Connect with us

City

नीरज चोपड़ा के लिए पेट्रोल पंप हड़ताल खुली, आम आदमी को हुई मुसीबत

Published

on

Advertisement

नीरज चोपड़ा के लिए पेट्रोल पंप हड़ताल खुली, आम आदमी को हुई मुसीबत

ओलिंपिक के स्वर्ण पदक विजेता नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) के लिए यहां मतलौडा के पेट्रोल पंप को अपनी हड़ताल से कुछ मिनट के लिए पीछे हटना पड़ा। जिसने देश को स्वर्ण पदक जिताया, उसकी गाड़ी में तेल डालने से पंप कर्मी इन्कार नहीं कर सके। नीरज अपनी लग्जरी गाड़ी में थे। वह बाहर नहीं निकले। उन्होंने चेहरे पर मास्क और सिर पर टोपी डाली हुई थी। नीरज के बाहर नहीं निकलने पर पंप कर्मचारियों ने उनकी गाड़ी के साथ ही सेल्फी ले ली।

Advertisement

नीरज पहुंचे पेट्रोल पंप

दरअसल, नीरज चोपड़ा इन दिनों अपने गांव खंडरा आए हुए हैं। वह अपनी गाड़ी मस्टैंग में मतलौडा के गंगा फिलिंग स्टेशन पर पहुंचे। चूंकि नीरज का चेहरा ढंका हुआ था, पंप कर्मचारी उन्हें पहचान नहीं सके। यह कह दिया कि हड़ताल है। पेट्रोल नहीं मिलेगा। उन्हीं के पीछे फार्च्यूनर गाड़ी में उनके चाचा सुरेंद्र भी थे। सुरेंद्र अपनी गाड़ी से नीचे उतरे और कहा कि गाड़ी में नीरज बैठे हैं। उन्हें मालूम नहीं था कि हड़ताल है। हो सके तो तेल डाल दें। यह पता चला कि ही गाड़ी में नीरज हैं, पंप के कर्मचारी वहां एकत्र हो गए। उनकी गाड़ी में तेल डाला। सेल्फी के लिए पंप कर्मचारियों ने कहा लेकिन नीरज नीचे नहीं उतरे।

Advertisement

पानीपत में नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) की गाड़ी के साथ ली सेल्फी।

इमरजेंसी वाहनों में डाला तेल

Advertisement

गंगा फिलिंग स्टेशन के संचालक नवीन भालसी ने जागरण को बताया कि हड़ताल के दौरान इमरजेंसी वाहनों में पेट्रोल-डीजल डाला गया है। कुछ कर्मचारियों ने नीरज के साथ सेल्फी ली। कर्मचारी खुश थे कि गोल्डन ब्वाय ने उनके यहां तेल डलवाया।

नीरज ने कहा, इसे मुद्दा न बनाएं

नीरज ने वहां मौजूद मीडियाकर्मियों से कहा कि उन्हें नहीं पता था कि हड़ताल चल रही है। वह आमतौरपर मीडिया से बात करते हैं। कैमरे पर आते हैं। पर तेल डलवाने को मुद्दा न बनाया जाए। उन्हें जरूरी काम से जाना था, इस वजह से पेट्रोल पंप पर आए।

 

 

Advertisement