Connect with us

City

डिफॉल्टरों काे रिकवरी नाेटिस दिए जाएंगे

Published

on

Advertisement

नगर निगम में एनडीसी की 1000 फाइलें पेंडिंग, 15 दिन में नहीं निपटाई ताे नपेंगे संंबंधित अफसर, प्राॅपर्टी टैक्स जमा न कराने वाले 7 डिफॉल्टरों की हर सप्ताह सूची तैयार कर भेजने हाेंगे नाेटिस

 

नगर निगम में इस समय एनडीसी की करीब 1000 फाइलें पेंडिंग हैं। इन्हें 15 दिनाें में नहीं निपटाया ताे संबंधित अधिकारियाें व कर्मचारियाें के ऊपर विभागीय कार्रवाई हाेगी।

Advertisement

इसके अलावा जिन शहरवासियों ने प्राॅपर्टी टैक्स जमा नहीं करवाया है, उनकी भी सूची तैयार करके हर सप्ताह 7 डिफॉल्टरों काे रिकवरी नाेटिस दिए जाएंगे। यह आदेश कमिश्नर आरके सिंह ने मंगलवार काे पालिका बाजार स्थित नगर निगम कार्यालय का दाैरा करके दिए। उन्हाेंने इस संबंधित में लिखित नाेटिस भी जारी किया है। कमिश्नर ने चेताया है कि कार्यालय में एनडीसी व गलत प्राॅपर्टी टैक्स से संबंधित जितनी भी फाइल जमा हाेंगी, उन्हें 15 दिनाें में निपटाना हाेगा। अक्सर लाेगाें के कामाें काे लटकाया जा रहा है।

Advertisement

अधिनियम में 20 हजार रुपए जुर्माने का है प्रावधान

कमिश्नर ने कहा कि एनडीसी व प्राॅपर्टी टैक्स से संबंधित जाे फाइलें कार्यालय में जमा हाे रही हैं, उनसे संबंधित काम सेवा का अधिकार अधिनियम-2014 के तहत 15 दिनाें में निपटाने का नियम है। जाे अधिकारी या कर्मचारी ऐसा नहीं करता, उसके ऊपर 20 हजार रुपए जुर्माना का प्रावधान है। इसके तहत एक अधिकारी या कर्मचारी काे 3 बार जुर्माना लगा ताे उसकी नाैकरी भी जा सकती है। इसके तहत अब हर 3 माह सभी कर्मचारियाें के कार्याे की समीक्षा मीटिंग हाेगी।

Advertisement

जो काम लटकाएगा, ऑन रिकाॅर्ड देेगा स्पष्टीकरण

कमिशनर ने बताया कि जाे कर्मचारी अपने काम काे लटकाएगा, उसे ऑन रिकाॅर्ड स्पष्टीकरण देना हाेगा। एनडीसी के पोर्टल पर 1000 हजार से ज्यादा आपत्तियां पेंडिंग हैं। वार्ड लिपिकों के पास कई-कई माह से काम लंबित हैं।

राेजाना करीब दो घंटे प्राॅपर्टी टैक्स ब्रांच में रहेंगे

अब राेजाना करीब 2 घंटे तक प्राॅपर्टी टैक्स ब्रांच कार्यालय में रहकर काम काे संभालना है। यहां नियुक्त हर अधिकारी व कर्मचारी के कामकाज की प्राेग्रेस रिपाेर्ट अपडेट रखनी है। समय पर काम पूरा करने के लिए प्रयास किए जाएंगे। सभी इस संबंध मेें सहयाेग मांगा गया है।-आरके सिंह, कमिश्नर, नगर निगम।

Advertisement