Connect with us

पानीपत

1 मिनट में 15 से 20 ट्रैक्टर वापस लाैट रहे पंजाब, किसान बाेले- अराजक तत्वों ने की है बदनाम करने की काेशिश

Published

on

Advertisement

1 मिनट में 15 से 20 ट्रैक्टर वापस लाैट रहे पंजाब, किसान बाेले- अराजक तत्वों ने की है बदनाम करने की काेशिश

 

 

Advertisement

गणतंत्र दिवस पर दिल्ली में आयाेजित ट्रैक्टर रैली में शामिल हाेने गए पंजाब और हरियाणा के किसानाें का अब वापस आना शुरू हाे गया है। पानीपत टाेल पर बुधवार काे हर एक मिनट में करीब 15 से 20 ट्रैक्टर पंजाब की और जाते हुए दिखाई दिए। वहीं, टाेल पर भारतीय किसान यूनियन का धरना अभी जारी है। दिल्ली से लाैट रहे किसान बाेले कि उन्हें बदनाम करने के लिए दिल्ली में अराजक तत्वाें ने हिंसा काे अंजाम दिया है। उनका इस हिंसा से काेई लेना-देना नहीं है।

पानीपत. किसान आंदाेलन के तहत दिल्ली से ट्रैक्टर परेड करके वापस पंजाब जाते किसान। - Dainik Bhaskar

Advertisement

उधर, प्रदेश सरकार के आदेश के बाद भी बुधवार देर रात तक पानीपत टाेल प्लाजा शुरू नहीं हाे सका। टाेल प्रबंधन का दावा है कि प्रयास रहेगा कि वह गुरुवार से टाेल प्लाजा पर टैक्स शुरू कर देंगे। किसान संगठनाें के ऐलान के बाद ही 23 जनवरी से पंजाब के किसानाें का ट्रैक्टर-ट्राॅली लेकर दिल्ली की ओर कूच करना शुरू हाे गया था।

26 जनवरी तक किसानाें के काफिले के काफिले पहुंच रहे थे। 26 दिसंबर की देर शाम से किसानाें का वापस पंजाब और हरियाणा की ओर आना शुरू हाे गया। प्रत्यक्षदर्शियाें के मुताबिक टाेल प्लाजा पर इतने ट्रैक्टर थे कि सड़क तक नहीं दिख रही थी। दाेपहर हाेते हाेते भीड़ कम हाेती चली गई। दाेपहर एक बजे हालात ये थे कि हर एक मिनट में करीब 15 से 20 ट्रैक्टर टाेल से गुजर रहे थे।

Advertisement

टाेल पर भारतीय किसान यूनियन का धरना जारी है। उधर, पिछले एक महीने से किसानाें की सेवा के लिए लंगर सेवा भी जारी है। बुधवार काे भी दिल्ली से लाैट रहे किसान लंगर चखने के बाद ही पंजाब के लिए रवाना हाे रहे थे। किसान नेताओं ने 25 दिसंबर काे टाेल प्लाजाओं काे फ्री करा दिया था। सेक्टर-18 स्थित टाेल प्लाजा के मैनेजन याेगेश शुक्ला ने बताया कि टाेल प्लाजा काे प्रतिदिन 8 से 10 लाख रुपए का नुकसान हाे रहा है।

Advertisement

Continue Reading
Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *