Connect with us

Cities

Coronavirus Update: महिला एएसआइ के पिता और भाई ने कोरोना को हराया

Published

on

Panipat Live Coronavirus Update: महिला एएसआइ के पिता और भाई ने कोरोना को हराया

खानपुर मेडिकल कॉलेज में उपचाराधीन, समालखा थाना की एएसआइ के पिता और छोटे भाई को खानपुर मेडिकल कॉलेज से रविवार को डिस्चार्ज कर दिया है। एएसआइ उसका दूसरा भाई (दिल्ली पुलिस में सिपाही) और मां अभी उपचाराधीन हैं।

Coronavirus - Mayo Clinic

सोनीपत के गांव खुबडू वासी युवक दिल्ली पुलिस में सिपाही हैं। लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए वह गांव पहुंचकर माता-पिता और छोटे भाई से मिला था। 23 अप्रैल को नई पुलिस लाइन वासी बहन (समालखा थाना में एएसआइ) से मिला। उसी दिन सिविल अस्पताल में स्वाब सैंपल देने पहुंचा, अगले दिन रिपोर्ट पॉजिटिव मिली थी। 24 अप्रैल को एएसआइ अपने माता-पिता और दूसरे भाई को लेकर सिविल अस्पताल में स्वाब सैंपल देने पहुंची। 25 अप्रैल की रात्रि इनकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आयी। सभी को खानपुर मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया था। एक सप्ताह पूर्व भी पूरे परिवार की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली थी।

सिविल सर्जन डॉ. संतलाल वर्मा ने बताया कि महिला एएसआइ के पिता और छोटे भाई की दो रिपोर्ट नेगेटिव आ चुकी हैं। खानपुर मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने दोनों को डिस्चार्ज कर दिया है। बता दें कि दिल्ली मदरसे से लौटा धूप ङ्क्षसह नगर वासी किशोर भी तीन दिन पहले डिस्चार्ज होकर घर पहुंच गया है।

कालखा वासी पिता-पुत्र की दूसरी रिपोर्ट भी पॉजिटिव

इसराना के कालखा गांव वासी छह वर्षीय बच्चे व उसके पिता की दूसरी रिपोर्ट भी कोरोना पॉजिटिव मिली है। संक्रमित मिलने के कारण दोनों छह मई से ही खानपुर मेडिकल कॉलेज में उपचाराधीन हैं। बता दें कि युवक ने एक ऑडियो वायरल करते हुए चिकित्सकों पर लापरवाही का आरोप भी लगाया था। कालखा वासी 33 वर्षीय युवक फतेहाबाद में जॉब करता था। लॉकडाउन से पहले ही गांव लौट आया था। 30 अप्रैल को उसके छह वर्षीय पुत्र को खांसी-जुकाम हुआ। एक मई को युवक अपने पुत्र को लेकर सिविल अस्पताल की कोरोना ओपीडी में पहुंचा। कोविड-19 के लक्षण देख चिकित्सकों ने पिता-पुत्र के सैंपल लिए और एनसी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल स्थित फैसिलिटी क्वारंटाइन में रख लिया था। छह मई को दोनों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर खानपुर रेफर कर दिया गया था।

सिविल सर्जन डॉ. संतलाल वर्मा ने बताया कि रविवार को दोनों की दूसरी रिपोर्ट भी पॉजिटिव मिली है। अब तीन दिन बाद तीसरी बार सैंपल लिए जाएंगे। परिवार के अन्य सभी सदस्यों की रिपोर्ट नेगेटिव आ चुकी है। इस बाबत उन्हें सूचित भी कर दिया है।

ऑडियो हुआ था वायरल

कालखा वासी युवक की साथी से मोबाइल फोन पर हुई बातचीत का ऑडियो क्लिप भी वायरल हुआ था। फैसिलिटी क्वारंटाइन का जिम्मा संभाले चिकित्सक पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए युवक कह रहा था कि उसे चार मई को डिस्चार्ज कर घर भेज दिया था। छह मई को रिपोर्ट पॉजिटिव बताकर दोबारा बुलाया गया।

तीन दिनों में लैब से 350 रिपोर्ट मिली, सभी नेगेटिव

कोरोना संक्रमण के बीच जिला वासियों को कुछ राहत देने वाली खबर है। आठ, नौ और 10 मई, तीन दिनों में लैब से करीब 350 रिपोर्ट मिली हैं, सभी नेगेटिव हैं। स्वास्थ्य विभाग ने रविवार को 65 लोगों के स्वाब सैंपल लिए हैं।

कोविड-19 के जिला नोडल अधिकारी डॉ. सुनील संडूजा ने बताया कि रविवार की शाम तक कुल 2065 सैंपल लिए जा चुके हैं। इनमें से 1799 की रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त हुई है। रविवार को भी 123 रिपोर्ट नेगेटिव मिली हैं। 232 रिपोर्ट का परिणाम अभी प्राप्त नहीं हुआ है। होम अंडर क्वारंटाइन के तहत 1032 घरों के बाहर नोटिस चस्पा किए जा चुके हैं। जिले में अब तक मिले 36 पॉजिटिवों में से आठ स्वस्थ होकर घरों को लौट चुके हैं। डॉ. संडूजा ने लॉकडाउन में मिली मामूली छूट का दुरुपयोग न करने की सीख जिला वासियों को दी है।

source jagran

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *