Connect with us

City

अगले चार दिन तक हरियाणा के इन जिलों में बारिश

Published

on

Advertisement

अगले चार दिन तक हरियाणा के इन जिलों में बारिश, दक्षिण-पश्चिम मानसून से बड़ी हलचल

दक्षिण-पश्चिम मानसून के कारण सोमवार को भी हरियाणा के कई जिलों में बारिश हुई। दक्षिण पश्चिम मानसून की वजह से अच्‍छी बारिश हो रही है। अभी तक सामान्‍य से 15 फीसद अधिक बारिश हुई है। अभी चार दिन और बारिश होने की उम्‍मीद जताई जा रही है। मौसम विज्ञानियों की मानें तो हरियाणा के कई जिलों में बारिश होगी।

मौसम विज्ञानियों ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में बने एक कम दबाव के क्षेत्र व राजस्थान के ऊपर एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन तथा मानसून टर्फ दक्षिण की ओर होने की स्थिति बन रही है। जिससे राज्य में मौसम 14 सितंबर तक आमतौर पर परिवर्तनशील रहने, बीच- बीच में बादलवाई और कहीं -कहीं हल्की बारिश होने की संभावना है। रविवार को अंबाला में 61एमएम बारिश दर्ज की गई। वहीं कुरुक्षेत्र में दो मकानों की छत गिर गई। बंगाल की खाड़ी में बने एक कम दबाव के क्षेत्र व साथ में साइक्लोनिक सर्कुलेशन बनने व टर्फ रेखा दक्षिण में आने से मानसूनी हवा की थोड़ी सक्रियता बढ़ी। जिससे हरियाणा में तीन- चार दिनों में कहीं-कहीं हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई।

Advertisement
हरियाणा में अभी चार दिन मानसून की बारिश होगी।

भारत मौसम विज्ञान विभाग के मौसम आंकड़ों के अनुसार हरियाणा राज्य में एक जून से 10 सितंबर तक 468.6, मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई है। जो सामान्य बारिश (407.3 मिलीमीटर) से 15 फीसद अधिक है।

राज्य के छह जिलों अंबाला, पंचकूला, यमुनानगर, भिवानी, रोहतक व फरीदाबाद को छोड़कर राज्य के अन्य सभी जिलों में सामान्य से ज्यादा बारिश दर्ज की गई है।

Advertisement

कहां कितनी बारिश हुई

अंबाला- 61 एमएम

Advertisement

यमुनानगर-4 एमएम

कुरुक्षेत्र-7एमएम

करनाल-14.4 एमएम

फतेहाबाद-8एमएम

दादरी-8एमएम

भिवानी-9एमएम

बहादुरगढ़-4एमएम

रोहतक-10एमएम

कुरुक्षेत्र में दो मकानों की गिरी छत

धर्मनगरी में लगातार तीसरे दिन रविवार को भी बूंदाबांदी हुई। पिछले 24 घंटे में जिला भर में औसत सात एमएम के करीब बारिश हुई है। वहीं इस्माईलाबाद के गांव चनालहेड़ी में बारिश में दो मकानों की छतें गिरीं। परिवार बाल-बाल बच गए। चनालहेड़ी गांव में जगना राम और चरणा राम के मकानों की छतें अचानक गिर गईं। संयोगवश से परिवार के लोग बाहर खड़े थे। घर का सामान क्षतिग्रस्त हो गया।

Advertisement