Connect with us

पानीपत

लाकडाउन में कपडे़ बेचे, प्रिंसिपल बना तो ग्राम सचिव का पेपर लीक कराया

Published

on

Advertisement

लाकडाउन में कपडे़ बेचे, प्रिंसिपल बना तो ग्राम सचिव का पेपर लीक कराया

 

ग्राम सचिव परीक्षा का पेपर लीक कराने के आरोपितों की संख्या बढ़ती जा रही है। इनकी गिरफ्तारी भी हो रही है। अब पुलिस ने हथवाला रोड पर स्थित पैराडाइज स्कूल के प्रिंसिपल देशबंधु को भी गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही जैमर को धोखा देने वाला ब्लूटूथ डिवाइस बेचने वाला दिल्ली के विष्णु गार्डन का दीपक भी पकड़ा गया।उसे तीन दिन, प्रिंसिपल को दो दिन के रिमांड पर लिया गया है। इस मामले में तीन महिलाओं सहित 19 आरोपित पहले ही गिरफ्तार किए जा चुके हैं।

Advertisement

दस जनवरी को पैराडाइज स्कूल परीक्षा केंद्र पर दबिश देकर पुलिस ने ग्राम सचिव पेपर लीक की साजिश का भंडाफोड़ किया था। 14 आरोपितों को करनाल और पानीपत से गिरफ्तार किया था। 11 जनवरी को सभी को 3 दिन के रिमांड पर लिया गया था। आरोपितों का नेटवर्क पता लगाने के लिए छह आरोपितों को दोबारा रिमांड पर लिया था। दो परीक्षार्थी सीमा पानीपत और संगीता केवल गढ़ी सहित स्कूल मालिक की पत्नी निशा केवल गढ़ी को गिरफ्तार किया था। इसके बाद जगपाल देहरा सहित अमित बड़वासनी (सोनीपत) को गिरफ्तार किया। सभी आरोपितों को रिमांड अवधि समाप्त होने के बाद न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। अब बुधवार को दीपक ठाकुर और प्रिंसिपल देशबंधु डिकाडला के साजिश में शामिल होने से गिरफ्तार किया गया। ग्राम सचिव परीक्षा का पेपर रद कर दिया है।

ग्राम सचिव पेपर लीक मामले में प्रिंसिपल और ब्लूटूथ बेचने वाला गिरफ्तार।

Advertisement

डिवाइस बनाने में मास्टर है दीपक

आरोपित दीपक ने रोहतक के पुष्पेंद्र वासी पाकस्मा (रोहतक ) को एक वॉकी-टॉकी, दो जैमर फ्री डिवाइस और दो स्पाइस इयरपीस छह हजार रुपये में दिए थे। उसने हिसार, सिरसा, यमुनानगर, कैथल व चंडीगढ़ में भी कई व्यक्तियों को ये उपकरण बेचे हैं। ग्राम सचिव पेपर से पहले भी आरोपित ने हरियाणा में पेपर कराने के लिए फौजी वासी हिसार को पांच वॉकी-टॉकी सेट, जैमर फ्री डिवाइस, स्पाइस इयरपीस बेचे। साथी अमित और सोनू टेकनीशियन के साथ मिलकर डिवाइस बनाए। इन दो आरोपितों की गिरफ्तारी और विभिन्न जगहों से डिवाइस बरामद करने के लिए पुलिस ने दीपक का रिमांड लिया है।

Advertisement

प्रिंसिपल के हस्ताक्षर मिल गए, लाकडाउन में कपड़े बेचे

आरोपित प्रिंसिपल देशबंधु से पूछताछ होगी। रोल नंबर शीट और स्कूल स्टाफ की ड्यूटी लिस्ट पर हस्ताक्षर का मिलान करने सहित सिरसा से दस्तावेज बरामद करने के लिए रिमांड लिया है। इससे फरार आरोपित नरेश मतलौडा के बारे में पूछताछ सहित उसके ठिकानों का पता लगाने, मोबइल और पैसे की रिकवरी करने की भी योजना है। प्रिंसिपल के कुछ दस्तावेज पर हस्ताक्षर मिल गए हैं। देशबंधु ने 14 वर्ष तक एक निजी स्कूल में पढ़ाया था। लाकडाउन में पत्नी के साथ दुकान पर कपड़े बेचने लगा। सितंबर 2020 में पैराडाइज स्कूल में प्रिंसिपल पद पर नियुक्ति पाई। उसने ही राहुल और राजेश के एंट्री पास बनाए थे। पैराडाइज के मालिक जगदीप ने उसे आश्वासन दिया था कि कमाई में उसे अच्छा हिस्सा मिलेगा।

 

 

Source : Jagran

Advertisement