Connect with us

पानीपत

पानीपत से छह गांवों के किसान दिल्ली रवाना, गांवों से निकले ट्रैक्टर

Published

on

Advertisement

पानीपत से छह गांवों के किसान दिल्ली रवाना, गांवों से निकले ट्रैक्टर

 

पानीपत में नेशनल हाईवे पर टोल प्लाजा और डाहर के पास टोल प्लाजा पर किसानों व उनके समर्थकों ने धरना दिया। खास बात ये है कि अब दिल्ली बार्डर पर ट्रैक्टर कम और निजी गाड़ियां ज्यादा दिख रही हैं। 26 जनवरी की ट्रैक्टर परेड के बाद निजी गाड़ियों में किसान समर्थक पहुंच रहे हैं। उधर, अभय चौटाला के इस्तीफे के बाद इंडियन नेशनल लोकदल से जुड़े नेता सक्रिय हो गए हैं। इनेलो के पानीपत ग्रामीण अध्यक्ष कुलदीप राठी डाहर में धरने पर पहुंचे।

Advertisement

उग्राखेड़ी गांव में एक दिन पहले छह गांव के किसानों ने पंचायत की थी। इन्होंने फैसला किया था रविवार सुबह दस बजे रिसालू रोड से प्रत्येक गांव से ट्रैक्टरों पर सवार होकर सिघु बार्डर पर पहुंचेंगे। वहां पर छह गांवों की एकता का टेंट लगा है। वहां पर धरना देंगे। इसके साथ-साथ इन गांवों से मदद पहुंचाई जाएगी। रिसालू रोड से पूर्व सरपंच बिटू मलिक ने इन किसानों को रवाना किया। कुटानी, राजाखेड़ी, उग्राखेड़ी, निबरी, रिसालू और नांगलखेड़ी के गांवों का एक संगठन हैं। इन गांवों के सरपंच उग्राखेड़ी में एकजुट हुए थे। अब मंच लगाने की तैयारी

पानीपत से छह गांवों के किसान दिल्ली रवाना, गांवों से निकले ट्रैक्टर

जीटी रोड पर टोल के नजदीक अब मंच लगाने की तैयारी है। दरअसल, अब तक केवल धरना चल रहा है। इसके अलावा साथ ही लंगर चलाया जा रहा है। पंजाब की तरफ से आने वाले किसानों को यहां खाना खिलाया जाता है। अब इसी जगह के पास मंच लगाने की तैयारी है। यानी, अपनी बात कहने के लिए माइक की व्यवस्था भी होगी। संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले ये मंच लगाया जाएगा।

Advertisement

 

Advertisement

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *