Connect with us

Medical Update

पानीपत में भविष्‍य की तैयारी, आइसोलेशन केंद्रों में चाहिए 2500 बेड, फिलहाल 1321 तैयार

Published

on

पानीपत में भविष्‍य की तैयारी, आइसोलेशन केंद्रों में चाहिए 2500 बेड, फिलहाल 1321 तैयार

 

 कोविड-19 संक्रमित और आशंकित मरीजों की संख्या प्रतिदिन बढ़ रही है। जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के समक्ष भी यह नई चुनौती है। सरकार ने कोविड केयर सेंटर, हेल्थ केयर सेंटर, कोविड अस्पतालों में 2500 बेड तैयार करने के आदेश दिए हैं। तमाम मशक्कत के बाद अभी तक 1321 बेड तैयार हो सके हैं।

पानीपत में भविष्‍य की तैयारी, आइसोलेशन केंद्रों में चाहिए 2500 बेड, फिलहाल 1321 तैयार

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक आयुष्मान भव अस्पताल को अधिग्रहित कर कोविड-19 अस्पताल बनाया गया था। अस्पताल की ओपीडी पूरी तरह से ठप होने के चलते इसे सूची से बाहर कर दिया गया है, ताकि अस्पताल में सामान्य मरीज इलाज के लिए पहुंचते रहें। इसराना स्थित एनसी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल सबसे बड़ा कोविड केयर सेंटर है। इसमें 60 बेड तो अप्रैल में ही अधिग्रहित कर लिए गए थे। 500 बेड इसी माह अधिग्रहित कर, रङ्क्षनग स्थिति में ला दिया है। इनके अलावा आठ कोविड केयर सेंटरों में 408 बेड, चार हेल्थ केयर सेंटरों में 225 बेड और कोविड अस्पताल पार्क में 38 बेड हैं। एग्रो मॉल और सिविल अस्पताल के बेसमेंट का प्रपोजल बनाकर सरकार के पास भेजा गया है। रोड धर्मशाला, एसडी कॉलेज सहित कई भवनों को भी अधिग्रहित कर लिया गया है।

केंद्रों की कमान संभाल रहे डिप्टी सिविल सर्जन डा. सुधीर बतरा ने बताया कि कोविड-19 के तहत जिले में बिस्तरों की संख्या पर्याप्त है। भविष्य में अधिक की जरूरत पड़ी को क्वारंटाइन केंद्रों को कोविड केयर सेंटर और हेल्थ केयर केंद्रों में तब्दील कर दिया जाएगा।