Connect with us

City

पानीपत में 1 घंटे की आंधी-बारिश से 34 घंटे बिजली ठप

Published

on

Advertisement

पिछले तीन दिन से गर्म हवाओं से जूझ रह शहर को वीरवार रात को तूफान और बारिश से गर्मी से तो राहत मिल गई, लेकिन 34 घंटे तक बिजली ठप हो गई। बिजली आपूर्ति सुचारू नहीं होने से पेयजल की आपूर्ति भी बाधित रही। जिले में औसतन छह एमएम बारिश दर्ज की गई। जगह-जगह पानी भर गया। तेज आंधी चलने से शहर में अनेक हार्डिंग सड़कों पर गिर गए। गनीमत यह रही आंधी व बारिश देर रात को आई। यदि दिन में आता तो अधिक नुकसान होता।

तूफान के कारण कई स्थानों पर पेड़ टूटकर बिजली की लाइनों पर गिर गए। इससे शहरी क्षेत्र में 25 खंबे टूटे। सबसे अधिक माडल टाउन क्षेत्र में 18 खंबे टूटे। सनौली रोड सब-डिविजन में सात खंबे टूटे। माडल टाउन तथा सनौली रोड पर दो ट्रांसफार्मर खराब हो गए। सिटी डिविजन में 15 घंटे बाद दोपहर तीन बजे के आसपास बिजली आपूर्ति बहाल हुई। डैमैज ट्रांसफार्मरों के स्थान पर ट्राली ट्रांसफार्मर रखवाकर बिजली आपूर्ति बहाल हुआ। सभी खंबे नहीं बदले जा सके। सब अर्बन डिविजन में 20 खंबे टूटे

Advertisement

Rajasthan News: Rajasthan mei tauktae toofan : आज तूफान के कमजोर के बाद भी  कई जिलों में रहेगा बारिश का असर , जाने डिटेल्स - Navbharat Times

सब अर्बन डिविजन मतलौडा, इसराना, सब अर्बन सब-डिविजन में 20 खंबे टूटे। 33 केवी सभी फीडर ब्रेक डाउन हुए। खंबे बदलने का काम चला। दोपहर बाद तक बिजली आपूर्ति चालू हुई। कुछ फीडर ब्रेक डाउन रहे। एक्सईएन सब-अर्बन रणवीर देशवाल ने बताया कि तीन चार बार तूफान आ चुका है। 60 मिनट के तूफान बारिश ने बिजली आपूर्ति ठप कर दी जो 48 घंटे सुचारू होगी। ज्यादातर फीडर देर शाम तक चालू कर दिए गए। समालखा, छाजपुर, बापौली में 40 से अधिक बिजली के खंबे देर रात तूफान के कारण टूट गए। 33 केवी के 52 फीडर

Advertisement

जिला पानीपत में 33 केवी के 52 फीडर हैं। सभी फीडर ठप हो गए। देर शाम तक इन फीडरों की आपूर्ति बहाल की गई। सात फीडरों की आपूर्ति बहाल नहीं हो पाई। जहां-जहां खंबे नहीं बदले जा सके, वहां अन्य फीडरों से आपूर्ति दी गई। 30 घंटे बाद भी 33 केवी बाबरपुर, नारायणा से ढोढपुर, सिबल गढ़ डीएस, 33 पलहेडी मांडी, 33 केवी बुड़शाम, थिराना डीएस, धर्मगढ़ की बिजली आपूर्ति देर शाम तक बहाल नहीं हो पाई।

hurricane storm waved in panipat and shattered pillers

Advertisement

बिजली आपूर्ति न होने के कारण बिजली निगम को करोड़ों का नुकसान उठाना पड़ा। खंबे टूटने, ट्रांसफार्मर डैमेज होने के कारण 15 से 20 घंटे तक बिजली आपूर्ति ज्यादातर फीडरों पर बंद रही। दो करोड़ यूनिट बिजली की सप्लाई नहीं हुई। 12 करोड़ का नुकसान बिजली निगम को सीधे उठाना पड़ा 15 घंटे बाद बिजली आपूर्ति बहाल

सिटी डिविजन के एक्सईएन संजीव ने बताया कि ज्यादातर फीडरों की बिजली आपूर्ति दोपहर ढाई बजे तक बहाल हो गई। जहां खंबे नहीं बदले जा सके, अन्य फीडरों से आपूर्ति दी गई। खराब ट्रांसफार्मर की जगह ट्राली ट्रांसफार्मर रख दिए गए। आंधी बारिश से तापमान में गिरावट, गर्मी से मिली राहत

weather forcast panipat news

गर्मी से देर रात लोगों को राहत मिल गई। 11 बजे के आसपास तेज हवा चलनी शुरू हुई। आंधी के साथ ही बारिश शुरू हो गई। सबसे अधिक बारिश मतलौडा, इसराना ब्लाक में हुई। बारिश के कारण न्यूनतम तापमान में गिरावट रही। तापमान 29 डिग्री से नीचे चला गया। मौसम विभाग के अनुसार सप्ताह भर रुक-रुक बारिश हो सकती है। अधिकतम तापमान 39 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के मुताबिक वायु गुणवत्ता सूचकांक गुरुवार को 200 अंक से अधिक रहा, जो अत्यधिक खराब श्रेणी में आता है। ब्लाक वाइज बारिश की स्थिति

पानीपत : 2 एमएम

समालखा : 2 एमएम

इसराना : 7 एमएम

मतलौडा :15 एमएम

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *