Connect with us

पानीपत

पानीपत में 250 पेड़ काट दिए गए सेक्टर-29 में, ज़िम्मेदारों की आँखें बंद

Published

on

Advertisement

पानीपत में 250 पेड़ काट दिए गए सेक्टर-29 में, ज़िम्मेदारों की आँखें बंद

 

पानीपत के सेक्टर-29 पार्ट-2 में सड़क किनारे खड़े करीब 250 हरे पेड़ काट दिए गए हैं। पेड़ काटने में प्राइवेट लेबर लगी हुई है। लेबर ने बताया कि ठेकेदार ने उन्हें पेड़ काटने का काम दिया। वन विभाग सेक्टर में लगे पेड़ों को नगर निगम और हुडा के अंडर बता रहा है। किसी भी विभाग को कानों-कान खबर नहीं हुई और सैकड़ों हरे पेड़ काट दिए गए।

Advertisement

पानीपत समेत पूरा हरियाणा प्रदूषण से जूझ़ रहा है। उद्योग नगरी पानीपत की आबोहवा दम घोंटू होती जा रही है। मानसून के सीजन में शासन से लेकर प्रशासन और वन विभाग लाखों पौधे रोपने का दावा करता है। हालांकि इसके बाद रौपे गए पौधों की देखरेख न होने के कारण उनमें से आधे पनपने से पहले ही दम तोड़ देते हैं। जो पेड़ बड़े हा जाते हैं उनपर खुलेआम आरा चल रहा है। कुछ समय पहले सेक्टर-29 की डिवाइडर रोड पर बैंक्वट हॉल संचालकों ने पार्किंग के लिए हरे पेड़ों को कटवा दिया था। इस मामले में भी कुछ नहीं हुआ।

Advertisement

सड़क किनारे काट रहे पेड़

अब सेक्टर-29 के पार्ट-2 में सड़क किनारे खड़े सैकड़ों हरे पेड़ों को काट दिया गया है। जागरण की टीम पहुंची तो पेड़ काट रही लेबर ने दौड़ लगा दी। उन्हें समझाकर पूछताछ की तो बताया कि ठेकेदार ने उन्हें दिहाड़ी पर लगाया है। बताया कि आसपास के फैक्ट्री संचालकों को पार्किंग के लिए जगह चाहिए। जिसके लिए पेड़ों को कटवाया जा रहा है। सड़क किनारे खुलेआम कई दिनों से पेड़ काटे जा रहे हैं और जिम्मेदार अधिकारियों को खबर तक नहीं है।

Advertisement

नगर निगम और हुडा की है प्रॉपर्टी

वन विभाग के रेंज ऑफिसर जयकिशन ने बताया कि हुडा सेक्टर के अंदर की प्रॉपर्टी नगर निगम और हुडा की है। दोनों ही विभाग हरित क्षेत्र के जिम्मेदार हैं। इन विभाग के अधिकारी ही इस मामले में कार्रवाई करेंगे।

 

 

Source : Jagran 

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *