Connect with us

कैथल

एक भाई की मौत, दूसरा 4 दिन से लापता, घर से लेकर सड़क तक हाहाकार

Published

on

Advertisement

एक भाई की मौत, दूसरा 4 दिन से लापता, घर से लेकर सड़क तक हाहाकार

कैथल शहर की शिव कालोनी से दो सगे भाई गांव कुतुबपुर में दिहाड़ी-मजदूरी करने के लिए गए, लेकिन वापस नहीं लौटे। पुलिस थाने से परिवार के लोगों के पास एक फोन आया कि एक युवक को चोटें लगी हैं। इसका इलाज करवा लो। युवक को ज्यादा चोटें थीं। उसने पीजीआइ चंडीगढ़ में पहुंचते ही दम तोड़ दिया। बंटी का चार दिन से कोई सुराग नहीं लगा है। स्वजनों का आरोप है कि गांव कुतुबपुर के एक मछली पालन करने वाले ठेकेदार ने दोनों भाइयों पर मछली चोरी का आरोप लगाकर मारपीट की थी और थाना सदर पुलिस को सौंप दिया था। पुलिस ने भी उसे पीटा और इलाज कराने की बजाय उन्हें सौंप दिया। पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए स्वजनों ने शहर के बीचोंबीच पिहोवा चौक पर जाम लगा दिया। मौके पर एसडीएम डा.संजय कुमार और थाना सदर प्रभारी राजफूल ने पहुंचकर उन्हें बताया कि इस मामले में दो ठेकेदारों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। डेढ़ घंटे तक स्वजनों ने पिहोवा चौक पर जाम लगाए रखा।

कैथल शहर की शिव कालोनी से दो सगे भाई गांव कुतुबपुर में।

Advertisement

अनिल की बहन ऊषा और बड़े भाई मनोज ने बताया कि 32 वर्षीय अनिल और 28 वर्षीय बंटी मजदूरी के लिए गांव कुतुबपुर में जाते थे। छह दिसंबर को मत्स्य पालन करने के वाले ठेकेदार गांव शेरुखेड़ी निवासी संजय और गांव शेरगढ़ निवासी विक्रम ने दोनों पर मछली चोरी का आरोप लगाते हुए उनको बुरी तरह से पीटा। अनिल को पुलिस थाने में सौंप दिया, लेकिन बंटी के बारे में अभी भी कोई सुराग नहीं मिला है। ऊषा और मनोज का कहना है कि बंटी उसी तालाब में मिलेगा। ठेकेदारों ने उसे भी मारपीट कर तालाब में फेंक दिया होगा। अनिल अपने पीछे पत्नी और तीन बच्चे छोड़ गया है, जबकि बंटी के चार बच्चे हैं। अनिल की पत्नी मूर्ति और बंटी की पत्नी सुदेश का रो-रो कर बुरा हाल है। वे बार-बार बेसुध हो रही थीं।

जाम लगाए स्वजनों और कालोनीवासियों का कहना है कि पुलिस ने भी अनिल को पीटा है, जिसकी वजह से उसे गहरी चोटें लगी। फिर उसका इलाज भी नहीं करवाया और आनन-फानन में परिवार को सौंप कर इलाज कराने को बोलकर पल्ला झाड़ लिया। तब तक उसकी हालत ज्यादा बिगड़ चुकी थी। इसके चलते स्थानीय सिविल अस्पताल से उसे पीजीआइ चंडीगढ़ रेफर कर दिया गया था, जहां जाकर उसकी मौत हो गई।

Advertisement

 

इस मामले में स्वजनों की शिकायत पर गांव शेरुखेड़ी निवासी ठेकेदार संजय और शेरगढ़ के विक्रम के खिलाफ अनिल की हत्या का मामला दर्ज किया गया है। बंटी की तलाश की जा रही है। आरोपितों की जल्दी ही गिरफ्तारी कर ली जाएगी। अनिल से पुलिस थाने में मारपीट के आरोप गलत हैं।

Advertisement

– राजफूल सिंह, एसएचओ थाना सदर।

 

 

Source : Jagran

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *