव किसका है। हांसी में हो चुकी एक घटना

हांसी में कारोबारी राममेहर की ऐसे ही मौत की पहले खबर आई थी। बाद में पता चला कि राममेहर ने गांव के एक व्यक्ति की हत्या की। उसका शव कार में रखा, खुद कार में आग लगाई। खुद की मौत घोषित करवाकर, नई जिदगी शुरू करना चाहता था। बीमा की राशि से कर्जा भी उतारना चाहता था। उसे हांसी की एक महिला के साथ छत्तीसगढ़ में बसना था।

 

 

Source : Jagran

Advertisement