Connect with us

राज्य

हरियाणा के कई जगह फिर टोल प्‍लाजा पर धरना, कुछ स्‍थानों पर टकराव

Published

on

Advertisement

हरियाणा के कई जगह फिर टोल प्‍लाजा पर धरना, कुछ स्‍थानों पर टकराव

 

दिल्‍ली में किसानों की ट्रैक्‍टर रैली के दौरान हिंसा के बाद सिंघु और टिकरी बार्डर पर आंदोलन कर रहे किसानों का वहां से लौटाने का क्रम जारी है। दूसरी ओर, ह‍रियाणा के कई गांवों से किसान दिल्‍ली की ओर रवाना हो रहे हैं। यमुनानगर में टोल प्‍लाजा पर एक बार फिर किसान धरने पर बैठ गए हैं। दूसरी ओर, सिंघु बार्डर के बाद बहादुरगढ़ मेें टिकरी बार्डर पर भी आंदोलनकारी किसानों और स्‍थानीय लोगों के बीच टकराव हो गया।

Advertisement

कैथल, करनाल सहित कई जगहों पर किसान प्रदर्शन कर रहे हैंं और सड़क पर जाम लगाया। उधर, बहादुरगढ़ में टिकरी बोर्डर पर भी स्‍थानीय लोगों ने किसानों के धरने का विरोध किया। इस कारण वहां टकराव की स्थिति पैदा हाे गई। पुलिस दोनों पक्षों को शांत रखने और हालात को नियंत्रित करने में जुटी है। रोहतक में मकड़ौली टोल प्लाजा पर किसान आंदोलन को लेकर किसान व ग्रामीण पर बैठ गए हैं।

दूसरी ओर, साेनीपत के पास सिंघु बार्डर पर टकराव के बाद बहादुरगढ़ में भी टिकरी बार्डर पर धरना दे रहे किसानों का विरोध करने काफी संख्‍या में स्‍थानीय लोग पहुंच गए। उन्‍होंने नारेबाजी और आंदोलनकारी किसानों से टिकरी बार्डर खाली करने को कहा। इसके बाद वहां तनाव की हालत पैदा हो गई। पुलिस को हालात पर काबू पाने के लिए काफी मशक्‍कत करनी पड़ी।

Advertisement

बता दें कि बीती रात पंचायत कर हरियाणा के  कई गांवाें के किसानों ने दिल्‍ली कूच करने और आंदोलन में शामिल होने का ऐलान‍ किया । किसानों की जींद के कंडेला सहित राज्‍य के कई जिलाें में देर रात पंचायतें हुईं। इन गांवों से किसानों ने आज दिल्‍ली कूच करने की बात कही है। कुछ जगहों से रात में ही किसान ट्रैक्‍टरों में दिल्‍ली की ओर रवाना हो गए।

Advertisement

पानीपत में टोल प्‍लाजा पर पहुंचे किसान।  

यमुनानगर में टोल प्‍लाजा पर किसान पहुंच गए और वहां धरना शुरू कर दिया। हरियाणा के कई जगहों से किसान दिल्‍ली में आंदोलन में शामिल होने के लिए रवाना हो रहे हैं। पानीपत टोल पर भी दोबारा से किसान जुटना शुरू गए हैं। टोल फ्री करा दिया गया है। किसानों ने एक बार फिर से धरना शुरू कर दिया है। इसके साथ ही लंगर सेवा भी शुरू हो गई है। भारी पुलिस बल तैनात है।

यमुनानगर में टोल प्‍लाजा पर धरना देते किसान।

 

कुरुक्षेत्र में हिसार-अंबाला हाईवे स्थित थाना और सैनी माजरा गांव स्थित टोल प्लाजा पर किसानों का जमावड़ा लगातार बढ़ रहा है। प्रशासन और पुलिस भी किसानों पर टोल खाली कराने के लिए लगातार दबाव बना रहा है। प्रशासन ने किसानों को टोल खाली करने की अपील भी की है। इधर गांवों में लोगों ने आंदोलन के लिए फिर से इकट्ठा होना शुरू कर दिया है।

जींद से इनपुट

कंडेला खाप की पंचायत की। इसमें कहा गया कि सरकार ने दिल्ली बॉर्डर्स पर पुलिस एक्शन किया तो ईंट से ईंट बजा देंगे। कहा सरकार कंडेला गांव का इतिहास याद रखे, बोले कंडेला काण्ड बनते देर नही लगेगी।

खाप ने किया एलान बोले हर घर एक व्यक्ति और गांव के ट्रेक्टर्स जाएंगे दिल्ली की सीमाओं पर। बोले दोबारा एक्शन हुआ तो हरियाणा में इसके भयंकर परिणाम सामने आएंगे

किसानों ने जींद-चंडीगढ़ मार्ग पर जाम लगा दिया। वीरवार रात को भी इसी मार्ग पर कंडेला गांव के पास किसानों रोड जाम किया था। सुबह फिर से चुहड़पुर के पास रोड जाम कर किसानों ने विरोध जताया। करनाल में बसताड़ा टोल प्लाजा पर एकत्र हुए किसानों को हटाया गया। बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया। उपायुक्त निशांत कुमार यादव की मौजूदगी में कड़े सुरक्षा प्रबंध किए गए हैं।

 

कैथल से किसान ट्रैक्टर व गाड़ियों से दिल्ली के लिए रवाना हुए। किसानों का कहना है कि सरकार किसानों को भड़काना चाहती है, धरना को खत्म करवाना चाहती है। किसान इससे किसी कीमत पर सहन नहीं करेगा। भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष होशियार सिंह गिल ने कहा कि रात को प्यौदा, भाणा, पाई, सेरधा, बालू व किठाना गांव से एक दो ट्रैक्टरों व गाड़ियों से लोग रात को दिल्ली कूच के लिए दोबारा निकल गए हैं।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत की रोते हुए तस्वीर और बयान वायरल होने के बाद देर रात हरियाणा के कई जिलों में ग्रामीणों ने पंचायत की और तत्काल दिल्ली लौटने का आह्वान किया। जींद, चरखीदादरी, भिवानी और हिसार समेत कुछ अन्य जिलों में ग्रामीणों ने देर रात पंचायत बुलाई और तत्काल दिल्ली की सीमाओं पर पहुंचने का एलान किया।

सिंघु बार्डर से वापस लौटते किसान।

गांवों में माइक लगाकर दिल्ली लौटने की अपील की गई। भाकियू के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढूनी, अखिल भारतीय किसान सभा के प्रदेश अध्यक्ष दयानंद पूनिया ने वीडियो जारी कर लोगों से आंदोलन में भाग लेने की अपील कर रहे हैं। भिवानी जिले के गांव कुंगड़ में पंचायत के बाद देर रात ही कई ट्रैक्टरों से किसान दिल्ली के लिए रवाना हो गए। इधर, राज्यसभा दीपेंद्र हुड्डा, इनेलो नेता अभय चौटाला और महम विधायक बलराज कुंडू ने भी टिकैत के समर्थन में ट्वीट किया है।

 

कंडेला में किसानों ने किया जींद-चंडीगढ़ मार्ग जाम

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत के आह्वान पर जींद के गांव कंडेला में किसानों ने जींद-चंडीगढ़ मार्ग जाम कर दिया। किसानों ने कहा कि शुक्रवार सुबह गांव के हर घर से एक आदमी दिल्ली आंदोलन में रवाना होगा। सैकड़ों की संख्या में कंडेला गांव से ट्रैक्टर दिल्ली जाएंगे।

 

किसानों ने कहा कि किसानों को बदनाम करने के लिए 26 जनवरी को साजिश रची गई। भाजपा के नजदीकी दीप सिद्धू ने लाल किले पर निशान साहिब फहराया और किसानों को बदनाम करने की कोशिश की। सरकार दीप सिद्धू पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। किसानों ने कहा कि पुलिस ने बेकसूर किसानों पर लाठियां बरसाई। ट्रैक्टरों की हवा निकाली और उनकी गाडि़यों में तोड़फोड़ की।

सिंघु बार्डर से लौटते किसान।

किसान सिंघु बार्डर से ट्रैक्‍टरों की चेन बनाकर लौट रहे

दूसार ओर सिंघु बार्डर से किसानों का धरनास्‍थल से अपने राज्‍य लौटने का क्रम जारी है। हरियाणा और दिल्ली के बीच सिंघु बॉर्डर से किसान ट्रैक्‍टरों की चेन बनाकर वापस लौट रहे हैं। ईंधन की बचत के लिए इन किसानों ने ट्रैक्टरों को आपस में जोड़ लिया जिसे उनकी भाषा में टोचन कहते हैं। वापस लौट रहे किसानों में अधिकतर पंजाब के हैं।

पंचकूला में टोल प्‍लाजा फिर शुरू हो गया है।

पंचकूला सहित कई जगह में टोल प्‍लाजा फिर शुरू

पंचकूला में टोल फिर से शुरु हो गए हैं। पुलिस ने टोल प्लाजा पर धरने पर बैठे किसानों को हटा दिया है। चंडीमंदिर टोल प्लाजा सुबह से शुरु हो गया। इस टोल प्लाजा से कल से अब तक फास्ट टैग से 12500 वाहन निकल चुके हैं, जबकि 16 हजार 300 वाहन नगद राशि देकर निकले हैं। इस प्रकार जलौली खंड बरवाला का टोल प्लाजा भी शुरु हो गया है।

 

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *