Connect with us

करनाल

Pics: मां की लाश से चिपकी थी मासूम, पुलिस ने यूं निकाले शव, सामने आया असली सच

Spread the love

Spread the love कार में लगी आग और जिंदा जल गया परिवार। मां की लाश के साथ चिपकी थी मासूम, पुलिस ने शव निकवाए तो देखकर सभी रो दिए, दर्दनाक तस्वीरें। एक झटके में खुशियों को ग्रहण लग गया और सब कुछ खत्म। मां-बाप और मासूम बच्ची जिंदा जलकर खाक हो गए, नानी भी नहीं […]

Published

on

Spread the love

कार में लगी आग और जिंदा जल गया परिवार। मां की लाश के साथ चिपकी थी मासूम, पुलिस ने शव निकवाए तो देखकर सभी रो दिए, दर्दनाक तस्वीरें।

एक झटके में खुशियों को ग्रहण लग गया और सब कुछ खत्म। मां-बाप और मासूम बच्ची जिंदा जलकर खाक हो गए, नानी भी नहीं रही। हादसा हरियाणा में करनाल जिले के गांव शामगढ़ के पास फ्लाईओवर पर हुआ। हादसा सुबह करीब पौने चार बजे हुआ। दिल्ली जा रहे एक परिवार के चार सदस्य कार व ट्रक की भिड़ंत के बाद कार में आग लगने से जिंदा जल गए। मरने वालों मे एक सात माह की बच्ची भी है।

हादसा गाड़ी चलाने वाले को नींद की झपकी आने से हुआ। गाड़ी असंतुलित होने के कारण डिवाइडर पार गई और दूसरी साइड से आ रहे एक ट्रक से जा टकराई। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि हादसे के बाद कार में आग लग गई और कार सवार चारों लोग जिंदा जल गए। जब तक पुलिस मौके पर पहुंची, देर हो चुकी थी। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिये हैं, मामले की जांच कर रही है।

जानकारी के मुताबिक, दिल्ली के हरिनगर का रहने वाला संचित चोपड़ा (28), पत्नी भावना चोपड़ा (24), बेटी 7 माह की तुषारिका व सास नरेश कुमारी भोला के साथ लुधियाना अपनी रिश्तेदारी में होली मनाने गए थे। इसके बाद सभी घूमने के लिए अमृतसर गए। मंगलवार अलसुबह सभी कार में सवार होकर अमृतसर से दिल्ली की तरफ घर वापस आ रहे थे कि यह दर्दनाक हादसा हो गया।

पुलिस ने शवों को टुकड़ों के रूप में एकत्रित किया और मेडिकल कालेज के मार्चरी हाउस में रखा। तरावड़ी थाना प्रभारी जनकराज ने बताया कि शवों को निकालने के लिए क्रेन की मदद लेनी पड़ी। उसके बाद क्रेन की मदद से ही जली हुई कार और क्षतिग्रस्त ट्रक को जीटी रोड से हटवाया गया। पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिए गए हैं। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

मृतक के पिता भूपसिंह ने बताया कि उनके इकलौते बेटे संचित की डेढ़ साल पहले ही शादी दिल्ली में भावना के साथ की थी। बेटी के जन्म पर खुशियां मनाई और वह भी कार में जल गई। संचित से बड़ी इसकी बहन है, जो विवाहिता है। संचित दिल्ली में एक आटो मोबाइल कंपनी शोरूम में कार्यरत था। होली की छुट्टियों में वह अपनी पत्नी, नन्हीं बेटी व सास को लेकर अमृतसर स्वर्ण मंदिर के साथ कुल्लू मनाली के टूर पर था। मंगलवार को ड्यूटी पर जाना था, इसलिए वह रात को ही चल पड़े।

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *