Connect with us

पानीपत

रेमडिसिविर के पानीपत को मिले 250 इंजेक्शन, दो दिन में 163 वितरित

Published

on

Advertisement

रेमडिसिविर के पानीपत को मिले 250 इंजेक्शन, दो दिन में 163 वितरित

रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी रोकने के लिए प्रदेश सरकार ने जिले को 250 इंजेक्शन उपलब्ध कराए हैं। दो दिन में 163 इंजेक्शन वितरित किए जा चुके हैं। निजी अस्पतालों से सरकार द्वारा निर्धारित कीमत ली गई है, जबकि सरकारी अस्पताल में भर्ती मरीजों को इंजेक्शन निश्शुल्क लग रहे हैं।

नोडल अधिकारी डा. सुधीर बतरा ने बताया कि रेमडेसिविर इंजेक्शन को कई कंपनियां बना रही हैं। निजी अस्पतालों के लिए इनकी कीमत क्रमश: 1400, 1500 और 2800 है। सरकार ने हमें 2800 रुपये कीमत वाला मुहैया कराया है। निजी अस्पतालों में रविवार को 75 इंजेक्शन भेजे गए, शनिवार को 53 वितरित किए गए थे। इनसे इंजेक्शन की कीमत वसूली गई है। सिविल अस्पताल के प्रिसिपल मेडिकल आफिसर को 35 इंजेक्शन दिए गए हैं। सिविल अस्पताल या यहां से एनसी मेडिकल कॉलेज के लिए रेफर किए मरीजों को ये इंजेक्शन निश्शुल्क लगेंगे।डा. बतरा ने बताया कि कोरोना पाजिटिव मरीजों का इलाज कर रहे अस्पतालों का निरीक्षण किया जा रहा है।

Advertisement

Pune pharmacist arrested for black marketing of Remdesivir injections

इसी कड़ी में पार्क अस्पताल का निरीक्षण किया गया है। हर अस्पताल से ऑक्सीजन और वेंटीलेटर बेड का डाटा एकत्र किया है। बेड पर लेटे मरीज को यदि 24 घंटे ऑक्सीजन पर रखा जाए, उसी हिसाब से सभी को प्रतिदिन स्टॉक दिया जाएगा। इंजेक्शन वितरण के नियम :

Advertisement

निजी अस्पताल से मरीज का नाम, पता, मोबाइल फोन नंबर, कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट और उपलब्ध कराए जा रहे इलाज की डिटेल ई-मेल से मंगवाई जाती है। तीन सदस्यीय कमेटी तय करती है कि रेमडेसिविर की मरीज को जरूरत है अथवा नहीं। इसके बाद ही इंजेक्शन इश्यू किया जाता है। सिविल अस्पताल के प्रिसिपल मेडिकल आफिसर भी यही नीति अपना रहे हैं। अस्पतालों ने अधिक रेट वसूले तो नहीं खैर :

प्रदेश सरकार ने एनएबीएच (नेशनल एक्रीडेशन बोर्ड हॉस्पिटल) अस्पतालों में आइसोलेशन के लिए प्रति बेड 10 हजार रुपये निर्धारित किए हैं। आइसीयू बेड बिना वेंटीलेटर के 15 हजार तय हैं। आइसीयू वेंटीलेटर सहित 18 हजार रुपये हैं। नॉन एनएबीएच अस्पताल में आइसोलेशन बेड के लिए 8000 प्रतिदिन, आइसीयू बेड बिना वेंटीलेटर के 13 हजार और आइसीयू वेंटीलेटर सहित 15 हजार तय हैं। हेल्पलाइन नंबर किए जारी :

Advertisement

कोरोना संक्रमित से कोई अस्पताल अधिक इलाज खर्च वसूलता है, या दूसरी कोई दिक्कत है तो मरीज या तीमारदार पुलिस कंट्रोल रूम के नंबर 7056000602 या सिविल अस्पताल के कंट्रोल रूम 0180-2970406 पर शिकायत कर सकते हैं।

 

SOURCE : JAGRAN

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *