Connect with us

पानीपत

हरियाणा के इन चार जिलों में पड़ी रेड, विरोध में कारोबारी सड़क पर

Published

on

Advertisement

हरियाणा के इन चार जिलों में पड़ी रेड, विरोध में कारोबारी सड़क पर

 

 

Advertisement

खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग हरियाणा ने अंबाला सहित चार जिलों में खाद्य पदार्थों के 417 सैंपल लिए। इसी के विरोध में अंबाला कैंट के पंसारी बाजार में जहां दुकानें बंद कर दीं, वहीं लोगों ने मुंह पर काली पट्टी बांधकर इस कार्रवाई का विरोध भी जताया। कार्रवाई के दौरान देशी घी, दूध व खाद्य तेल के सैंपल लिए गए। अब तक हुई कार्रवाई में जो सैंपल लिए हैं, उनमें से 28 सैंपल असुरक्षित पाए गए हैं। इन पर करीब 13.50 लाख रुपये का सामान भी जब्त किया गया है।

पंसारी बाजार में विकास सिंगला के कार्यालय पर एकत्रित हुए लोग।

Advertisement

खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग के आयुक्त ललित सिवाच ने बताया कि स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के निर्देश पर मिलावटी खाद्य पदार्थों पर नियंत्रण करने के लिए विशेष अभियान चलाया गया। इसके तहत अंबाला, पानीपत, पिल्लूखेड़ा व कुरुक्षेत्र सहित अन्य स्थानों से शुक्रवार को सैंपल लिए गए। इनमें दूध के 54 सैंपलों में से एकअसुरक्षित तथा 13 सब-स्टैंडर्ड मिले। इसी प्रकार घी तथा खाद्य तेल के 363 नमूने कर एकत्रित किए गए, जिनमें से 27 असुरक्षित, 86 सब्सटेंडर्ड तथा 44 मिस-ब्रांडेड पाए गए। उन्होंने बताया कि अंबाला में की गई छापेमारी के दौरान शुक्रवार को देसी घी हरियाणा फ्रेश तथा श्री गोङ्क्षवद के नमूने लिए गए तथा उपस्थित स्टाक को सील कर दिया गया।

 

Advertisement

सिवाज ने बताया कि टीम ने पानीपत में देसी घी के पांच अलग-अलग ब्रांड के सैंपल भरे। इनमे 8 मरला एजेएमडी फूड पर ब्लेंडिंग एंड वेजिटेबल ऑयल के सैंपल लिए जो कि मिस ब्रांड पाए गए। इसी प्रकार कुरुक्षेत्र में 1500 किलो पुराना व रिजेक्टेड घी, 17500 किलो खाद्य पाउडर, 200 किलो बटर के 10 डिब्बे, 40 किलो क्रीम, 100 किलो मिल्क पाउडर, 75 किलो पाम ऑयल, 100 टीन इस्तेमाल में होने वाला घी सहित 196 किलो सामग्री खाद्य सामग्री जब्त की गई। कुरुक्षेत्र से जब्त किए गए सामान की कीमत लगभग 13.50 लाख रुपये से अधिक बताई जाती है।

 

उधर, अंबाला कैंट में इस कार्रवाई के विरोध में ट्रेडर्स वेलफेयर सोसायटी के प्रधान विकास सिंगला की अगुवाई में विरोध जताया है। सिंगला ने कहा कि वह लोगों की मदद कर रहे हैं, जो कुछ लोगों को हजम नहीं हो रही।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *