Connect with us

पानीपत

पानीपत में अब दो केंद्रों पर लगेगा कोरोना से बचाव का टीका

Published

on

Advertisement

पानीपत में अब दो केंद्रों पर लगेगा कोरोना से बचाव का टीका

 

जिले के लोगों के स्वास्थ्य के लिए राहत भरी खबर है। वीरवार को दोपहर बाद 3:12 बजे दो विशेष बॉक्स और जीपीएस (ग्लोबल पोजिशनिग सिस्टम) लगी एंबुलेंस से कुरुक्षेत्र से कोविशील्ड की 6660 कोरोना वैक्सीन की डोज पहुंची। 3:20 बजे सिविल सर्जन डा. संतलाल वर्मा और डिप्टी सिविल सर्जन ने बाक्स खोला और डोज देखी। इसके बाद 3:22 बजे दो स्वास्थ्यकर्मियों ने दोनों बड़े बाक्स को सिविल अस्पताल के ग्राउंड फ्लोर पर बने स्टोर में रखवा दिया। इनमें छह छोटे बाक्स हैं। स्टोर के बाहर फिलहाल पुलिस का पहरा नहीं है। ये डोज पहली खेप की है। वैक्सीन की उत्पादन तारीख 4 नवंबर 2020 और एक्सपायरी डेट 2 मई 2021 है।

Advertisement

पानीपत में अब दो केंद्रों पर लगेगा कोरोना से बचाव का टीका

आज सूचित करेंगे, 16 को होगा टीकाकरण

Advertisement

16 जनवरी को प्रधानमंत्री वैक्सीन को लांच करेंगे। इसके बाद टीकाकरण होगा। सिविल अस्पताल की पुरानी बिल्डिंग में टीकाकरण की तैयारी की जा रही है। शुक्रवार तक सारे प्रबंध कर लिए जाएंगे। 15 जनवरी को जिन सरकारी-प्राइवेट कर्मचारियों को फोन कर टीकाकरण के लिए सूचित कर दिया जाएगा।

सिविल सर्जन डा. संतलाल वर्मा ने बताया कि वीरवार को नई गाइडलाइन आई है। इसके तहत अब सिविल अस्पताल और एनसी कालेज में टीकाकरण होगा। दोनों जगह 100-100 हेल्थ वर्करों को टीका लगेगा। हेल्थ कर्मचारी टीका लगवाने को लेकर भम्रित थे। पहले टीका वे लगवाएंगे। इसके बाद 100 कर्मचारियों में चतुर्थ श्रेणी से डाक्टरों को टीका लगाया जाएगा।

Advertisement

स्वास्थ्य कर्मियों को 0.5 एमएल डोज दी जाएगी

सिविल सर्जन डा. वर्मा ने बताया कि इनको माइनस 80 डिग्री तापमान में 7 फ्रिज में रखा गया है। कोरोना वैक्सीन आने से डॉक्टर, स्टाफ नर्स, पुलिस व होमगार्ड के जवान काफी उत्साहित हैं। पहले इन तीन कैटेगरी में आने वाले फ्रंटलाइन कर्मचारियों को ही वैक्सीन लगेगी। किसी को भी वैक्सीन को लेकर कोई गलत भ्रम ना हो।

वैक्सीनेशन की फाइनल रिहर्सल

वीरवार को सिविल सर्जन डा. संतलाल वर्मा के आदेश पर डाक्टरों और स्टाफ नर्स ने वैक्सीनेशन की फाइनल रिहर्सल की है। इसकी निगरानी एमएस डा. आलोक जैन, डा. राघवेंद्र, डा. वीरेंद्र ढांडा, डा. अमित पोरिया और स्टाफ नर्स पूजा राठी ने की। जो पहले खामी हुई थी उसे दूर किया गया। इसकी रिपोर्ट रिहर्सल में किसी प्रकार की कोई गलती नहीं हुई। पूरी रिहर्सल की रिपोर्ट सिविल सर्जन डा. संतलाल वर्मा को दे दी गई है।

टीकाकरण के ये पांच केंद्र बनाए

कोविड वैक्सीनेशन के लिए सिविल अस्पताल, एनसी मेडिकल कालेज, सेक्टर-25 शहरी स्वास्थ्य केंद्र, सब डिविजनल अस्पताल समालखा और सीएचसी खोतपुरा में केंद्र बनाया गया है। हर केंद्र में पांच-छह कर्मचारियों ड्यटी देंगे। वीरवार को ड्यूटी रोस्टर जारी कर दिया गया। हर केंद्र में 100 हेल्थ वर्कर्स का टीकाकरण करने का लक्ष्य रहेगा।

27 वैक्सीनेशन केंद्रों के 85 फ्रिज में रखी जाएगी वैक्सीन

अर्बन नोडल अधिकारी डा. मनीष पासी ने बताया कि सिविल अस्पताल के जिला वैक्सीन स्टोर सहित सभी 27 वैक्सीनेशन केंद्रों में 43 आइस लाइनर रेफ्रीजरेटर और 42 डीप फ्रीजर हैं। इनमें किसी भी तरह की वैक्सीन को सुरक्षित रखा जा सकता है। इनमें लाखों वैक्सीन डोज रखी जा सकती हैं।

ये होंगे टीकाकरण के चरण

पहला चरण : टीकाकरण के लिए आए स्वास्थ्यकर्मियों की आइडी जांच।

दूसरा चरण : टीकाकरण को आए स्वास्थ्यकर्मियों का ब्योरा दर्ज।

तीसरा चरण : पीपीई किट पहने वैक्सीनेटर ने लगाया टीका।

चौथा चरण : टीका लगवाने वाले स्वास्थ्यकर्मियों को 30 मिनट निगरानी में।

पांचवां चरण : चिकित्सक जानते रहे हालचाल, वैक्सीन के लाभ बताए।

छठा चरण : टीका लगने के बाद साइड इफेक्ट होने पर इलाज।

सातवां चरण : टीकाकरण के बाद स्वास्थ्यकर्मी को कक्ष से बाहर लाना।

———-

डाक्टर किट के साथ सचेत रहेंगे

वैक्सीन टीकाकरण के बाद बुखार, एलर्जी और सूजन आ सकती है। इसको ध्यान में रखते हुए डाक्टर एडवर्स इवेंट्स फालोइंग इम्युनाइजेशन किट के साथ तैनात रहेंगे। पांच से 10 कोविड बेड आरक्षित किए गए हैं।

———-

यूं पूरा होगा टीकाकरण

1. 16 जुलाई से जुड़े डाक्टर, नर्सिग स्टाफ आदि कर्मचारी।

2. पुलिस-प्रशासन कर्मी, नगर निगम और जनस्वास्थ्य कर्मचारी

3. 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोग, गंभीर बीमारियों से ग्रस्त रोगी।

4. 50 वर्ष से कम आयु के सभी लोग।

 

 

 

Source : Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *