Connect with us

पानीपत

बिजली उपभोक्‍ताओं के लिए खबर, मोबाइल पर नहीं आएंगे बिलों के गलत मैसेज

Published

on

Advertisement

बिजली उपभोक्‍ताओं के लिए खबर, मोबाइल पर नहीं आएंगे बिलों के गलत मैसेज

अब उपभोक्ताओं के मोबाइल पर गलत बिलों की जानकारी नहीं आएगी। अक्सर गलत बिलों की जानकारी आने से परेशान उपभोक्ता बिजली निगम को शिकायत करते थे, लेकिन इस समस्या से निपटने के लिए निगम ने ओपीटी अनिवार्य किया है। केवाईसी अपडेट करते समय उपभोक्ता के मोबाइल पर ओटीपी वेरीफाइ होने के बाद ही केवाईसी अपडेट की जाएगी।

उपभोक्ताओं के पास गलत बिजली बिलों की जानकारी आ रही थी, जिसकी रोजाना दर्जनों शिकायत निगम कार्यालय में देते थे। जिसको देखते हुए केवाईसी लिस्ट को अपडेट करना शुरू कर दिया गया है। हालांकि निगम का कहना है कि यह लिस्ट 95 प्रतिशत से ज्यादा अपडेट कर दी गई है। जो उपभोक्ता बचे हुए हैं उनको भी कवर किया जा रहा है। निगम के मुताबिक उपभोक्ता निगम की वेबसाइट पर जाकर स्वयं भी केवाईसी अपडेट कर सकते हैं। उन्हें साइट पर जाकर एकाउंट नंबर डालना होगा उसके बाद मोबाइल नंबर अपडेट कर सकते हैं।

Advertisement

मोबाइल पर बिजली बिलों के गलत मैसेज नहीं आएंगे।

हो चुका है ट्रायल

Advertisement

बिजली निगम के पास उपभोक्ताओं के लगभग 95 प्रतिशत मोबाइल नंबर उपलब्ध हो चुके हैं। यानि केवाईसी का काम भी अंतिम चरण में है। यह कार्य जैसे ही पूरा होता है तो जिले में करीब 3.99 लाख उपभोक्ताओं के मोबाइल पर बिल का एसएमएम सही आना शुरू हो जाएंगे।

आनलाइन शिकायत के निवारण की जिम्मेदारी भी तय

Advertisement

उपभोक्ताओं को बिजली संबंधी कोई परेशानी है तो वह आनलाइन कर सकता है। आनलाइन शिकायतों के निवारण को भी मॉनीटर किया जा रहा है। मुख्यालय की तरफ से आनलाइन मिलने वाली शिकायतों को प्राथमिकता से निवारण करने के निर्देश जारी किए थे। संबंधित उपभोक्ता की समस्या कितनी पुरानी थी और उसका निवारण कितने दिन में किया, इसको लेकर अफसरों की जिम्मेदारी फिक्स होगी।

 

काल सेंटर में आने लगी शिकायतें

उपभोक्ताओं की शिकायत निवारण के लिए बनाया गया काल सेंटर अच्छी तरह से काम कर रहा है। उपभोक्ता 1912 या काल सेंटर पर शिकायत दे रहे हैं। पहले जून-जुलाई में शिकायतें कम आती थी, लेकिन केवाईसी अपडेट होने के बाद शिकायतों की संख्या में इजाफा हुआ है। जब उपभोक्ता का मोबाइल फोन इससे रजिस्डर्ट हो जाएगा तो उसे केवल यही कहना है कि उसकी बिजली चली गई है। इसके बाद रजिस्टर्ड नंबर से उसकी शिकायत का कर्मचारी तुरंत समाधान कर देगा।

कार्य आनलाइन होने से पारदर्शिता आएगी। केवाईसी का काम तेजी से चल रहा है। उपभोक्ताओं का पूरा सहयोग मिल रहा है। हमें उम्मीद है कि जल्द केवाईसी का काम पूरा हो जाएगा। उपभोक्ताओं को एसएमएस से बिजली बिल की डिटेल भिजवानी सुनिश्चित की जा रही है। कुछ नंबर गलत अपडेट हो गए थे, लेकिन अब ओटीपी अनिवार्य किया है। उसके बाद केवाईसी को साथ के साथ अपडेट किया जा रहा है।

अश्विनी रहेजा, चीफ इंजीनियर, यूएचबीवीएन

Source : Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *