Connect with us

रिश्ते

गर्लफ्रेंड का कत्ल कर दिल्ली से लखनऊ स्कूटी से भागा प्रेमी, दूसरी प्रेमिका ने करवाया अरेस्ट

Published

on

Spread the love

गर्लफ्रेंड का कत्ल कर दिल्ली से लखनऊ स्कूटी से भागा प्रेमी, दूसरी प्रेमिका ने करवाया अरेस्ट

दिल्ली में छावला इलाके के गोयला डेयरी में एक किराए का मकान में रह रहे प्रेमी के पास जब उसकी गर्लफ्रेंड आती है तो उसके पास कहीं से बार-बार फोन आ रहा था. प्रेमी को शक हुआ तो उसने गर्लफ्रेंड का कत्ल कर शव को बेड में छिपा दिया और फिर अपनी दूसरी गर्लफ्रेंड के पास असम भाग गया जहां से उसे पुलिस ने प्लानिंग बनाकर पकड़ा.

Representative image

23 सितंबर को शादीशुदा प्रेमी सतीश और प्रेमिका दिशु कुमारी हमेशा की तरह मिलते है लेकिन वो दिन प्यार के कत्ल का गवाह बन गया. दिशु कुमारी का फोन उस दिन हर पांच मिनट में बज रहा था. शक का बीज सतीश के मन को पहले से ही जलाए बैठा था इस बात को लेकर झगड़ा बढ़ गया. फिर सतीश के हाथों दिशु कुमारी का मर्डर हो गया. सतीश ने गुस्से की तपिश में ऐसा गला दबाया कि प्रेमिका की सांसें उखड़ गई. सतीश समझ गया कि उसके हाथ से मर्डर हो चुका है. फिर उसने कंबल में शव को लपेटा और बेड के अंदर दबा दिया. उसके बाद वह स्कूटी से फरार हो गया.

Representative image

मर्डर का राज 25 सितंबर को खुला जब बंद कमरे से बदबू आने लगी. मौके पर पुलिस आई तो सब हक्के-बक्के रह गए. बेड के अंदर लड़की का शव पड़ा था. पुलिस ने जब मामले की कड़ियां जोड़ी तो राज खुला कि शादीशुदा आशिक सतीश ने अपनी प्रेमिका का अंत कर दिया जो गुरुग्राम के कॉल सेंटर में साथ जॉब करते हुए मिली थी.

Representative image

मर्डर करके सतीश 23 सितंबर को ही दिल्ली से लखनऊ तक स्कूटी की सवारी करते हुए भाग चुका था. फिर बस पकड़ कर असम पहुंच गया. वहां उसकी पुरानी गर्लफ्रेंड रहती थी.

Representative image

पुलिस ने अपने खुफिया तंत्र को इस्तेमाल करते हुए CCTV खंगाले ओर टेक्निकल सर्विलांस से आरोपी सतीश के प्यार, गुस्से, नाराजगी और फिर मर्डर की गुत्थी को समझ लिया लेकिन आरोपी तो पुलिस से दूर निकल चुका था.

Representative image

दिल्ली की स्मार्ट पुलिस ने सतीश की असम वाली गर्लफ्रेंड भी खोज निकाली. हवाई जहाज से पुलिस टीम पीछा करते हुए बगैर समय गंवाए आरोपी के नजदीक पहुंच गई.

Representative image

सतीश भी पुलिस से बचने के लिए फूंक-फूंक कर कदम रख रहा था और पुलिस आरोपी से दो कदम आगे थी. पुलिस ने सतीश की असम वाली गर्लफ्रेंड को कॉन्फिडेंस में लिया. जैसे ही सतीश अपनी गर्लफ्रेंड से मिलने पहुंचा, पुलिस ने उसे दबोच लिया. असम वाली गर्लफ्रेंड ने बाथरूम में जाकर कॉल किया कि आरोपी सतीश आ चुका है. तब तक शातिर दिमाग का आरोपी कानून के रडार पर चढ़ चुका था. अगर पुलिस थोड़ी सी भी लेट हो जाती तो आरोपी ने असम के डिब्रूगढ़ से मेघालय निकलने की पूरी तैयारी कर ली थी और बाकायदा टैक्सी तक बुक हो चुकी थी.

Source : Aaj Tak

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *