Connect with us

City

21 करोड़ के इस ख़ास प्रॉजेक्ट से जुड़ेगा पानीपत, जाम और प्रदूषण से राहत

Published

on

Advertisement

21 करोड़ के इस ख़ास प्रॉजेक्ट से जुड़ेगा पानीपत, जाम और प्रदूषण से राहत

 

जिले को मिली 21 करोड़ की लागत से बनने वाली चार नई सौगातें: प्रमोद विज पानीपत, 10 नवम्बर। सांसद संजय भाटिया की दूरदर्शी सोच और शहरी विधायक प्रमोद विज के आपसी समन्वय से पानीपत जिला को 21 करोड़ रूपये के विकास कार्यो की सौगात मिली है। इस राशि से ऐसे चार अण्डर पासों की सौगात मिली है जो शहर को जाम रहित तो करेंगे ही साथ ही साथ इन अण्डर पासों से लगती कॉलोनियों के लोगों को इनका बहुत बड़ी फायदा होगा। विधायक प्रमोद विज ने जानकारी देते हुए बताया कि जिले को मुख्यमंत्री मनोहरलाल जी के आर्शीवाद से व सांसद संजय भाटिया जी के अथक प्रयासों से आज शहरी क्षेत्र का वह सपना पूरा हुआ है जिसके लिए वह पिछले समय से लगातार प्रयासरत थे। उन्होंने बताया कि जिले को 21 करोड़ की लागत से बनने वाली चार सौगातों के रूप में गोहाना रोड रेलवे अण्डर पास जिस पर लागत खर्च 5.92 करोड़ व असंध रोड रेलवे अण्डर पास जिस पर लागत खर्च 3.65 करोड़, बिशन स्वरूप कॉलोनी रेलवे अण्डर पास जिस पर लागत खर्च 5.58 करोड़ तथा हरि नगर रेलवे अण्डर पास जिस पर लागत खर्च 5.65 करोड़ रूपये से बनने वाले इन कार्यो के लिए सांसद करनाल संजय भाटिया लगातार प्रयासरत थे जिनकी वजह से आज यह सपना पूरा हुआ है। उन्होंने बताया कि रेलवे ने इन कार्यो पर खर्च होने वाली लागत शहरी स्थानीय निकाय विभाग को सौंप दी है। इसके लिए पानीपत नगर निगम जल्द ही आवश्यक औपचारिकताएं पूरी कर रेलवे विभाग को कार्य करने के लिए हरी झण्डी दे देगा। उन्होंने बताया कि चारों अण्डर पास बनने के बाद पानीपत शहर के दोनों तरफ बसी आबादी का ना केवल समय बचेगा बल्कि जाम की स्थिति पर भी काफी हद तक काबू पाया जा सकेगा। विधायक प्रमोद विज ने कहा कि उनका प्रयास है कि शहर की जनता को ज्यादा से ज्यादा क्नैक्टीविटी मिले जिससे ना केवल कारोबार को लाभ पंहुचेगा बल्कि कामकाजी महिला व पुरूषों को भी इससे लाभ मिलना सुनिश्चित होगा और इस कार्य से शहर के लिए सबसे बड़ी समस्या जाम से भी मुक्ति मिलेगी। उन्होंने कहा कि इस कार्य की मंजूरी के लिए सांसद संजय भाटिया व मुख्यमंत्री मनोहरलाल का वे दिल की गहराईयों से आभार व्यक्त करते हैं। उन्होंने कहा कि पानीपत के इंजीनियरर्स व तकनीकी टीम का भी काफी योगदान रहा है।

Advertisement
Advertisement

Advertisement