Connect with us

विशेष

ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर: अमीर और प्रभावशाली लोग कर रहे पैनिक बाइंग, एक साथ 50 यूनिट तक का दे रहे ऑर्डर

Published

on

Advertisement

ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर: अमीर और प्रभावशाली लोग कर रहे पैनिक बाइंग, एक साथ 50 यूनिट तक का दे रहे ऑर्डर

 

(Oxygen Concentrators) की आपूर्ति धीरे-धीरे बढ़ रही है। लेकिन कुछ लोगों द्वारा कई यूनिट्स की खरीद के चलते रिटेलर्स और ऑनलाइन सेलर्स को आपूर्ति में दिक्कत पैदा हो रही है। नेता, बड़े अधिकारी, इंडस्ट्रियलिस्ट, अमीर लोग, उच्च पुलिस अधिकारी और ऐसे ही दूसरी प्रभावशाली लोग, प्रति व्यक्ति के लिए मैक्सिमम 5 या 6 ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर खरीदे ले रहे हैं। इस वजह से ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर्स की आपूर्ति में रुकावट आ रही है।ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर पोर्टेबल मशीनें (Portable Machines) होती हैं, जिनकी मदद से मरीजों के लिए घर पर हवा से ऑक्सिजन जनरेट की जा सकती है।

Advertisement

ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर हवा से नाइट्रोजन को अलग करता है और ऑक्सिजन की अधिकता वाली गैस को बाहर निकालता है, जिसका इस्तेमाल ऑक्सिजन की जरूरत वाले मरीज कर सकते हैं। इंडस्ट्री एग्जीक्यूटिव्स का कहना है कि मल्टीपल यूनिट्स के इन ऑर्डर्स में से कई ऑर्डर पैनिक बाइंग का परिणाम हैं। संपन्न और प्रभावशाली लोग अपने दोस्तों और रिश्तेदारों के लिए ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर खरीद कर रख रहे हैं।

सबसे ज्यादा पैनिक बाइंग दिल्ली में
इकनॉमिक टाइम्स ने दिग्गज कंपनियों के 6 टॉप एग्जीक्यूटिव्स और आयातकों से बात की। उन्होंने कहा कि कई लोग ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर की मल्टीपल यूनिट्स की खरीद के लिए रिक्वेस्ट भेज रहे हैं। मल्टीपल यूनिट्स की खरीद की सबसे ज्यादा रिक्वेस्ट नई दिल्ली से आई हैं। बाकी मुंबई, बेंगलुरु और कुछ अन्य शहरों से हैं। पुलिस और सरकार के उच्च अधिकारियों के अलावा इंपोर्ट क्लियर करने वाले कस्टम अधिकारी भी ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर्स की मल्टीपल यूनिट्स की मांग कर रहे हैं।

Advertisement

एक कंपनी के सीनियर एग्जीक्यूटिव के मुताबिक, एक नेता के कार्यालय से ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर की 10 यूनिट के लिए फोन आया और तुरंत डिलीवरी न होने पर नतीजा भुगतने की धमकी भी दी गई। एक अन्य एग्जीक्यूटिव का कहना है कि एक प्रभावशाली इंडस्ट्रियलिस्ट ने 50 ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर मंगाए हैं और इन्हें अपने घर, अपने दोस्तों व रिश्तेदारों के घर पर डिलीवर करने के लिए कहा है।

 
कई खरीदार ऐसे जिन्हें नहीं है जरूरत

Advertisement
Oxy

बीपीएल मेडिकल टेक्नोलॉजीज के सीईओ सुनील खुराना कहते हैं कि उन्हें डिस्ट्रीब्यूटर्स और डीलर्स से पता चला है कि कुछ लोग कई ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर ऑर्डर कर रहे हैं। उनका कहना है कि हमें डर है कि इनमें से कई खरीदार ऐसे हैं जिन्हें इसकी जरूरत नहीं है। ऐसे लोगों द्वारा खरीद किए जाने की वजह से जरूरतमंद तक ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर नहीं पहुंच पा रहे हैं। हम उम्मीद करते हैं कि जो लोग ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर की मल्टीपल यूनिट्स खरीद रहे हैं, उनमें से कुछ लोग इन्हें जरूरतमंद को देंगे।

इंटेक्स के निदेशक केशव बंसल के मुताबिक, मुश्किल वक्त चल रहा है। लोग बेहद ज्यादा डरे हुए हैं। उन्हें चिंता है कि अगर जरूरत के वक्त ऑक्सिजन नहीं मिली तो क्या होगा? जो लोग ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर खरीद सकते हैं, वे पहले से ही इसे खरीदे ले रहे हैं। बंसल ने आगे कहा कि घर पर ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर की मल्टीपल यूनिट इकट्ठा करना बेमानी है क्योंकि ऑक्सिजन की स्थिति जल्द ही बेहतर होने की संभावना है। सरकार इस दिशा में पूरी ताकत से काम कर रही है।

कितनी मांग और कितनी सप्लाई
इंडस्ट्री के अनुमान के मुताबिक, इस वक्त ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर की मांग 3000-3500 यूनिट प्रतिदिन की है। वहीं कंपनियों द्वारा सप्लाई 400-600 यूनिट प्रतिदिन है। इनमें से भी एक बड़ा हिस्सा प्रभावशाली लोग खरीद ले रहे हैं। आयात होने वाले और दूसरे देशों व कंपनियों द्वारा दान किए जाने वाले ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर्स हॉस्पिटल और पब्लिक हेल्थ सिस्टम के लिए जा रहे हैं, इनकी बिक्री नहीं हो रही है। कंपनियों को उम्मीद है कि अगले 4-5 दिनों में चीन से ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर्स की सप्लाई सुधरेगी। ऑक्सिजन कंसन्ट्रेटर्स की खुदरा कीमत 40,000 रुपये से लेकर 60,000 रुपये या इससे ज्यादा भी है।

 

SOurce : Navbharat

Advertisement