Connect with us

पानीपत

कोरोना वैक्सीनेशन के लिए पानीपत स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने रणनीति बदली, अब आओ और लगवाओ टीका

Published

on

Advertisement

कोरोना वैक्सीनेशन के लिए पानीपत स्‍वास्‍थ्‍य विभाग ने रणनीति बदली, अब आओ और लगवाओ टीका

कोरोना वैक्सीनेशन के लिए विभाग ने रणनीति में बदलाव किया है। अब तीनों केंद्रों के लिए पानीपत से करीब 800 हेल्थ वर्कर्स को मैसेज भेजा गया है। नतीजा, पहले दो घंटे में करीब 50 को कोविशील्ड की डोज मिल चुकी है। तीसरे दिन सिविल अस्पताल, समालखा के सब डिविजनल अस्पताल और एनसी मेडिकल कालेज में टीकाकरण सुबह नौ बजे टीका लगना शुरू हो गया।

 

Advertisement

प्रत्येक दिन का लक्ष्य

कोरोना वैक्सीनेशन 16 जनवरी को जिला के दो केंद्रों सिविल अस्पताल और एनसी मेडिकल कालेज में शुरू किया गया था। हर केंद्र में 100 लोगों का टीकाकरण का लक्ष्य था। इतने ही लोगों को मैसेज भेजा गया था। कड़कड़ाती ठंड, कोरोना पाजिटिव केस कम आने, वैैक्सीन को लेकर फैली अफवाहों के कारण पहले दिन दोनों केंद्रों में मात्र 140 (कुल 70 फीसद) ने ही टीका लगवाया था। सोमवार को भी दोनों केंद्रों में मात्र 130(कुल 65 फीसद)हेल्थ वर्कर्स ने टीका लगवाया था। ऐसे में 25 जनवरी तक टीकाकरण का पहला चरण पूरा करना विभाग के लिए बड़ी चुनौती बन गया था। मंगलवार को स्वास्थ्य विभाग ने रणनीति में बदलाव करते हुए अधिकाधिक हेल्थ वर्कर्स को आमंत्रित किया है।

Advertisement
   Coronavirus Vaccination Panipat

सिविल सर्जन डा. संतलाल वर्मा के मुताबिक सिविल अस्पताल में बने केंद्र में टीका लगवाने के लिए 500 और एनसी मेडिकल कालेज में 200 व समालखा केंद्र में 100 को मैसेज भेजा गया है। उम्मीद है कि शाम तक तीनों केंद्रों में 300 का टीकाकरण हो जाएगा।

वीरवार से सेक्टर-25 में भी टीका

Advertisement

सिविल सर्जन ने बताया कि वीरवार से सेक्टर-25 स्थित शहरी स्वास्थ्य केंद्र में भी कोरोना का टीका हेल्थ वर्कर्स को लगाया जाएगा। सोमवार से खोतपुरा में भी टीकाकरण शुरू करने का प्लान है।

दो दिन में 270 को लगा टीका

कोरोना वैक्सीनेशन के पहले चरण में जिला के 6660 हेल्थ वर्कर्स को टीका लगना है। इनमें सरकारी-प्राइवेट डाक्टर, नर्सिंग स्टाफ, फार्मासिस्ट, लैब टैक्नीशियन, लिपिकीय स्टाफ और चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी शामिल हैं। दो दिन (शनिवार और सोमवार) को मात्र 270 हेल्थ वर्कर्स ने ही टीका लगवाया है।

  • इन्हें नहीं लगेगा टीका
  • कोविड-19 के संक्रमित मरीज (क्वारंटाइन पीरियड खत्म होने तक)।
  • प्लाज्मा थैरेपी से स्वस्थ हुए मरीज (स्वस्थ होने के छह सप्ताह तक)।
  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली हेल्थ वर्कर्स को।
  • किसी भी बीमारी से ग्रस्त, अस्पताल में उपचाराधीन।
  • 18 साल से कम आयु के व्यक्ति।
  • दिक्कत हो तो इन नंबरों पर करें कॉल :
  • हेल्पलाइन नंबर 1075
  • एंबुलेंस कंट्रोल रूम 108
  • एंबुलेंस कंट्रोल रूम 7988960108
  • कोविड कंट्रोल रूम 0180-2970406

 

Advertisement