Connect with us

पानीपत

पानीपत में गर्माया ये मुद्दा, विधायक विज के कार्यालय के बाहर धरने पर बैठे सब्‍जी विक्रेता

Published

on

Advertisement

पानीपत में गर्माया ये मुद्दा, विधायक विज के कार्यालय के बाहर धरने पर बैठे सब्‍जी विक्रेता

 

पानीपत में सब्‍जी मंडी का मुद्दा लगातार गर्माता जा रहा है। 60 दिनों तक सांसद कार्यालय के सामने सनौली रोड पर सब्‍जी विक्रेता धरना दे रहे थे। अब खुदरा सब्जी विक्रेता बुधवार को शहरी विधायक प्रमोद विज के जीटी रोड स्थित कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गए।

Advertisement

खुदरा सब्जी विक्रेता शहरी विधायक प्रमोद विज के कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गए।

सुबह 10 बजे धरना शुरू हुआ। धरना दे रहे सब्जी विक्रेताओं का कहना है कि दिन रात धरना दिया जाएगा। सब्जी विक्रेता सनौली रोड पर छोटी सब्जी मंडी बनाने के मांग कर रहे हैं। सब्जी विक्रेता सरकार प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। अभी विधायक प्रमोद विज कार्यालय में नहीं पहुंचे हैं।

Advertisement

 

एक दिन पहले सब्जी विक्रेताओं ने सांसद संजय भाटिया और शहरी विधायक प्रमोद विज का एसडी कालेज में घेराव भी किया था। सांसद व विधायक एसडी कालेज में एक कार्यक्रम में आए हुए थे।

Advertisement

 

मासाखोर एसोसिएशन के प्रधान प्रेम ने बताया कि दिन रात धरना देंगे। सब्जी विक्रेता रजाई कंबल लेकर धरने पर बैठ गए हैं। सनौली रोड से सब्जी मंडी शिफ्ट होने के कारण मासाखोरों का रोजगार छिन गया है। सब्जी विक्रेता अर्धनग्न होकर शहर में जुलूस निकालकर प्रशासन को ज्ञापन सौंप चुके है। दो माह में सर्दी की परवाह न करते हुए निरतंर धरना चला। सब्जी विक्रेताओं की कोई सुनवाई नहीं हुई। विधायक सांसद से मिलने के बाद भी उनका कोई हल नहीं निकाला जा रहा है। धरने पर महिलाएं बच्चे भी बैठे हैं।

सनौली रोड से सब्जी मंडी शिफ्ट होने के कारण शहरवासियों की समस्या भी बढ़ गई है। दो -तीन किलोमीटर दूर मंडी में सब्जी लेने जाना मुश्किल हो गया है। जीटी रोड पार करना पड़ता है। महिलाएं अभी मंडी से सब्जी लेने नहीं जा पा रही है। लोगों को सब्जियां अब महंगी मिल रही है। छोटी मंडी बनाने के मांग हरियाणा व्यापार मंडल पर भी कर चुका है। शहर बढ़ती आबादी को देखते हुए भी दो-तीन छोटी मंडी बननी चाहिए।

 

किराना, कपड़ा व्यापारियों का कामकाज भी ठप

सनौली रोड से मंडी शिफ्ट होने के कारण किराना, कपड़ा, हलवाई ढाबों का काम भी ठप पड़ गया है। मंडी में सब्जी बेचने आने वाले किसान यहां से किराना, कपड़ा खरीद कर ले जाते हैं। सभी दुकानदारों का कारोबार प्रभावित हुआ है।

Advertisement